बने चाहे दुश्मन जमाना हमारा, सलामत रहे दोस्ताना हमारा...

https://www.patrika.com/sri-ganganagar-news/

‘द रफियन्स’ के सम्मान में कार्यक्रम
श्रीगंगानगर. चाहे दुश्मन जमाना हमारा, सलामत रहे दोस्ताना हमारा..., दीवाना मुझसा नहीं, इस अम्बर के नीचे, आसमां से आया फरिश्ता प्यार का सबक सिखलाने, ओ मेरी महबूबा...जैसे मोहम्मद रफी के सदाबहार नगमे रविवार को वृन्दावन वाटिका में खूब गूंजे।

मौका था गोपीराम गोयल चैरिटेबल ट्रस्ट एवं वृन्दावन विहार सोसायटी के ‘द रफियन्स’ के सम्मान में रखे गए कार्यक्रम ‘दीवाना मुझसा नहीं’ का। शुरू में कपिल कालड़ा ने कहा कि मोहम्मद रफी महान गायक के अलावा मानवता की प्रतिमूर्ति भी थे, जरूरतमंद की सेवा को वे सदा तत्पर रहते थे। प्रमुख समाजसेवी गोपीराम गोयल की पुण्य तिथि पर उन्हें शब्दांजलि भी दी गई।

ट्रस्ट के विजय कुमार गोयल, सतीशचंद्र गोयल, सोसायटी के अध्यक्ष ओमप्रकाश गर्ग, मोहनलाल कांडा, इन्द्र सरावगी, श्याम कांडा, प्रो.डी.पी. सिंह आदि ने गायकों एवं कलाकारों कपिल कालड़ा, सुमेश शर्मा, वासुदेव शर्मा, हिमांशु शर्मा, हर्ष जुनेजा, योगेश्वर बंसल, लविश चुघ, शिवानी चुघ, शशिकांत वर्मा, गौरव बहल, रविंद्र सिंह, भूमिका कालड़ा, तेजस चराया, राहुल गुप्ता, वत्सल गोल्याण, बहादुरसिंह सहारण का माल्यार्पण किया तथा सम्मान प्रतीक भेंट किए।

अतिथि कलाकार विनोद बिहाणी एवं विजय भोला ने भी गीत प्रस्तुत किया। दीपक काण्डा, वासुदेव सनेजा, शकुन्तला गोयल, सरला गोयल, विनीता आहूजा सहित काफी जने कार्यक्रम में मौजूद थे।

Rajaender pal nikka Photographer
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned