संगीत की महफिल में सुरों ने बांधा समां

Musical programme : संगीत की महफिल में सुरों का आनंद लेते लोग और सिनेमा जगत के ख्यातनाम नगमों को आवाज देते शहर के कलाकार। राष्ट्रीय कला मंदिर सभागार में शनिवार को हुए ‘दोस्ती की आवाज, संगीत के साथ’ कार्यक्रम में कुछ ऐसा ही माहौल था।

By: jainarayan purohit

Published: 01 Mar 2020, 01:29 PM IST

-लॉयन्स क्लब श्रीगंगानगर विकास का ‘दोस्ती की आवाज, संगीत के साथ’ कार्यक्रम

श्रीगंगानगर. संगीत की महफिल में सुरों का आनंद लेते लोग और सिनेमा जगत के ख्यातनाम नगमों को आवाज देते शहर के कलाकार। राष्ट्रीय कला मंदिर सभागार में शनिवार को हुए ‘दोस्ती की आवाज, संगीत के साथ’ कार्यक्रम में कुछ ऐसा ही माहौल था। लॉयन्स क्लब श्रीगंगागनर ‘विकास’ के इस कार्यक्रम में कलाकार जैसे-जैसे गीतों को सुर देते गए श्रोताओं का उत्साह और अधिक बढ़ता गया। किसी ने फिजां में रूमानियत का रंग भर दिया तो कोई श्रोताओं को संगीत के सुरों पर झूमने को मजबूर करता नजर आया। कार्यक्रम में कलाकारों ने एक से बढकऱ एक प्रस्तुतियां दी।

शहर के ख्यातनाम कलाकारों जौहरी आर्या, पुष्पा, आकाश, राजेश रियाज और मनोज आर्य ने कई खूबसूरत गीतों को आवाज दी। उन्होंने ‘ओ माझी रे’, ‘लग जा गले कि फिर’, ‘दूरी न रहे कोई’, ‘क्या यही प्यार है’ सहित कई गीत प्रस्तुत किए। कार्यक्रम में अतिथि के रूप में नगर परिषद सभापति करुण चांडक, पूर्व सभापति जगदीश जांदू, बृजेश शर्मा, पवन वधवा और जगीर फरमा मौजूद थे।

खड़े होकर बढ़ाया उत्साह
कार्यक्रम के दौरान मिर्जेवाला के राजकीय विद्यालय की छात्रा जरीना खान की प्रस्तुति बेहद सराहनीय रही। जरीना ने जब ‘लंबी जुदाई’ गीत के सुर छेड़े तो गायिका रेशमा ही गाती नजर आई। प्रस्तुति के दौरान लोगों ने तालियों से उसका साथ दिया तथा अंत में अपने स्थान पर खड़े होकर उसका उत्साह बढ़ाया ।

jainarayan purohit
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned