नेतेवाला में 20 बीघा जमीन पर बनेगा हमारा मेडिकल कॉलेज, डेढ़ महीने में शुरू होगा कार्य

20 बीघा जमीन को मेडिकल कॉलेज के लिए अलॉट

By: Raj Singh

Updated: 30 Nov 2020, 11:48 PM IST

श्रीगंगानगर. कलक्ट्रेट में सोमवार को हुई संभागीय आयुक्त की बैठक में जिला कलक्टर महावीर प्रसाद वर्मा ने उनको जानकारी दी कि अब मेडिकल कॉलेज नेतेवाला में नगरपरिषद को आवंटित की गई 20 बीघा जमीन पर बनेगा। जिसका निर्माण कार्य करीब डेढ़ महीने में शुरू कराए जाने की उम्मीद है।


बैठक में कलक्टर ने बताया कि जिले में मेडिकल कॉलेज का कार्य डेढ़ महीने में शुरू कर दिया जाएगा। सरकार की मंशा के अनुसार इस मेडिकल कॉलेज में भविष्य में एक्सपेंशन को देखते हुए एक पीस ऑफ लैण्ड चिन्हित करने को कहा गया था, जिसको देखते हुए नेतेवाला में 20 बीघा जमीन को मेडिकल कॉलेज के लिए अलॉट करने के आदेश कर दिए हैं, इस भूमि को पहले नगरपरिषद को दिया गया था। नगरपरिषद को भविष्य में कचरा प्लांट बनाने के लिए अलग से जमीन आवंटित की जाएगी।


बैठक में संभागीय आयुक्त बीएल मेहरा ने कहा कि मनुष्य का जीवन बचाना सबसे बड़ा पुण्य है, इस पर कोई आंच नहीं आनी चाहिए। कोविड-19, मौसमी बीमारियों व नगरपालिका चुनाव की तैयारियों संबंधित बैठक ली। संभागीय आयुक्त ने कहा कि कलक्टर की ओर से रात का कफ्र्यू लगाए जाने के आदेशों का पूर्णतया पालन की जाए।

सरकार कोविड-19 को लेकर अति गंभीर है तथा सभी अधिकारियों से यह अपेक्षा की जा रही है कि वे एकजुट रहकर गंभीरता से इस स्थिति का सामना करें व गंगानगर जिले में बढ़ते कोरोना मामलों में लगाम लगाए। उन्होंने सीएमएचओ से चिकित्सा सुविधाओं पर चर्चा की व ऑक्सीजन बेड, ऑक्सीजन सिलेण्डर, जीवनरक्षक दवाईयां, रेमेडिसीवीर, टुसेलाजुमेब के संबंध में जानकारी ली।

इन दोनों जीवनरक्षक दवाईयों का पूर्ण स्टॉक रखा जाए ताकि जिले में किसी भी मरीज के गंभीर स्थिति में आने पर इनका तुरन्त उपयोग किया जा सके व मानव जीवन को बचाया जा सके। डेली रिपोर्ट कलक्टर को भेजें व आंकड़ों में सच्चाई व पारदर्शिता अपेक्षित है। डेली सेम्पलिंग बढ़ाई जाए ताकि कोरोना के बढ़ते मामलों को समय पर रोका जा सके।

उन्होंने सीएमएचओ को निर्देशित किया कि वे प्रतिदिन योजना अनुसार सभी पीएचसी, सीएचसी व पूरे जिले से सेम्पल कलेक्शन करें व इसकी रिपोर्ट जिला प्रशासन को दे। प्राइवेट अस्पतालों की तर्ज पर सरकारी अस्पतालों में भी टेलीफोनिक कनसल्टेशन की सुविधा शुरू करनी चाहिए ताकि फिजीकल कॉन्टेक्ट में आए बिना आम बीमारियों का इलाज डॉक्टर से फोन पर ही किया जा सके।

सडक़ों पर कोई भी बिना मास्क के नजर नहीं आना चाहिए व गांवों में भी मास्क बंटवाए जाए। कलक्टर ने आयुक्त को बताया कि अब तक जिले में 41 लाख 13 हजार 544 रुपए का जुर्माना वसूल किया गया है। सीएमएचओ ने बताया कि जिले में मौसमी बीमारियां नियंत्रण में है। डेंगू के सिर्फ 43 व चिकनगुनिया के 2 केसेज आए है।

Raj Singh Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned