scriptPanchayati Day: The home of dreams landed on the ground | पंचायती दिवस: धरातल पर उतारा सपनों का आशियाना | Patrika News

पंचायती दिवस: धरातल पर उतारा सपनों का आशियाना

-अनूपगढ़ क्षेत्र गांव 18 पी में पीएम आवास योजना के तहत बनाई कॉलोनी

 

श्री गंगानगर

Updated: April 24, 2022 11:01:12 am

राष्ट्रीय पंचायती दिवस पर विशेष: इच्छाशक्ति को तो जंगल को भी मंगल किया जा सकता हैं। भारत-पाक अन्तराष्ट्रीय सीमा से सटे अनूपगढ़ क्षेत्र के गांव 18 पी में भी ऐसा ही सपना साकार हो पाया हैं। बॉर्डर से महज करीब 5 किमी से सटे इस गांव में कई भूमिहीन और जरूरतमंदों के पास खुद का घर नहीं था। कोई झोपड़ी में तो कोई धर्मशाला में रहने को मजबूर था। गांव में ही रकबा राज से आबादी क्षेत्र के लिए मिली करीब साढ़े बारह बीघा के रेत के टीले को हटाने की चुनौती बनी।

,

वहां नई कॉलोनी बसाने के लिए प्रयास शुरू किए। यह मेहनत रंग लाई। भूमि समतल हुई तो वहां नई कॉलोनी की राह खुली। पात्र लोगों की लॉटरी निकालकर 114 भूखंड निशुल्क दिए गए। इसके बाद प्रधानमंत्री आवास योजना में मकान बनाने का सिलसिला शुरू किया गया। अब तक करीब अस्सी मकान बन चुके हैं। इसके अलावा इस कॉलोनी एरिया में मेट्रो सिटी की कॉलोनियों की तर्ज पर दो आलिशान पार्क,एक धर्मशाला, चौड़ी सडक़े, हरे पेड़, सौन्दर्यीकरण के लिए डिजाइनदार गुमटियां, बस स्टैण्ड के लिए स्टॉपेज आदि विकास कार्य खुद हकीकत बयां करते हैं। इस कॉलोनी को बाबा बालकनाथ कॉलोनी का नाम दिया गया हैं।

जिले के दौरे पर आए ग्रामीण एवं पंचायतराज विभाग के तत्कालीन निदेशक राजेश्वर सिंह आए थे। तब जिला परिषद सहित कई विभागों के अधिकारियों ने तत्कालीन निदेशक को इस गांव की एकाएक बदली दशा और दिशा के बारे में फीडबैक दिया। यह सुनकर निदेशक ने गांव का निरीक्षण करने मन बना लिया। लेकिन इस गांव में पहुंचे तो करीब ढाई घंटे से अधिक का समय बिताया। इस दौरान ग्रामीणों से पूरी दास्तां सुनी।

तत्कालीन ग्राम विकास अधिकारी सुरेन्द्र कुमार रोनालिया बताते हैं कि जिला प्रशासन ने इस ग्राम पंचायत को साढ़े बारह बीघा भूमि दी थी। इस बिरानी भूमि पर रेत के टीले थे। मिट्टी से समतल कराया। इसके लिए काफी अड़चनों का सामना करना पड़ा लेकिन अपने जीवन में इस उत्कृष्ट कार्य से सुकून मिला हैं। इस कॉलोनी में पहला भूखंड पात्रता रखने वाले मंदबुद्धि और जरुरतमंद एक दंपती को दिया गया, यह परिवार पहले गांव की एक धर्मशाला में रहने को मजबूर था। इस सचिव के मुताबिक उसके जीवन में यह सपनों का प्रोजेक्ट साकार हुआ है। सचमुच जरूरतमंद परिवारों के लिए पूरे जिले में यह अनूठा प्रयास रहा हैं।

यहां तीस साल बाद बनाई स्कूल की चारदीवारी

SriGanganagar सूरतगढ़ पंचायत समिति क्षेत्र ग्राम पंचायत मालेर के गांव श्योनाथपुरा के राजकीय उच्च प्राथमिक स्कूल वर्ष 1992 में स्थापित किया गया था। लेकिन इस स्कूल की चारदीवारी नहीं बनाई। इस कारण स्कूल के अंदर आवारा पशुओं का जमावड़ा रहता। स्कूल परिसर में लगे पौधे आवारा पशु नष्ट कर देते थे। यहां तक पशुओं के गोबर करने से स्कूल कैम्पस को साफ कराने के लिए शिक्षकों को आए दिन बच्चों के साथ मिलकर साफ करवाना पड़ता।

इस संबंध में ग्रामीणों और स्कूल प्रबंधन समिति ने कई बार शिक्षा विभाग, पंचायत समिति और जिला परिषद को अवगत कराया लेकिन कोई सुनवाई नहीं। आखिर तीस साल बाद पंचायत समिति के प्रधान हजारीराम मील और मालेर सरपंच ने इसकी सुध लेने की ठानी। प्रधान के कोटे से दस लाख रुपए और मालेर सरपंच के कोटे से पांच लाख रुपए कुल पन्द्रह लाख रुपए के बजट से इस स्कूल की चारदीवारी का मार्ग प्रशस्त हुआ। मुख्य प्रवेश द्धार बनकर तैयार हो चुका है। इसका बकायदा लोकार्पण भी किया गया हैं।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

जयपुर में एक स्वीमिंग पूल में रात का सीसीटीवी आया सामने, पुलिसवालें भी दंग रह गएकचौरी में छिपकली निकलने का मामला, कहानी में आया नया ट्विस्टइन 4 राशियों के लोग होते हैं सबसे ज्यादा बुद्धिमान, देखें क्या आपकी राशि भी है इसमें शामिलचेन्नई सेंट्रल से बनारस के बीच चली ट्रेन, इन स्टेशनों पर भी रुकेगीNumerology: इस मूलांक वालों के पास धन की नहीं होती कमी, स्वभाव से होते हैं थोड़े घमंडीबुध जल्द अपनी स्वराशि मिथुन में करेंगे प्रवेश, जानें किन राशि वालों का होगा भाग्योदयधन कमाने की योजना बनाने में माहिर होती हैं इन बर्थ डेट वाली लड़कियां, दूसरों की चमका देती हैं किस्मतCBSE ने बदला सिलेबस: छात्र अब नहीं पढ़ेगे फैज की कविता, इस्लाम और मुगल साम्राज्य सहित कई चैप्टर हटाए

बड़ी खबरें

Maharashtra Political Crisis: बीजेपी ऐसे भिखारियों का हाथ पकड़कर खुद को बता रही महाशक्ति.. ‘सामना’ के जरिए फिर शिवसेना ने कसा तंजAmit Shah on 2002 Gujarat Riots: गुजरात दंगों पर SC के फैसले के बाद बोले अमित शाह, PM मोदी को इस दर्द को झेलते हुए देखा हैकेरल में राहुल गांधी के दफ्तर पर हुए हमले के बाद बड़ी कार्रवाई, DSP निलंबित, ADGP करेंगे मामले की जांच25 जून 1983, 39 साल पहले भारत ने रचा था इतिहास, लॉर्ड्स में वर्ल्ड कप जीतकर लहराया तिरंगाकौन हैं तपन कुमार डेका, जिन्हें मिली इंटेलिजेंस ब्यूरो की कमानपाकिस्तान की खुली पोल, 26/11 मुंबई हमले का मास्टर माइंड साजिद मीर जिंदा, ISI ने मोस्ट वांटेड आतंकी को बताया था मराMumbai News Live Updates: शिवसेना के बागी विधायकों और उनके परिवारों की सुरक्षा के लिए महाराष्ट सरकार जिम्मेदार: एकनाथ शिंदेMaharashtra Political Crisis: एक्शन में शिवसेना! अयोग्य करार देने के लिए डिप्टी स्पीकर को भेजा 4 और MLA के नाम, 16 बागियों पर भी कार्रवाई की तैयारी
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.