'निजी स्कूलों को आरटीई का भुगतान करो'

यदि 31 मार्च तक आरटीई का भुगतान नहीं किया गया तो पूरी राशि लैप्स हो जाएगी।

By: pawan uppal

Updated: 13 Mar 2018, 06:58 AM IST

श्रीगंगानगर.

निजी शिक्षक संघ जिला श्रीगंगानगर और स्कूल शिक्षा परिवार ने सोमवर को संयुक्त रूप से जिला शिक्षा अधिकारी (माध्यमिक) तेजा सिंह का घेराव करते हुए सवाल किया वर्ष 2017-18 का आरटीई का भुगतान क्यों नहीं किया जा रहा? यदि 31 मार्च तक आरटीई का भुगतान नहीं किया गया तो पूरी राशि लैप्स हो जाएगी।


इस पर डीईओ ने कहा कि आरटीई भुगतान का प्रकरण एसीबी में चल रहा है और जिला कलक्टर इसकी जांच करवा रहे हैं। इसलिए शिक्षा निदेशक बीकानेर से आरटीई का भुगतान के संबंध में मार्गदर्शन मांगा है। हालांकि आरटीई का बजट आ चुका है। डीईओ ने कहा कि बोर्ड की परीक्षा चल रही है और इस माह के अंत तक बीकानेर खुद जाकर इस प्रकरण का निस्तारण करवाया जाएगा। निजी स्कूल संचालकों ने कहा कि राज्य के 33 जिलों में सिर्फ श्रीगंगानगर जिले में ही आरटीई का भुगतान नहीं हुआ।

स्कूल संचालकों ने बच्चों को पढ़ाई करवाई और जिला शिक्षा अधिकारी कार्यालय की टीम ने मौके पर जाकर भौतिक सत्यापन किया है। डीईओ का घेराव करने वालों में निजी शिक्षक संघ के जिलाध्यक्ष निहालचंद, उपाध्यक्ष पवन कटारिया और महासचिव ख्यालराम साहू, स्कूल शिक्षा परिवार के जिला प्रभारी एमएस आदि शमिल हुए।


पहले डीईओ से फिर साथियों से उलझे बिश्नोई?
डीईओ से मिलने आए स्कूल शिक्षा परिवार के प्रदेश उपाध्यक्ष पालाराम बिश्नोई ने डीईओ से कहा कि आप पैसा घर से दे रहे हो क्या? इसको लेकर डीईओ से उलझ गए। कुछ निजी स्कूल संचालकों ने कहा कि ऐसा व्यवहार सही नहीं है। डीईओ ऑफिस से बाहर निकलने पर फिर बिश्नोई और कुछ निजी स्कूल संचालक आपस में उलझ गए और एक-दूसरे पर आरोप-प्रत्यारोप लगाते हुए हंगामा किया।

स्कूलों की हालत खस्ता
निजी स्कूल संचालकों ने कहा कि आरटीई में भुगतान समय पर नहीं मिलने से स्टाफ को भुगतान तक नहीं किया रहा है और स्कूलों की आर्थिक स्थिति बिगड़ी है।


आरटीई भुगतान के लिए बजट आ चुका है पर इस संबंध में शिकायत होने पर इस प्रकरण में निदेशक से मार्गदर्शन मांगा है। वहां से हरी झंडी मिलते ही निजी स्कूलों को आरटीई में भुगतान करवा दिया जाएगा। पिछले बकाया प्रकरणों की सात दिन में रिपोर्ट बनाकर निदेशक को भेज दी जाएगी।
-तेजा सिंह-डीईओ, जिला शिक्षा (अधिकारी) माध्यमिक श्रीगंगानगर।

Show More
pawan uppal
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned