scriptPenalty of six thousand rupees imposed due to negligence of online sit | Sri Ganganagar ऑनलाइन साइट की लापरवाही से रिश्ता नहीं होने पर छह हजार रुपए की लगाई पैनेल्टी | Patrika News

Sri Ganganagar ऑनलाइन साइट की लापरवाही से रिश्ता नहीं होने पर छह हजार रुपए की लगाई पैनेल्टी

Penalty of six thousand rupees imposed due to negligence of online site- कंजूमर कोर्ट ने दिया ऑनलाइन बेवसाइट के संचालक के खिलाफ निर्णय

श्री गंगानगर

Published: June 18, 2022 03:56:15 pm

- कंजूमर कोर्ट ने दिया निर्णय
श्रीगंगानगर। रिश्ते कराने वाली ऑनलाइन बेवसाइट की लापरवाही से रिश्ता नहीं होने पर कंजूमर फोरम ने एक पीडि़त को राहत देते हुए साइट के प्रबंधक पर छह हजार की पैनल्टी लगाई है। लेबर कॉलोनी निवासी नानकचंद गुप्ता ने अधिवक्ता उमेश चौधरी के माध्यम से जिला उपभोक्ता विवाद प्रतितोष आयोग के समक्ष परिवाद पेश किया। इसमें बताया कि उसने बेस्ट पार्टनर मैट्रीमोनी डॉट कॉम साइट पर रिश्ते के लिए आवेदन किया।
Sri Ganganagar ऑनलाइन साइट की लापरवाही से रिश्ता नहीं होने पर छह हजार रुपए की लगाई पैनेल्टी
Sri Ganganagar ऑनलाइन साइट की लापरवाही से रिश्ता नहीं होने पर छह हजार रुपए की लगाई पैनेल्टी
इस पर साइट के प्रबंधक ने उसे 28 दिसम्बर 16 को डायमंड प्लान के तहत छह हजार रुपए भी वसूल किए। लेकिन प्रबंधक ने डायमंड प्लान की जगह गोल्डन प्लान उसे दे दिया। यहां तक कि उसकी प्रोफाइल में फोटो भी नहीं लगाई। जब उसने शिकायत की तो उसे दूसरी शाखा में फिर से छह हजार रुपए जमा कराने और सर्विस देने की बात कही।
इस ऑनलाइन साइट के प्रबंधक की लापरवाही से उसका रिश्ता भी नहीं हो पाया। इस संबंध में 13 अगस्त 2018 को नोटिस भी दिया लेकिन कोई जवाब नहीं आया।

इस पर आयोग ने एक पक्षीय कार्रवाई करते हुए निर्णय सुनाया। इस में साइट की सेवा में कमी मानते हुए परिवादी की ओर से दी गई राशि छह हजार रुपए नौ प्रतिशत ब्याज 28 दिसम्बर 16 से अदायगी तक, शारीरिक एवं मानसिक क्षतिपूर्ति के एवज में तीन हजार और परिवाद व्यय के तीन हजार रुपए सहित चुकाने के आदेश किए।
इसी कोर्ट ने दूसरे मामले में कार खराब होने पर दुरुस्त करने के एवज में क्लेम राशि नहीं देने पर बीमा कंपनी को ब्याज सहित क्लेम राशि के साथ साथ परिवाद व्यय और मानसिक क्षतिपूर्ति के दस हजार रुपए चुकाने के आदेश कंजूमर फोरम ने दिए है। परिवादी शंकर कॉलोनी निवासी वीरपाल कौर पत्नी कुलदीप सिंह ने अधिवक्ता कुंदनलाल जोशी के माध्यम से जिला उपभोक्ता विवाद प्रतितोष आयोग के समक्ष बाबा रामदेव मंदिर के सामने नेशनल हाइवे पन्द्रह िस्थत लिबर्टी विडियोकॉन जनरल इंशोरेंस कंपनी के खिलाफ परिवाद पेश किया।
इसमें बताया गया कि इस बीमा कंपनी से उसकी कार का बीमा था। उसकी कार मलोट से बठिण्डा के बीच राजस्थान कैनाल नहर के पास अनियंत्रित होकर दुर्घटनाग्रस्त हो गई थी। इस पर अधिकृत सर्विस सैंटर से कार को दुरुस्त कराया। कार मरम्मत पर हुए खर्च में एक लाख 22 हजार 994 रुपए का क्लेम बीमा कंपनी से मांगा तो इंकार कर दिया।
जबकि कंपनी का कहना था कि यह कार अन्य को बेचान कर दिया। लेकिन सर्वेयर ने एक लाख 60हजार 80 रुपए का क्लेम न्यायोचित मानते हुए रिपोर्ट दी। इस पर आयोग के अध्यक्ष साहबराम मोटयार ने बीमा कंपनी को क्लेम राशि एक लाख 60हजार 80 रुपए नौ प्रतिशत ब्याज सहित दो माह में देने के साथ साथ शारीरिक व मानसिक क्षतिपूर्ति के पांच हजार और परिवाद व्यय के पांच हजार रुपए चुकाने के आदेश किए।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

बड़ी खबरें

राजस्थान में इंटरनेट कर्फ्यू खत्म, 12 जिलों में नेट चालू, पांच जिलों में सुबह खत्म होगी नेटबंदीनूपुर शर्मा पर डबल बेंच की टिप्पणियों को वापस लिया जाए, सुप्रीम कोर्ट के चीफ जस्टिस के समक्ष दाखिल की गई Letter PettitionENG vs IND Edgbaston Test Day 1 Live: ऋषभ पंत के शतक की बदौलत भारतीय टीम मजबूत स्थिति मेंMaharashtra Politics: महाराष्ट्र बीजेपी अध्यक्ष चंद्रकांत पाटिल ने देवेंद्र फडणवीस के डिप्टी सीएम बनने की बताई असली वजह, कही यह बातजंगल में सर्चिंग कर रहे जवानों पर नक्सलियों ने की फायरिंगपंचायत चुनाव: दो पुलिस थानों ने की कार्रवाई, प्रत्याशी का चुनाव चिन्ह छाता तो उसने ट्राली भर छाता बंटवाने भेजे, पुलिस ने किए जब्तMonsoon/ शहर में साढ़े आठ इंच बारिश से सडक़ों पर सैलाब जैसा नजारा, जन जीवन प्रभावित2 जुलाई को छ.ग. बंद: उदयपुर की घटना का असर छत्तीसगढ़ में, कई दलों ने खोला मोर्चा
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.