लूट के खौफ से रात को बंद रहते हैं शहर के पेट्रोल पंप

-आपातकालीन परिस्थितियों में लोगों को होती है परेशानी

By: vikas meel

Published: 25 Apr 2018, 08:17 PM IST

श्रीगंगानगर.

रात को वाहन लेकर घर से निकलने से पहले उसका ईंधन जांच लें अन्यथा आपको बीच रास्ते रहना पड़ सकता है। कारण कि श्रीगंगानगर शहर के किसी भी पेट्रोल पंप पर रात 11 बजे के बाद पेट्रोल-डीजल नहीं मिलता। यह स्थिति लंबे समय से है।

 

पंजाब की ओर से आकर बीकानेर-जोधपुर की ओर जाने वाले अनजान वाहन चालकों को रास्ते में ही रुकना पड़ रहा है। शहरी क्षेत्र में 15 पेट्रोल पम्प और एक लाख से अधिक वाहन हैं। रात 11 बजे के बाद इन सभी पेट्रोल पम्पों की मशीनों पर ताले लग जाते हैं। हालांकि पम्प पर बने केबिनों में पम्प का कोई ना कोई कर्मचारी सुरक्षा के लिहाज से ठहरता जरूर है, लेकिन वह वाहन चालकों को किसी भी कीमत पर पेट्रोल-डीजल नहीं देता। एम्बुलेंस चालक भी रात को पेट्रोल-डीजल न होने की बात कहकर जाने में असमर्थता जताते हैं।

 

नेशनल हाइवे पर भी ताले

नेशनल हाइवे होने के बावजूद गंगानगर से बीकानेर तक कोई पेट्रोल पम्प खुला नहीं मिलता। इससे अनजान चालक बहुत परेशान होते हैं। पेट्रोल और डीजल की बिक्री न होने से पेट्रोल पम्प मालिकों को तो नुकसान होता ही है, केन्द्र और राज्य सरकारों के भी राजस्व में कमी आती है।

केस-1
पैदल जाना पड़ा हॉस्पिटल

रात में मम्मी की तबीयत खराब होने पर दवा लेने के लिए मोटरसाइकिल पर निकला। कोडा चौक पर मोटरसाइकिल में पेट्रोल खत्म हो गया। आखिर बाइक को सड़क के किनारे छोड़कर पैदल ही जिला अस्पताल की ओर जाना पड़ा। काफी देर बाद दवा लेकर लौटा तो मम्मी की तबीयत ज्यादा बिगड़ हो चुकी थी।
-संदीप कुमार, पुरानी आबादी, श्रीगंगानगर

 

केस -2
नहीं जा सका जयपुर

जयपुर में परिवार के किसी सदस्य की तबीयत खराब होने के कारण जयपुर जाना था। कार में डीजल कम था। कार लेकर सभी पेट्रोल पम्पों के चक्कर लगाए परन्तु वे बंद मिले। मजबूरन सुबह होने तक का इंतजार करना पड़ा। सुबह जयपुर के लिए रवाना हुआ तो रास्ते में दुखद समाचार मिला।
- हरजीत सिंह, जवाहरनगर, श्रीगंगानगर।

vikas meel
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned