पढ़ेसरियों के लिए शिक्षा के दर्शन, शुरू हुई टीवी पर पढ़ाई

शनिवार को मस्ती की पाठशाला...

By: Krishan chauhan

Updated: 06 Jun 2020, 10:05 AM IST

शनिवार को मस्ती की पाठशाला...

पढ़ेसरियों के लिए शिक्षा के दर्शन, शुरू हुई टीवी पर पढ़ाई

श्रीगंगनगर. कोरोना महामारी के कारण राज्य के विद्यार्थियों की पढ़ाई कम से कम बाधित हो इसके चलते राज्य सरकार व शिक्षा विभाग स्माइल,हवामहल व शिक्षावाणी जैसे कार्यक्रम संचालित कर रहा है। नवाचारों की इस कड़ी में शिक्षादर्शन कार्यक्रम सोमवार से राज्य भर में शुरू किया गया है। इसमें कक्षा 1 से 12वीं के विद्यार्थियों ने डीडी राजस्थान व कई अन्य चैनल के माध्यम से पढ़ाई की यह कार्यक्रम प्रतिदिन 3.15 घंटे प्रसारित किया जाएगा।

यह रहेगा पहले सप्ताह का कार्यक्रम
राजस्थान राज्य शैक्षिक अनुसंधान व प्रशिक्षण परिषद उदयपुर द्वारा जारी प्रसारण कार्यक्रम के अनुसार कक्षा 9 व10 के लिए गणित,विज्ञान व समाजिक विज्ञान कक्षा 11 व 12 के भौतिक विज्ञान,रसायन विज्ञान, गणित व जीव विज्ञान तथा कक्षा 6 से 8 के लिए विज्ञान और कक्षा 1-3 को गणित विषय की पढ़ाई करवाई जाएगी।

रोजाना लगेगी कक्षाएं

कार्यक्रम से बच्चों की पढाई में भी फायदा तो होगा ही साथ ही इतने दिन बच्चे ऑनलाइन मोबाइल से पढ़ाई कर रहे थे। इसके चलते उनकी आंखें कमजोर होने का खतरा भी था। अब उससे भी मुक्ति मिलेगी। कई बार नेटवर्क के कारण ऑनलाइन कक्षा नहीं हो पाती थी। वहीं गावों के अधिकांश बच्चों के पास स्मार्ट फोन भी नहीं होने के कारण ऑनलाइन कक्षा से वंचित हो रहे थे।

थोड़ी मस्ती, थोड़ी पढ़ाई
शिक्षा दर्शन कार्यक्रम के तहत शनिवार को गतिविधि दिवस के रूप में रखा गया है। इसमें विद्यार्थियों को योग प्राणायाम, कॉमिक्स बनाना, कॅरिअर की जानकारी,मानसिक स्वास्थ्य, स्वच्छता आदि विषयों पर गतिविधियों के माध्यम से अध्ययन करवाया जाएगा।

कार्यक्रम प्रसारण का समय

कक्षा 9 -10 -दोपहर 12.30 से 1.30 तक

कक्षा 11-12 -दोपहर 1.30 से 2.30 तक
कक्षा 1-8 -दोपहर 3 बजे से 4.15 बजे तक

टीवी पर क्लास लगाकर मजा आया

राउमावि मदेरां के कक्षा नौ के छात्र अमित कुमार का कहना है कि टीवी पर विज्ञान और गणित विषय की पढ़ाई की गति संबंधी पाठ पढकऱ बड़ा मजा आया। अभिभावक पालाराम व बेगराज भाटी ने बताया कि सरकार बच्चों की पढ़ाई का पूरा ध्यान रख रही है।

गांव बॉर्डर के नजदीक होने के कारण मोबाइल नेटवर्क बाधित रहता है। इससे मोबाइल पर ऑनलाइन पढ़ाई में विद्यार्थी परेशानी महसूस करते हैं। अब टीवी पर पढ़ाई शुरू होने से बच्चों के लिए बेहद लाभदायक रहेगा।

-सुभाष बाना, व्याख्याता,राउमावि-मंदेरा
...

रेडियो के बाद अब टीवी पर भी कक्षायें लगाने से सभी विद्यार्थी घर बैठे पढ़ाई कर सकेंगे। विशेष आवश्यकता वाले विद्यार्थियों को दृश्य व श्रृव्य दोंनो माध्यम की सुविधा प्राप्त हुई है। कार्यक्रम में प्रसारित समस्त अध्ययन सामग्री कक्षावार और नए पाठ्यक्रम के अनुरूप है।

-भूपेश शर्मा, सहसंयोजक विद्यार्थी सेवा केंद्र माध्यमिक शिक्षा, श्रीगंगानगर।

Krishan chauhan Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned