Video : पुलिसकर्मियों ने किया मैस का बहिष्कार, वेतन कटौती के निर्णय का विरोध

वेतन से कटौती के विरोध में सोमवार को जिले के सभी पुलिस थानों व पुलिस लाइन में पुलिसकर्मियों ने मैस का बहिष्कार किया और काली पट्टी बांधकर विरोध जताया।

By: vikas meel

Published: 09 Oct 2017, 08:07 PM IST

 

श्रीगंगानगर.

वेतन से कटौती के विरोध में सोमवार को जिले के सभी पुलिस थानों व पुलिस लाइन में करीब एक हजार पुलिसकर्मियों ने मैस का बहिष्कार किया और काली पट्टी बांधकर विरोध जताया। थानों में 15 अक्टूबर तक मैस बंद रहेगा। पुलिसकर्मियों ने बताया कि राज्य सरकार की ओर से वार्षिक वेतन वृद्धि रोकने व वेतन कटौती करने के विरोध में सोमवार से 15 अक्टूबर तक मैस का बहिष्कार किया गया है। जिले सभी थानों व पुलिस लाइन में सुबह से ही मैस बंद रहा। पुलिसकर्मिचों ने मैस के बाहर सूचना लगा दी है। इसमें बताया है कि वेतन कटौती व वेतन वृद्धि रोकने के विरोध में 15 तक सभी पुलिसकर्मी मैस का बहिष्कार करेंगे। सभी पुलिसकर्मी काली पट्टी बांधकर नियमित कार्य करेंगे। आगामी आदेश तक थानों व पुलिस लाइन में मैस बंद रहेगी। इसके चलते सोमवार को सभी पुलिसकर्मियों ने मैस का बहिष्कार कर काली पट्टी बांधकर विरोध जताया।

 

मैस पर लटके रहे ताले
- शहर में पुरानी आबादी व सदर थाने के मैस पर सुबह से ही ताला लटका हुआ मिला। मैस का बहिष्कार किए जाने के कारण मैस में सोमवार को चाय तक नहीं बनी। पुलिसकर्मियों ने चाय भी बाहर से मंगवाकर पी। इसके अलावा अन्य थानों में भी मैस पर ताले लगे हुए थे।

तो 16 को सामूहिक अवकाश पर जाएंगे
पुलिसकर्मियों ने बताया कि प्रदेशभर में पुलिसकर्मियों की ओर से वेतन कटौती के विरोध में 9 से 15 अक्टूबर तक मैस का बहिष्कार किया गया है और काली पट्टी बांधकर विरोध जता रहे हैं। यदि 15 अक्टूबर तक वेतन कटौती के फैसले को राज्य सरकार वापस नहीं लेती है तो पुलिसकर्मी 16 अक्टूबर को सामूहिक अवकाश पर जा सकते हैं और दीपावली अपने घर मनाएंगे।


निर्णय वापिस लिया जाये

- वेतन कटौती का फैसला वापस लेने की मांग को लेकर शहरी क्षेत्र में पुलिसकर्मियों ने मैस का बहिष्कार कर काली पट्टी बांधकर विरोध जताया है। जिले में करीब एक हजार पुलिसकर्मियों ने मैस का बहिष्कार किया है।

- तुलसीदास पुरोहित, सीओ सिटी श्रीगंगानगर।

vikas meel
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned