कर्जे से परेशान होकर आत्महत्या करने वाले बुजुृर्ग किसान का कराया पोस्टमार्टम, शव परिजनों को सौंपा

अस्पताल पहुंचे पुलिस अधिकारी

श्रीगंगानगर. बैंक के दस लाख रुपए के कर्जे से अवसाद में आए 85 वर्षीय बुजुर्ग किसान ने तंग आकर सल्फाश की गोलियां खाकर आत्महत्या कर ली थी। पुलिस ने शुक्रवार को वृद्ध का पोस्टमार्टम करवाकर शव परिजनों को सौंप दिया। इस दौरान राजकीय चिकित्सालय में पुलिस अधिकारी व ग्रामीण पहुंच गए थे।


जिसकी उपचार के दौरान मृत्यु हो गई। इस किसान का उपचार मेंदाता हॉस्पिटल में किया जा रहा था, इसकी सूचना मिलने पुलिस ने बताया कि मोहनपुरा गांव निवासी मक्खन सिंह (85) पुत्र केहरसिंह ने सल्फाश की गोलियां खा ली थी, जिसकी तबीयत बिगडऩे पर मेंदाता हॉस्टिल में भर्ती कराया था।

जहां उसकी दौराने उपचार मौत हो गई। इस संबंध में मृतक के बेटे गुरमेल सिंह ने लिखित सूचना दी कि उसके पिता के नाम से मोहनपुरा गांव में पन्द्रह बीघा कृषि भूमि है। इस भूमि पर इलाहाबाद बैँक से दस लाख रुपए का कर्जा लिया था। ब्याज की राशि जमा कराने के लिए एक लाख रुपए लोगों से उधार भी लिए लेकिन कर्जा उतरा नहीं था।

पिछले कई दिनों से अवसाद में रहने लगे तो गुरुवार सुबह सल्फाश की गोलियां खा ली। उल्टियां होने पर उसके पिता ने यह बात बताई तो उसी समय मेंदाता हॉस्पिटल में भर्ती कराया जहां उसकी दोपहर बाद मृत्यु हो गई थी। शुक्रवार को पुलिस ने पोस्टमार्टम करवाकर शव परिजनों को सौंप दिया। पुलिस मर्ग रिपोर्ट पर जांच कर रही है।

Raj Singh Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned