गरीब परिवारों के लिए डाक विभाग ने 100 किट अन्नपूर्णा की दी

डाक विभाग में उपभोक्ता को राशि के लिए नहीं होना पड़ रहा परेशान

गरीब परिवारों के लिए डाक विभाग ने 100 किट अन्नपूर्णा की दी

श्रीगंगानगर.कोरोना वायरस संक्रमण की वजह से गरीब परिवार के लोगों के लिए गुरुवार को डाक विभाग के अधिकारियों ने जिला कलक्टर शिवप्रसाद मदन नकाते एवं जिला रसद अधिकारी राकेश सोनी को सौ किट अन्नपूर्णा की भेंट की है। इस मौका पर डाक विभाग के सहायक अधीक्षक अधीक्षक ऑफिस अजय चुघ व राकेश धींगड़ा,पीआरओ अश्वनी बंसल व अखिल भारतीय डाक कर्मचारी संघ के सचिव रविंद्र कुमार मौजूद रहे।

डाक विभाग में उपभोक्ता को राशि के लिए नहीं होना पड़ रहा परेशान
.देश भर में 14 अप्रेल तक डॉक डाउन की वजह से डाक सेवा भी ठप पड़ी है। अधिकांश डाक सेवाएं रेल व परिवहन सेवा से ही आती-जाती है। इस कारण अब डाक वितरण सहित अन्य आवश्यक कार्य बंद है। जबकि डाक विभाग के हैड ऑफिस व तहसील स्तर के ऑफिस खुले हैं और इनमें 50 प्रतिशत कार्मिक काम कर रहे हैं। डाक विभाग में उपभोक्ताओं के बहुत से खातें है जो इनको राशि जमा व निकासी के लिए आना पड़ता है। इसलिए विभाग ने कोरोना वायरस की गाइड लाइन की पालना करते हुए सेवाएं दी जा रही है।
सोशल डिस्टेंसिंग का रखा जा रहा पूरा ध्यान

बैंक सुबह दस से दोपहर दो बजे तक दे रहा सेवाएं
पत्रिका लाइव--प्लस फोटो---श्रीगंगानगर.कोरोना वायरस के संक्रमण की वजह से देश भर में 14 अप्रेल तक लॉकडान चल रहा है। इस कारण जिले में बैंकिग सेवाएं जिला मुख्यालय सहित हर ब्रांच स्तर पर सुबह दस से दो बजे दी जा रही है। इसमें में ही बैंक राशि निकासी,राशि जमा,चैक क्लीरियंस,सरकारी राशि भेजने व सरकारी बिजिनस आदि से संबंधित कार्य किए जा रहे हैं। साथ ही बैंक व एटीएम में सोशल डिस्टेंसिंग का पूरा ध्यान रखा जा रहा है और ऑफिस में वर्किग के लिए बहुत कम कार्मिकों को बुलाया जा रहा है ताकि सोशल डिस्टेंसिंग की पालना की जा सकें। एसबीआई के एजीएम देवीलाल मेहरा ने बताया कि एसबीआई के एटीएम व ब्रांच में कोरोना वायरस के संक्रमण को देखते हुए ऑफिस व एटीएम में प्रवेश करने से पहले उपभोक्ता को साबुन से हाथ धुलाए जा रहे हैं तथा सेनेटाइजर किया हुआ है ताकि किस प्रकार से वायरस की आंशका नहीं हो। मेहरा ने आम लोगों से अपील भी कि है कि वे बैंक में सामान्य कार्य के लिए नहीं आकर भीड़ नहीं बढ़ाएं,जैसे बैंक बैलेंस पूछने व कॉपी में इंट्री करवाने आदि कार्य के लिए कई उपभोक्ताए ब्रांचों में आ रहे हैं। उन्होंने कहा कि उपभोक्ताओं को ज्यादा ऑनलाइन बैंकिंग का उपयोग करना चाहिए। जबकि बैंकिग के अन्य आवश्यक कार्य के लिए बैंक में आने के लिए किसी भी उपभोक्ता को कोई मनाही नहीं है। वहीं,जिला मुख्यालय सहित ब्रांच स्तर पर एसबीआई के अलावा अन्य बैंकों में भी यही सेवाएं दी जा रही है।

Krishan chauhan Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned