सरस्वती की लाडलियों को ‘लक्ष्मी’ का इंतजार

https://www.patrika.com/sri-ganga-nagar-news/

पद्माक्षी चयनित मेधावी छात्राओं को नहीं मिली प्रोत्साहन राशि : तीन माह पहले वितरित किए थे प्रमाण पत्र
प्रवीण राजपाल
श्रीकरणपुर. एक तरफ सरकार बेटी बचाओ, बेटी पढ़ाओ जैसे नारे व इनसे जुड़ी योजनाएं जारी कर बालिकाओं को प्रोत्साहित करने का दावा करती हैं। वहीं, दूसरी ओर एेसी योजनाओं के क्रियान्वयन में कितनी गंभीरता बरती जा रही है इसका अंदाजा पद्माक्षी पुरस्कार की राशि के भुगतान में हो रहे विलम्ब से लगाया जा सकता है। आठवीं, दसवीं और बारहवीं बोर्ड परीक्षाओं में जिले में प्रथम रही मेधावी छात्राओं को तीन माह पहले गार्गी पुरस्कार वितरण के समय पद्माक्षी पुरस्कार के प्रमाण पत्र तो वितरित कर दिए गए परन्तु प्रोत्साहन राशि का भुगतान आज तक नहीं हुआ।
डीईओ को जानकारी नहीं : जिला शिक्षा अधिकारी को इस प्रकरण की जानकारी तक नहीं है। पूछने पर जिला शिक्षा अधिकारी माध्यमिक शिवराम सिंह यादव ने बताया कि सोमवार को कार्यालय खुलने पर ही जानकारी दे पाएंगे।

आठ श्रेणियों में मिलता है
बालिका शिक्षा फाउंडेशन जयपुर की ओर से संचालित इस योजना में सामान्य, एससी, एसटी, ओबीसी, अल्पसंख्यक, निशक्त, विशेष पिछड़ा वर्ग और बीपीएल सहित कुल आठ श्रेणियों में जिले में प्रथम रहने पद्माक्षी पुरस्कार दिया जाता है। इसके तहत आठवीं में 40 हजार, दसवीं में 75 हजार व बारहवीं बोर्ड परीक्षा में जिले में प्रथम रहने वाली छात्रा को एक लाख रुपए एकमुश्त व प्रमाण पत्र दिए जाते हैं। इन आठ श्रेणियों में चयनित जिले की एक भी छात्रा को अभी तक पुरस्कार की राशि नहीं मिली।
विधानसभा चुनाव की आचार संहिता की वजह से देरी हुई। जिला शिक्षा अधिकारी कार्यालय की ओर से लाभार्थी छात्राओं के खाता संख्या व अन्य विवरण जयपुर भिजवा दिए गए हैं। वहां से जल्द ही उनके खातों में राशि भेजी जाएगी।
हरबंससिंह संधू, ब्लॉक शिक्षा अधिकारी श्रीकरणपुर।

jainarayan purohit
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned