अधिकारियों के आगे सवालों के अम्बार ऐसे, पड़े चक्कर में जवाब दे कैसे

अधिकारियों के आगे सवालों के अम्बार ऐसे, पड़े चक्कर में जवाब दे कैसे
अधिकारियों के आगे सवालों के अम्बार ऐसे, पड़े चक्कर में जवाब दे कैसे

नरमा-कपास पर जीएसटी जंजाल बन गया है। कच्चा आढ़तिया व्यापारी समझ नहीं पा रहे कि वे काम करे तो करे कैसे। कई तरह की शंकाएं और आशंकाएं उन्हें परेशान कर रही है। इनका समाधान करने के लिए ट्रेडर्स एसोसिएशन ने गुरुवार को जीएसटी के वरिष्ठ अधिकारियों को अपने सभागार में बुलाया। व्यापारियों ने उनके समक्ष सवालों के ऐसे अम्बार लगाए कि वे चक्कर में पड़ गए कि जवाब कैसे दे।

श्रीगंगानगर. नरमा-कपास पर जीएसटी जंजाल बन गया है। कच्चा आढ़तिया व्यापारी समझ नहीं पा रहे कि वे काम करे तो करे कैसे। कई तरह की शंकाएं और आशंकाएं उन्हें परेशान कर रही है। इनका समाधान करने के लिए ट्रेडर्स एसोसिएशन ने गुरुवार को जीएसटी के वरिष्ठ अधिकारियों को अपने सभागार में बुलाया। व्यापारियों ने उनके समक्ष सवालों के ऐसे अम्बार लगाए कि वे चक्कर में पड़ गए कि जवाब कैसे दे।

जीएसटी के उपायुक्त महेंद्र कुमार छिम्पा, सहायक आयुक्त रामकुमार एवं राज्य कर अधिकारी ललित पारीक ने कपास-नरमा पर लगने वाले आरसीएम आदि की विस्तार से जानकारी दी। व्यापारियों ने बीच में सवाल पर सवाल दागे तो कहा कि नए प्रावधान से उन्हें आयकर एवं मंडी एक्ट से जुड़ी जो परेशानियां लग रही है, उन पर कुछ बताने की स्थिति में वे नहीं हैं। इस पर व्यापारियों ने समवेत स्वर में कहा कि जीएसटी, मंडी समिति एवं आयकर विभाग, तीनों के साथ सामूहिक सेमिनार होनी चाहिए।
व्यापारी नेता विक्रम चितलांगिया, चंन्द्रेश जैन, विनय जिन्दल, रामकुमार पाण्डुसरिया, कुलदीप कासनियां, कमलकान्त कोचर सहित अनेक जनों ने कहा कि मामला केंद्र सरकार और जीएसटी कोन्सिल स्तर का है, ऐसे मेें व्यापारिक संगठनों को अपनी व्यावहारिक समस्या को स्थानीय अधिकाारियों के माध्यम से आगे पहुंचाना चाहिए। कच्चा आढ़तिया संघ के महामंत्री अशोक छाबड़ा, ट्रेडर्स एसोसएिशन के कोषाध्यक्ष प्रवीण गर्ग सहित बड़ी संख्या में व्यापारी सभागार में मौजूद थे।
फोटो कैप्सन-श्रीगंगानगर की नई धान मंडी में गुरुवार को जीएसटी संबंधी सेमिनार में उपस्थित व्यापारी।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned