श्रीगंगानगर में शादी कराने में ग्रामीण आगे, शहरी पीछे

Rural ahead, urban behind in getting married in Sriganganagar- पिछले ढाई सालों में ग्रामीण क्षेत्र में अधिक विवाह पंजीयन, शहरी क्षेत्र में सबसे कम.

By: surender ojha

Published: 11 Jun 2021, 01:59 PM IST

श्रीगंगानगर. इलाके में शादी कराने में ग्रामीण आगे है जबकि शहरी क्षेत्र के युवा काफी पीछे है। जिले के सांख्यिकी विभाग के आंकड़ों के अनुसार ग्रामीण क्षेत्र में विवाह पंजीयन अधिक हुए है। ऐसे में वहां अधिक शादियां हुई है। वहीं शहरी क्षेत्र में सबसे कम पंजीयन हुए है।

शहरी क्षेत्र में सबसे ज्यादा विवाह पंजीयन श्रीगंगानगर नगर परिषद में हुए है। वहीं ग्रामीण क्षेत्र में रायसिंहनगर सबसे आगे है। विवाह के बाद विवाह पंजीयन कराना जरूरी है। विभिन्न सरकारी सविज़्स में शादीशुदा अभ्याथीज़् को आवेदन के अलावा संपति खरीदने में भी विवाह पंजीयन अब जरूरी हो चुका है। इस कारण अब लोग विवाह पंजीयन को अधिक महत्व देते है।

पिछले ढाई सालों में विवाह पंजीयन की संख्या घट रही है। सरकारी नौकरियों की विज्ञप्ति कम आने के कारण युवा भी विवाह पंजीयन कराने में कम दिलचस्पी लेने लगे है। करीब एक दशक पहले विवाह पंजीयन गिनती के हुआ करते थे।

पहले जिला कलक्टर एवं जिला मजिस्ट्रेट के पास ही विवाह पंजीयन का अधिकार था लेकिन सरकार ने विवाह पंजीयन की बढ़ती मांग को देखते हुए शहरी क्षेत्र में नगर निकायों और ग्रामीण क्षेत्र में पंचायत समितियों के यह अधिकार दिया। इस कारण हर साल विवाह पंजीयन हो रहे है। पिछले दो सालों में आवेदन के लिए ऑनलाइन प्रक्रिया अपनाई जा रही है।
जिले में पिछले तीन सालों में विवाह पंजीयन की संख्या लगातार घट रही है। ग्रामीण क्षेत्र में वषज़् 2019 में 5303 विवाह पंजीयन हुए जबकि वषज़् 2020 में यह घटकर 4238 पंजीयन संख्या रह गई।

वहीं इस साल पिछले पांच महीने में 372 पंजीयन हुए है। इसके विपरीत शहरी क्षेत्र में ग्रामीण क्षेत्र के मुकाबले काफी कम पंजीयन हो रहे है। शहरी क्षेत्र में वषज़् 2019 में कुल 2053 विवाह पंजीयन हुए। वहीं वषज़् 2020 में यह संख्या घटकर 1474 रह गई। इस साल पिछले पांच महीने में यह सिफज़् 162 रही है।
ग्रामीण क्षेत्र में विवाह पंजीयन का गणित
ब्लॉक का नाम 2019 2020 अब तक
अनूपगढ़ 598 471 39
श्रीकरणपुर 327 323 40
सादुलशहर 486 481 31
घड़साना 697 606 57
रायसिंहनगर 838 670 59
सूरतगढ़ 654 431 22
श्रीगंगानगर 724 631 41
पदमपुर 486 375 44
श्रीविजयनगर 513 370 39
कुल योग 5303 4238 372

.......
शहरी क्षेत्र की तस्वीर
क्षेत्र 2019 2020 अब तक
श्रीगंगानगर 989 692 68
रायसिंहनगर 141 111 10
अनूपगढ़ 139 106 10
गजसिंहपुर 051 042 04
पदमपुर 117 108 10
केसरीसिंहपुर 052 041 04
सादुलशहर 112 089 04
श्रीकरणपुर 129 081 17
सूरतगढ़ 231 120 21
श्रीविजयनगर 090 074 14
लालगढ जाटान 02 01 00
कुल योग 2053 1474 162
—---—
जिला सांख्यिकी अधिकारी गिराज़्ज मीणा का कहना है कि कोरोना की दूसरी लहर के कारण लॉक डाउन उस समय रहा है जबकि शादियों का सीजन था। इस कारण लोगों ने शादियों के आयोजन कम किए।

यहां तक आखातीज पर अबूझ सावे पर भी काफी कम शादियां हुई। इसका असर विवाह पंजीयन पर पड़ा है। जिले के ग्रामीण क्षेत्र में जनवरी से लेकर मई तक 372 विवाह पंजीयन हुए जबकि शहरी क्षेत्र में तो इससे भी कम महज 162 विवाह पंजीयन हुए है।

Show More
surender ojha Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned