.संस्कृत की पढ़ाई दिलवाएगी 25 हजार रुपए तक का सालाना प्रोत्साहन

-9वीं से पीएचडी तक के छात्र-छात्राएं होंगे लाभान्वित..

-केंद्रीय संस्कृत विश्वविद्यालय ने 28 मार्च तक मांगे ऑनलाइन आवेदन

By: Krishan chauhan

Published: 20 Jan 2021, 11:16 AM IST

-9वीं से पीएचडी तक के छात्र-छात्राएं होंगे लाभान्वित...संस्कृत की पढ़ाई दिलवाएगी 25 हजार रुपए तक का सालाना प्रोत्साहन

-केंद्रीय संस्कृत विश्वविद्यालय ने 28 मार्च तक मांगे ऑनलाइन आवेदन
श्रीगंगानगर. विश्व की सबसे प्राचीन भाषा और देववाणी कही जाने वाली संस्कृत भाषा के विकास और संवद्र्धन के लिए सरकार और संस्कृत शिक्षा विभाग निरंतर अग्रसर है। इस क्रम में मेधावी छात्रवृत्ति योजना 2020-21 के तहत छात्रवृत्ति के लिए पात्र विद्यार्थियों से ऑनलाइन आवेदन मांगे गए हैं। उल्लेखनीय है कि शिक्षा मंत्रालय द्वारा संचालित केंद्रीय संस्कृत विश्वविद्यालय की ओर से संस्कृत पढऩे वाले मेधावी बच्चों को सालाना छात्रवृत्ति प्रदान की जाती है। इस योजना में 9वीं कक्षा से पीएचडी तक के संस्कृत छात्रों को प्रति वर्ष 5 हजार से लेकर 25 हजार रुपए तक छात्रवृत्ति मिलेगी। छात्रवृत्ति के बारे में सभी दिशा निर्देश और आवेदन का लिंक केन्द्रीय संस्कृत विश्वविद्यालय की अधिकृत वेबसाइट पर स्कॉलरशीप स्कीम टैब में अपलोड किए गए हैं।

ये रहेंगी आवेदन की शर्तें

-छात्रवृत्ति के लिए आवेदन पत्र केवल ऑनलाइन ही स्वीकार्य होंगे। कोई भी आवेदन पत्र या प्रमाण पत्र डाक या अन्य माध्यम से भेजने पर विचार नहीं होगा।
-विद्यार्थी द्वारा पिछली कक्षा में ऐच्छिक विषय के रूप में 100 अंकों की संस्कृत भाषा ली गई हो।

-संस्कृत भाषा की परीक्षा में सामान्य वर्ग के छात्र का न्यूनतम 60 फीसदी अंक हो।
-ओबीसी छात्र के लिए 55 प्रतिशत और अनुसूचित जाति-जनजाति, दिव्यांग श्रेणी के लिए 50 प्रतिशत अंक अनिवार्य है।

-यूं होगा कक्षावार राशि का भुगतान

9वीं और 10वीं के लिए-5000 रुपए
11वीं और 12वीं के लिए-6000 रुपए

स्नात्तक के लिए- 8000 रुपए
पीजी के स्टूडेंट्स के लिए-10000 रुपए

पीएचडी या उसके समकक्ष के लिए- 25000 रुपए

छात्रवृत्ति की महत्वपूर्ण तिथियां

पंजीकरण व ऑनलाइन आवेदन के प्रारंभ की तिथि- 20 दिसंबर 2020
प्रोफाइल अपडेशन की अंतिम तिथि- 28 मार्च 2021

ऑनलाइन आवेदन करने की अंतिम तिथि-31 मार्च 2021

मेधावी छात्रवृत्ति योजना के अंतर्गत संस्कृत शिक्षा विभाग के अलावा सरकारी व मान्यता प्राप्त माध्यमिक व उच्च माध्यमिक स्कूलों में अध्ययनरत कक्षा 9 से कक्षा 12 तक के संस्कृत विषय वाले विद्यार्थी भी आवेदन कर सकते हैं। आवेदन केवल ऑनलाइन होंगे और प्रोत्साहन राशि का भुगतान डीबीटी के माध्यम से चयनित के बैंक खाते में ही किया जाता है।
-भूपेश शर्मा, सहसंयोजक, जिला समान परीक्षा योजना शिक्षा विभाग,श्रीगंगानगर

Krishan chauhan Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned