scriptScuffle with lawyers on the issue of contaminated water | SriGanganagar श्रीगंगानगर में वकीलों से धक्कामुक्की, एडीएम से रार | Patrika News

SriGanganagar श्रीगंगानगर में वकीलों से धक्कामुक्की, एडीएम से रार

Scuffle with lawyers on the issue of contaminated water, ruckus with ADM- - अदालती कामकाज ठप, कोर्ट कैम्पस में पसरा सन्नाटा

श्री गंगानगर

Published: April 22, 2022 09:21:44 am

श्रीगंगानगर। पंजाब से नहरों के माध्यम से आ रहे दूषित पानी की समस्या का स्थायी हल कराने की मांग को लेकर वकीलों ने अदालती कामकाज का बहिष्कार कर कोर्ट परिसर के पार्क में दो घंटे धरना लगाया। धरना स्थल पर सभा के बाद नारेबाजी करते हुए कलक्ट्रेट में पहुंचे। वहां एडीएम प्रशासन को ज्ञापन लेने के लिए बाहर बुलाने का आग्रह किया। लेकिन एडीएम नहीं आए तो वकीलों ने उनके चैम्बर में घुसने का प्रयास किया तो वहां तैनात पुलिस कर्मियों से धक्का मुक्की की। इस दौरान वकीलों ने एडीएम प्रशासन का पुतला लाकर वहां जलाकर अपने गुस्से का इजहार किया। इनके उपरांत बार संघ की आमसभा में एडीएम प्रशासन कोर्ट का बेमियादी बहिष्कार कर उनको एपीओ किए जाने की मांग का प्रस्ताव पारित किया।
SriGanganagar श्रीगंगानगर में वकीलों से धक्कामुक्की, एडीएम से रार
SriGanganagar श्रीगंगानगर में वकीलों से धक्कामुक्की, एडीएम से रार
इस आंदोलन से कोर्ट परिसर और कलक्ट्रेट में वसीकानवीस और अराजनवीस ने भी समर्थन करते हुए कामकाज ठप रखा। इस कारण दोनों कैम्पस में सुबह से दोपहर तक सन्नाटा पसरा रहा। इस बीच, बार संघ अध्यक्ष सीताराम बिश्नोई ने बताया कि एडीएम कोर्ट का बहिष्कार बेमियादी जारी रहेगा। जब तक सरकार एडीएम प्रशासन को एपीओ नहीं करती तब तक यह बहिष्कार जारी रहेगा। बिश्नोई के अनुसार पूरे जिले में दृषित पानी की समस्या को लेकर अधिवक्ताओं ने अदालती कामकाज का बहिष्कार सहयोग किया है। इस मुददे पर अब सामाजिक, धार्मिक, व्यापारिक आदि संगठनों का सहयोग लेकर जागरूकता की मुहिम चलाएंगे।
यह मामला गंभीर है। इसके लिए सामूहिक प्रयासों से समस्या का समाधान हो सकेगा। इससे पहले कोर्ट परिसर और बार संघ सभागार में हुई बैठक के दौरान बार संघ के पूर्व अध्यक्ष चरणदास कम्बोज, जसवीर सिंह मिशन, पूर्व सचिव जिन्द्रपाल सिंह भाटिया जौली, जितेन्द्र बैरच, विपिन सिद्ध, ओम रावल, विक्रम गोदारा, कुलवंत सिंह संधू, अंग्रेज सिंह वाल्ला, राजकुमारी जैन आदि ने अपने अपने विचार व्यक्त किए।
इधर, बार संघ के वर्क सस्पैण्ड का असर उन लोगों पर भी पड़ा जो किसी न किसी कार्य के लिए कलक्ट्रेट आए थे। कई लोगों को शपथ पत्रों और अन्य दस्तावेजों का सत्यापन कराने के लिए नोटरी पब्लिक नहीं मिले। वहीं कलक्ट्रेट और पुलिस अधीक्षक कार्यालय में अपनी अपनी पीड़ा व्यक्त करने के लिए लोग अर्जियां लिखवाने के लिए कम्पयूटर ऑपरेटरों के यहां पहुंचे लेकिन वहां ताला मिला।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

नाम ज्योतिष: ससुराल वालों के लिए बेहद लकी साबित होती हैं इन अक्षर के नाम वाली लड़कियांभारतीय WWE स्टार Veer Mahaan मार खाने के बाद बौखलाए, कहा- 'शेर क्या करेगा किसी को नहीं पता'ज्योतिष अनुसार रोज सुबह इन 5 कार्यों को करने से धन की देवी मां लक्ष्मी होती हैं प्रसन्नइन राशि वालों पर देवी-देवताओं की मानी जाती है विशेष कृपा, भाग्य का भरपूर मिलता है साथअगर ठान लें तो धन कुबेर बन सकते हैं इन नाम के लोग, जानें क्या कहती है ज्योतिषIron and steel market: लोहा इस्पात बाजार में फिर से गिरावट शुरू5 बल्लेबाज जिन्होंने इंटरनेशनल क्रिकेट में 1 ओवर में 6 चौके जड़ेनोट गिनने में लगीं कई मशीनें..नोट ढ़ोते-ढ़ोते छूटे पुलिस के पसीने, जानिए कहां मिला नोटों का ढेर

बड़ी खबरें

दिल्ली हाई कोर्ट से AAP सरकार को झटका, डोर स्टेप राशन डिलीवरी योजना पर लगाई रोकसुप्रीम कोर्ट का फैसला: रोड रेज केस में Navjot Singh Sidhu को एक साल जेल की सजा, जानें कांग्रेस नेता ने क्या दी प्रतिक्रियाGST पर सुप्रीम कोर्ट का बड़ा फैसला, जीएसटी काउंसिल की सिफारिश मानने के लिए बाध्य नहीं सरकारेंपंजाब कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष सुनील जाखड़ BJP में शामिल, दिल्ली में जेपी नड्डा ने दिलाई पार्टी की सदस्यताअलगाववादी नेता यासीन मलिक आतंकवाद से जुड़े मामले में दोषी करार, 25 मई को होगी अगली सुनवाई'माता-पिता भारतीय नागरिकता भलें छोड़ दें, गर्भ में मौजूद बच्चे को नागरिकता वापस पाने का हक' - मद्रास हाईकोर्टज्ञानवापी मस्जिद-श्रृंगार गौरी विवाद : वाराणसी कोर्ट की कार्रवाई पर सुप्रीम कोर्ट की रोक, शुक्रवार को होगी सुनवाईAssam Flood Situation: बाढ़ का जायजा लेने पहुंचे BJP विधायक को जवान ने पीठ पर लादकर नाव तक पहुंचाया
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.