गांवों में लॉक डाउन को लेकर एसडीएम ने लिया जायजा

घड़साना. जिले से कहीं से भी खाद्य सामग्री, फल सब्जियां, दूध तथा दवाइयां आदि लाने के लिए कारोबारी व्यक्ति को भार ढोने वाले वाहन के आवागमन पर कहीं भी पाबंदी नहीं है। उपखंड अधिकारी रामावतार कुमावत ने गुुरुवार को कस्बे तथा गांवों में खाद्य वस्तुओं की उपलब्धता की समीक्षा की।

घड़साना. जिले से कहीं से भी खाद्य सामग्री, फल सब्जियां, दूध तथा दवाइयां आदि लाने के लिए कारोबारी व्यक्ति को भार ढोने वाले वाहन के आवागमन पर कहीं भी पाबंदी नहीं है। उपखंड अधिकारी रामावतार कुमावत ने गुुरुवार को कस्बे तथा गांवों में खाद्य वस्तुओं की उपलब्धता की समीक्षा की। एसडीएम ने कस्बे में आटा, दूध, चीनी आदि की पर्याप्त मात्रा में उपलब्ध होने की जानकारी दी है।
उपखण्ड अधिकारी रामावतार कुमावत ने गुरुवार को भी ग्रामीण क्षेत्र का दौरा किया तथा गांवों में लॉक डाउन की स्थिति का आंकलन किया। एसडीएम ने बताया कि जनसाधारण की सुविधा के लिए पूरे उपखण्ड क्षेत्र के सभी गांवों/कस्बों में आवश्यक सेवाओं मेडिकल, राशन, फल-सब्जी, दूध डेयरी की दुकानें एवं आटा चक्की खुली रहेंगी। राशन सहित अन्य दुकानों पर सामान खरीदते समय आमजन कम से कम दो व्यक्तियों के मध्य 1 मीटर की दूरी की व्यवस्था करने तथा लोंगो को जागरूक रह कर कोरोना संक्रमण से बचाव के लिए आग्रह किया।
उन्होंने बताया कि आवश्यक सेवाओं की दुकानों पर कालाबाजारी न हो एवं उचित मूल्य पर आमजन को सामान उपलब्ध हो यह सुनिश्चित करने के लिए तहसीलदार घड़साना एवं रावला, प्रवर्तन निरीक्षक, थानाधिकारी घड़साना एवं रावला को निर्देश दिए गए हैं। वहीं खाद्य सामग्री (दूध, फल-सब्जी, अन्य राशन सामग्री), पशु आहार एवं चिकित्सीय दवा लाने-ले जाने वाले वाहनों तथा गोशालाओं के लिए चारा सप्लायर्स को अनुमति की आवश्यकता नहीं है। लेकिन कोरोना संक्रमण की रोकथाम के लिए जारी की गई गाइड लाइन अनुसार नियमों का पालना करेंगे। आवश्यक होने पर उपखण्ड कार्यालय घड़साना के कन्ट्रोल रूम के दूरभाष नम्बर 01506-251600, तहसील कार्यालय घड़साना के कन्ट्रोल रूम दूरभाष नम्बर 01506-250770 एवं पुलिस थाना घड़साना 01506-250100 तथा पुलिसथाना रावला 01506-263090 पर सम्पर्क करें।

sadhu singh Desk
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned