हमलावरों के निशाने पर स्लीपर कोच बसें, तीन वारदातें फिर भी चुप्पी

Sleeper coach buses target attackers, three incidents still remain silent- श्रीगंगानगर और हनुमानगढ़ पुलिस बनी मूकदर्शक, बसों पर हमले जारी, बस ऑपरेटर लामबंद.

By: surender ojha

Published: 07 Apr 2021, 02:20 PM IST

श्रीगंगानगर. श्रीगंगानगर से जयपुर रूट पर संचालित हो रही विभिन्न ट्रेवल्र्स एजेंसिंयों की स्लीपर कोच बसो को निशाना बनाया जा रहा है। हमलावरों का गिरोह लगातार इन बसों के शीशे तोड़ रहा है। यहां तक कि सवारियों को भी चोटें पहुंचाने का प्रयास किया जा रहा है।

इस भय के माहौल में लोगों ने इन स्लीपर कोच में सफर करना अपने जीवन से जोखिम लेने की बात कहकर कन्नी काटने का प्रयास किया जा रहा है, इसके बावजूद श्रीगंगानगर और हनुमानगढ़ जिले की पुलिस मूक दर्शक बनी हुई है।

यहां तक कि हनुमानगढ़ में पहुंची श्रीगंगानगर की तीन बसों पर तोडफ़ोड़ की घटना होने के बावजूद पुलिस प्रशासन चुप्पी साध गया है। वहीं इन बसों में सफर करने वाली महिलाओं को अब सुरक्षा की चिंता सताने लगी है।

वहीं बस ऑपरेटरों का कहना है कि लेबर यूनियन नाम से कुछ असमाजिक तत्वों ने सभी ऑपरेटरों को धमकी दी थी कि यदि एक अप्रेल से बसों का संचालन करना है तो प्रत्येक रूट के एक सौ रुपए की रसीद कटवाई जाएं, नहीं होते रोजाना बसों पर हमले होंगे।

ऑपरेटरों ने इस यूनियन की बातों को नजर अंदाज किया तो पिछले तीन दिनों में तीन बसों से तोडफोड की घटना हो चुकी है। जैसे ही बसें श्रीगंगानगर से रवाना होकर हनुमानगढ़ पहुंचती है तो वहां पहले से तैयार तथाकथित यूनियन के युवाओं की टीम पथराव करना शुरू कर देती है। तीन घटनाएं होने के बावजूद पुलिस की गिरफ्त में एक भी हमलावर नहीं आया है।

एक ट्रेवल्र्स की बस जयपुर से श्रीगंगानगर लौट रही थी, रास्ते में हनुमानगढ टाऊन पर हमला कर उसके शीशे तोड़ दिए गए। वहीं अड़तालीस घंटे पहले भी हनुमानगढ़ जंक्शन बस स्टैंड पर भी एक अन्य स्लीपर कोच पर हमला कर तोडफ़ोड़ की गई थी। इस संबंध में प्राइवेट बस ऑपरेटसज़् की ओर से मुकदमा दजज़् करने के लिए परिवाद भी सौंपा गया था। लेकिन कोई सुनवाई नहीं हुई। निजी बस ऑपरेटर्स ने नामजद आरोपियों पर मुकदमा दर्ज करने की मांग की थी।

श्रीगंगानगर प्राइवेट बस ऑपरेटर यूनियन के सोनू अनेजा ने हनुमानगढ़और श्रीगंगानगर पुलिस प्रशासन से हमला कर रही गैंग पर एक्शन लेने की मांग की है। अनेजा का कहना है कि लेबर यूनियन के नाम से कुछ युवकों ने गैंग बनाकर अवैध वसूली के लिए मनमानी करना शुरू कर दी है। इस यूनियन को जब चंदा नहीं दिए तो कई ट्रेवल्र्स की बसों के शीशे तोड़े जा रहे है।

यदि एेसा ही चलता रहा तो कानून व्यवस्था भंग हो जाएगी। उन्होंने बताया कि बस ऑपरेटरों ने इस संबंध में हनुमानगढ़ और श्रीगंगानगर एसपी से मिलकर अवगत भी कराया लेकिन हमले लगातार जारी है।

Show More
surender ojha Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned