9 जून से 31 जुलाई तक ऑनलाइन लाइव कक्षाओं में पढ़ेगें विद्यार्थी

कॉलेज शिक्षा आयुक्तालय ने शुरू किया ज्ञानदूत कार्यक्रम

By: Krishan chauhan

Published: 29 May 2021, 11:06 AM IST

कॉलेज शिक्षा आयुक्तालय ने शुरू किया ज्ञानदूत कार्यक्रम---9 जून से 31 जुलाई तक ऑनलाइन लाइव कक्षाओं में पढ़ेगें विद्यार्थी

श्रीगंगानगर.कोरोना की दूसरी लहर के बीच प्रदेश भर के महाविद्यालयों और विश्वविद्यालयों में ग्रीष्मावकाश चल रहा है। तथा लॉकडाउन के चलते घरों में बैठे विद्यार्थी परीक्षाओं को लेकर असमंजस और निराशा की स्थिति में है। ऐसे में कॉलेज शिक्षा आयुक्तालय विद्यार्थियों के लिए जानदूत कार्यक्रम के रूप में एक सौगात लेकर आया है। इस कार्यक्रम के माध्यम से राज्य के सभी कॉलेजों के स्नातक व स्नातकोत्तर के विद्यार्थियों के लिए ऑनलाइन लाइन कक्षाओं की सुविधा व्यवस्था की गई है। विद्यार्थी घर बैठे ही इस योजना का लाभ उठा सकेंगे। गौरतलब है कि इस कार्यक्रम की मॉनिटरिंग का दायित्व आयुक्तालय के नवाचार व कौशल विकास प्रकोष्ठ को दिया गया है।

-निशुल्क लगेंगी कक्षाएं यह कार्यक्रम पुर्णतया नि:शुल्क मॉडल पर आधारित है इसलिए इसमें विद्यार्थियों से किसी प्रकार की फीस नहीं ली जाएगी। बता दें कि सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म पर इसे संचालित किया जाएगा। जिस पर खर्च होने वाली राशि का व्यय कॉलेज अपने स्थानीय मद से कर सकेंगे।

-3 जून से शुरू होगा पंजीकरण
ज्ञानदूत कार्यक्रम में विद्यार्थियों के लिए पंजीकरण की प्रक्रिया 3 जून से शुरू होगी जबकि यह कार्यक्रम 9 जून से शुरू होकर 31 जुलाई तक चलेगा। हालांकि विद्यार्थियों की मांग वे रूचि को देखते हुए से आगे भी बढ़ाया जा सकता है। इन कक्षाओं में विषयों की आत्मा माने जाने वाले उन 20-20 मुख्य अध्यायों को प्राथमिकता दी जाएगी,जो परीक्षा की दृष्टि से बेहद महत्वपूर्ण हैं। इन कक्षाओं के संचालन के लिए तीन से चार विषय विशेषज्ञों के समूह बनाकर उन्हें कॉलेजों में ज्ञानदूत के तहत ऑनलाइन लाइव क्लास संचालन की जिम्मेदारी दी जाएगी।

-शिक्षकों के पास स्वेच्छा से जुडऩे का विकल्प

ज्ञानदूत कार्यक्रम की खासियत है कि इसमें कॉलेज शिक्षकों को आयुक्तालय की ओर से कक्षाएं लेने के लिए बाध्य नहीं किया गया है। सभी शिक्षक अपनी मर्जी से इस कार्यक्रम से जुड़ रहे हैं। कार्यक्रम से जुडऩे के लिए शिक्षकों को 7 जून तक अपना पंजीकरण करवाकर नाम आयुक्तालय भेजना होगा। जानकारी के अनुसार बहुत से शिक्षक इस कार्यक्रम से जुडऩे में रुचि दिखा रहें है।
फैक्ट फाइल

-जिले में कॉलेज-09-राज्य में कॉलेज-305(यह डाटा सरकारी कॉलेज हैं)
कोविड के कारण युवा वर्ग अपने करियर और पढ़ाई को लेकर काफी तनाव में है। श्रीगंगानगर सहित राज्य के कॉलेज और विश्वविद्यालयों में पढऩे वाले इन्हीं युवाओं को पढ़ाई से जोडऩे का प्रयास ज्ञानदूत के जरिए किया जा रहा है।

-डॉ.आरसी श्रीवास्तव,प्राचार्य,डॉ.बीआर अंबेडकर राजकीय महाविद्यालय,श्रीगंगानगर।

Krishan chauhan Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned