88 दिन ही चली शुगर मिल,12 लाख क्विंटल गन्ना हुई पिराई

-पिछले वर्ष की तुलना में इस बार चीनी की रिकवरी में आई गिरावट

By: Krishan chauhan

Published: 19 Mar 2021, 11:42 AM IST

88 दिन ही चली शुगर मिल,12 लाख क्विंटल गन्ना हुई पिराई

-पिछले वर्ष की तुलना में इस बार चीनी की रिकवरी में आई गिरावट
श्रीगंगानगर.

राजस्थान स्टेट गंगानगर शुगर मिल्स लिमिटेड 2& एफ में गन्ना पिराई सत्र मंगलवार को संपन्न हो गया। इस सीजन में शुगर मिल में 88 दिन में ही 12 लाख 4 हजार 86 क्विंटल गन्ना पिराई हुई। जबकि यह पिछले छह वर्ष में सबसे ’यादा गन्ना पिराई का एक रिकॉर्ड है। जबकि पिछले वर्ष 106 दिन शुगर में गन्ना पिराई सत्र चला था और 10 लाख 83 हजार क्विंटल गन्ना पिराई हुई थी। इस बार मिल में गन्ना पिराई सत्र भी कम दिन चला और गन्ना पिराई भी ’यादा हुआ है। मिल में बार-बार ब्रेक डाउन की कोई ’यादा समस्या नहीं आई। साथ ही औसत प्रतिदिन 13 हजार 800 क्विंटल गन्ना पिराई हुई।
उल्लेखनीय है कि श्रीकरणपुर, केसरीसिंहपुर, पदमपुर, गजसिंहपुर सहित श्रीगंगानगर जिले में इस सीजन में दस हजार 500 बीघा में गन्ना की फसल थी। गन्ने का उत्पादन 18 लाख क्विंटल था और मिल को 12 लाख क्विंटल गन्ना पिराई के लिए मिला है।

इस सत्र में गन्ना पिराई ’यादा हुई है लेकिन चीनी की रिकवरी 7.27 प्रतिशत तक आई है। जबकि पिछले वर्ष चीनी की रिकवरी 8.03 प्रतिशत रही थी। चीनी की रिकवरी कम आने से चीनी कम बन पाई है। उल्लेखनीय है कि कमीनपुरा क्षेत्र के चक 2& एफ श्रीकरणपुर में नई शुगर मिल 16 जनवरी 2015 को शुरू हुई थी। पहले शुगर मिल में गन्ना पिराई श्रीगंगानगर में पुरानी शुगर मिल में हुआ करती थी। हालांकि नई मिल में पहले साल 5.88 प्रतिशत चीनी की रिकवरी रही थी।

गन्ना पिराई का गणित

वर्ष गन्ना पिराई
2015-16 8,88,864

2016-17 11,89,&27
2017-18 7,71,000

2018-19 11,61,15&
2019-20 10,8&,00

2020-21 12,4086

चीनी की रिकवरी
वर्ष रिकवरी

2015-16 5.88
2016-17 8.55

2017-18 9.02
2018-19 9.18

2019-20 8.0&
2020-21 7.27

शुगर मिल में मंगलवार को गन्ना पिराई सत्र बंद हो गया है। मिल प्रबंधन को इस बार गन्ना पिराई के लिए 12 लाख से अधिक गन्ना मिला है। इस बार गन्ना पिराई सत्र 88 दिन ही चला है।

रजनीश कुमार, मुख्य गन्ना विकास अधिकारी, राजस्थान स्टेट गंगानगर शुगर मिल्स लिमिटेड 2& एफ श्रीगंगानगर।

Krishan chauhan Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned