महज खानापूर्ति बना प्रशासन शहरों के संग अभियान

The administration became a mere consummation, campaigning with the cities- श्रीगंगानगर में नगर परिषद के वार्ड कैम्प में एक भी नहीं बना पट्टा.

By: surender ojha

Updated: 06 Oct 2021, 11:23 PM IST

श्रीगंगानगर. प्रशासन शहरों के संग अभियान में जिला मुख्यालय पर अलग अलग दो शिविर आयोजित हुए। पहला कैम्प नगर परिषद की ओर से आदर्शनगर पार्क में आयोजित किया गया। वहीं नगर विकास न्यास ने अपने ऑफिस में ही लोगों ेस पट्टे बनाने के आवेदन स्वीकार किए।

चार दिन पहले गांधी जयंती पर प्रदेश व्यापी इस अभियान से अधिकाधिक लोगों को भूखंडों के पट्टे देने का लक्ष्य निर्धारित किया गया है। दुर्गा मंदिर के पास आदर्शनगर पार्क में नगर परिषद की ओर से आयोजित इस विशेष शिविर में वार्ड ३१ से ३५ तक के लोगों के लिए पट्टे के आवेदन मांगे गए थे।

लेकिन लोगों ने इस शिविर में ज्यादा रुझान नहीं दिखाया। नगर परिषद आयुक्त सचिन यादव की अगुवाई में इस शिविर में लोगों की जनसमस्याओं को भी सुना। शिविर प्रभारी फरसाराम बिश्नोई ने बताया कि पट्टे बनवाने के लिए पांच आवेदन आए है।

इसके अलावा नामान्तरण कराने के लिए लोगों ने आवेदन किए है। इसके साथ साथ कई समस्याओं के बारे में भी आयुक्त को ज्ञापन देने के लिए लोग पहुंचे। इधर, मुखर्जीनगर के कई लोगों ने आयुक्त को ज्ञापन दिया।

इसमें बताया कि केन्द्रीय बस स्टैण्ड पर बने शौचालय से गंदा पानी उनके घरों के आगे नालियों से आता है। इस शौचालय की खराबी होने के कारण गंदगी के ढेर सड़कों पर लगे रहते है। इस संबंध में पाइप लाइन से व्यवस्था सुधारने की मंाग की।

इधर, पार्षद किशन चौहान की अगुवाई में पार्षदों ने इस शिविर में कच्ची बस्तियों के पट्टे देने में वर्ष २००४ की सर्वे रिपोर्ट की बाध्यता को हटाने की मांग की। चौहान के अनुसार जरुरतमंद लोग अपने परिवार को पालने के लिए सुबह से शाम तक दिहाड़ी करने के लिए घर से बाहर रहते है।

इस दौरान कोई सर्वे टीम कच्ची बस्तियों में आई थी लेकिन अधिकांश लोगों का नाम सर्वे में शामिल नहीं किया। इस सर्वे रिपोर्ट के बिना कच्ची बस्तियों में रहने वाले लोगों के भूखंडों के पट्टे नहीं बन रहे है।

आयुक्त का कहना था कि यह डीएलबी स्तर का मामला है। इस विसंगति को दूर करने के लिए संबंधित शिकायत को डीएलबी भिजवाई जा रही है।

प्रदेश व्यापी प्रशासन गांवों के संग अभियान के तहत शुक्रवार को जिले की 8 ग्राम पंचायतों में शिविर आयोजित किए जाएंगे। जिला कलक्टर जाकिर हुसैन ने बताया 8 अक्टूबर को ग्राम पंचायत गणेशगढ़, अलीपुरा, मानकसर, 11 ईईए, 6/8 एलपीएम, 10 केडी, 7 जीबी व गुरूसर मोडिया में शिविर आयोजित किये जायेंगे।

इसी प्रकार 11 अक्टूबर को ग्राम पंचायत मदेरा, रोटावाली, मुकन, 23 बीबी, बाजुवाला, 9 एमडी, 41 जीबी, गोविंदसर, 12 अक्टूबर को 4 एमएल, 8वी, सांवतसर, कंवरपुरा, 27ए, 12 केएनडी, 24 जीबी, सरदारगढ़, 14 अक्टूबर को ग्राम पंचायत पक्की, किलावाली, खरलां, 3 आरबीए, 61 जीबी, 12 एमएलडीए, भैरूपुरा में, 18 अक्टूबर को 2 एमएल, नारायणगढ़, 56 एफ, 4 बीबी, 12 एनआरडी, 10एएस तथा 7 एसजीएम में और 20 अक्टूबर को ग्राम पंचायत बख्ताना, ताखरावाली, अरायण, 39 आरबी, 22 पीटीडीबी, 30 एपीडी, 13डीओएल, 17 जीबी तथा 13 एसडी में शिविर आयोजित किए जाएंगे।

प्रशासन शहरों के संग अभियान में जिला मुख्यालय पर नगर परिषद की ओर से बुधवार को आदर्शनगर पार्क में शिविर आयोजित किया गया।

यह शिविर आठ अक्टूबर भी इसी पार्क में लगेगा। नगर परिषद आयुक्त सचिन यादव ने बताया कि 8 अक्टूबर को आदर्शनगर पार्क मेंसुबह 10 बजे से सायं 4 बजे तक शिविर फिर से आयोजित होगा।

इसी प्रकार 11 व 12 अक्टूबर को गांधी पार्क में वार्ड ३६ व ३७ के लिए , 18 व 20 अक्टूबर को एल ब्लॉक पार्क में वार्ड ३८ से ४० तक के लिए, 22 व 25 अक्टूबर को शिव वाटिका में वार्ड 44 व 45 के लिए आयोजित किया जाएगा।

surender ojha Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned