पंजाब से नहरों में आ रहा दूषित पानी,यहां की लैब ने सही बताया,अब हैवी मैटल की जांच जयपुर से होगी

हरिके बैराज से राजस्थान की नहरों में दूषित व गंदा पानी आने का सिलसिला नहीं थमा

By: Krishan chauhan

Published: 11 Jun 2021, 08:41 AM IST

हरिके बैराज से राजस्थान की नहरों में दूषित व गंदा पानी आने का सिलसिला नहीं थमा--पंजाब से नहरों में आ रहा दूषित पानी,यहां की लैब ने सही बताया,अब हैवी मैटल की जांच जयपुर से होगी

श्रीगंगानगर.पंजाब के हरिके बैराज से राजस्थान की नहरों में प्रदूषित पानी आने का सिलसिला अभी तक थम नहीं रहा है। राजस्थान की आइजीएनपी,भाखड़ा व गंगकैनाल में पानी प्रवाहित किया जा रहा है। दूषित पानी को लेकर जिला कलक्टर ने कहा कि मुख्य अभियंता ने उच्चाधिकारियों से बातचीत कर पानी नहीं डालने के लिए फिर से आग्रह किया है। वहीं,जन स्वास्थ्य अभियांत्रिकी विभाग ने पानी की गुणवत्ता की जांच कर रहा है। इसमें हैवी मैटल की जांच करने के लिए चार पानी के नमूने विभाग के अधीक्षण अभियंता के साथ जयपुर की लैब में भेजे गए हैं। इनमें छह जून को बीरधवाल,सात जून को शिवपुर हैड व साधुवाली हैड और आठ जून को भाखड़ा नहर की पीटीपी माइनर के गांव प्रतापपुरा से एक-एक पानी के नमूनें लिए हैं। अब इन नमूनों में हैवी मैटल की जांच जयपुर स्थित लैब से करवाई जा रही है। उल्लेखनीय है कि 27 मई को हैवी मैटल की जांच के लिए नमूने लेकर जयपुर की लैब में भेजे गए थे। जिसकी जांच रिपोर्ट जून के प्रथम सप्ताह में विभाग को मिली। इस रिपोर्ट में नॉन डिटेक्ट आई है।
किसान नेता अमर सिंह बिश्नोई का कहना है कि हरिके बैराज से आ रहा यह पानी पीने के काबिल ही नहीं। यह पानी औद्योगिक इकाइयों का पानी है और इनमें अपशिष्ट मिले हुए हैं। पानी काला है,दूषित है और दूर-दूर तक बदबू मार रहा है। यह प्रदूषित जल राजस्थान की नहरों में आ रहा है। जबकि सच्चाई है कि यह पानी पीने के काबिल ही नहीं है। इस पानी में यूरेनियम,आरसेनिक लेड,एल्यूमीयिम व नाइट्रेट जैसे खतरनाक तत्व मिल चुके हैं।

क्या है पानी पीने के काबिल है?
गंगनहर की जीवनदेर हैड पर पशुओं की बॉडी अटकी पड़ी है। इनको कुत्ते नौंच रहे हैं तथा यही पानी आगे जा रहा है। इस पानी को आम व्यक्ति पीने के काम में ले रहे हैं। इसकी तरफ जल संसाधन विभाग कोई ध्यान नहीं दे रहा है। मृत पशुओं की वजह से पानी प्रदूषित ही हो रहा है।

—------------—

हैवी मैटल की करवाई जा रही है जांच

नहरों में आ दूषित पानी आने की सूचना पर लैब स्टाफ नियमित रूप से पानी के नमूने लेकर लैब में जांच कर रही है। पानी के नमूनों की जांच रिपोर्ट में पानी की गुणवत्ता सही पाई जा रही है। अब हैवी मैटल के नमूनों की जांच जयपुर भिजवाई गई हैं।

प्रभा बंसल,जिला कनिष्ठ रसायनज्ञ,जिला स्तरीय जल विश्लेषण एवं पेयजल निगरानी जिला प्रयोगशाला श्रीगंगानगर

—---------गंभीर बीमारियां होने की आशंका

पंजाब से राजस्थान की नहरों में आ रहा पानी बहुत ज्यादा दूषित है। इस पानी में बहुत से हैवी मैटल्स व कैमिकल्स मिले हुए हैं। इससे आम व्यक्ति विभिन्न प्रकार की गंभीर बीमारियों की चपेट में आ रहा है। इस पानी को फिल्टर व शुद्ध करके तथा उबाल कर ठंडा कर पीना चाहिए।

डॉ.पवन सैनी,वरिष्ठ फिजिशियन,राजकीय जिला चिकित्सालय,श्रीगंगानगर।

मुख्य अभिंयता व अन्य अधिकारी पंजाब के संपर्क में

हरिके बैराज से राजस्थान की आइजीएनपी,गंगनहर व भाखड़ा नहर परियोजनाओं में गंदा व दूषित पानी नहीं आए। इसके लिए विभाग के मुख्य अभियंता व जयपुर स्तर के उच्च अधिकारी पंजाब के अधिकारियों से संपर्क में है और दूषित पानी नहरों में नहीं डालने के लिए आग्रह किया है। साथ ही जिले में जन स्वास्थ्य अभियांत्रिकी विभाग के अधीक्षण अभियंता को पानी के नमूने लेकर जांच करने के लिए पाबंद किया है।
जाकिर हुसैन,जिला कलक्टर,श्रीगंगानगर।

Krishan chauhan Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned