इलाके की जनता को आज मिलेगी चिकित्सा के क्षेत्र में बड़ी सौगात

 

-राजकीय मेडिकल कॉलेज का केंद्रीय मंत्री और मुख्यमंत्री करेंगे वर्चुअल शिलान्यास

-325 करोड़ की लागत से बनेगा श्रीगंगानगर जिला मुख्यालय पर मेडिकल कॉलेज

By: Krishan chauhan

Published: 09 May 2021, 10:34 AM IST

इलाके की जनता को आज मिलेगी चिकित्सा के क्षेत्र में बड़ी सौगात

-राजकीय मेडिकल कॉलेज का केंद्रीय मंत्री और मुख्यमंत्री करेंगे वर्चुअल शिलान्यास

-325 करोड़ की लागत से बनेगा श्रीगंगानगर जिला मुख्यालय पर मेडिकल कॉलेज

श्रीगंगानगर.कोरोना संक्रमण की गाइड लाइन की पालना करते हुए राजकीय मेडिकल कॉलेज के निर्माण कार्य का शिलान्यास रविवार दोपहर तीन बजे चिकित्सा एवं स्वास्थ्य केंद्रीय मंत्री हर्षवर्धन, मुख्यमंत्री अशोक गहलोत एवं चिकित्सा मंत्री रघु शर्मा, गंगानगर विधायक राजकुमार गौड़ सहित अन्य जनप्रतिनिधि करेंगे। कलक्ट्रेट के सभाकक्ष की वीसी कक्ष से शिलान्यास कार्यक्रम होगा। कॉलेज निर्माण से क्षेत्र की जनता को उपचार के लिए बीकानेर ,जयपुर व लुधियाना नहीं जाना पड़ेगा। साथ ही यहां पर रोजगार की अपार संभावनाएं बढ़ जाएंगी। कॉलेज निर्माण लिए 325 करोड़ रुपए की राशि पहले ही मंजूर हो रखी है। उल्लेखनीय है कि मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने बजट घोषणा में श्रीगंगानगर जिले में मेडिकल कॉलेज निर्माण की घोषणा की थीं।

-प्रथम चरण में 71.44 करोड़ रुपए होंगे खर्च
मेडिकल कॉलेज निर्माण की डिटेल प्रोजेक्ट रिपोर्ट फाइनल होने के बाद इसके वर्क ऑर्डर जार कर दिए गए। आरएसआरडीसी के परियोजना निदेशक बीएस स्वामी ने बताया कि निर्माण एजेंसी राजस्थान स्टेट रोड डेवलेमेंट एंड कंस्ट्रक्शन कॉर्पोरेशन लिमिटेड आरएसआरडीसी ने श्रीगंगानगर की फर्म मैसर्स रमेश कुमार बंसल को एक सप्ताह पहले वर्क ऑर्डर जारी करते हुए 28 मई तक निर्माण कार्य शुरू करने के लिए निर्देशित किया हुआ है। पहले चरण में कॉलेज भवन निर्माण कार्य पर 71.44 करोड़ रुपए की राशि खर्च होगी।

27 नवंबर तक करना होगा पहले चरण का कार्य पूर्ण
पहले चरण के भवन निर्माण का कार्य 27 नंवबर 2022 तक पूरा करना होगा। इसमें कॉलेज का प्रशासनिक भवन,चार हॉस्टल ओर सहायक कर्मिकयों के लिए क्वार्टर, सेमिनार हाल और लेक्चर थियटर्स बनाएं जाएंगे। कॉलेज भवन की उंचाई भूतल के अलावा आठ मंजिल तक होगी। प्रोजेक्ट डायरेक्टर स्वामी ने बताया कि निर्माण फर्म को बैंक गांरटी के लिए तीन प्रतिशत यानी दो करोड़ 14 लाख 32 हजार 371 रुपए होंगे।

- विधायक राजकुमार गौड़ ने कहा कि मुख्यमंत्री ने जो कहा वो किया है तथा श्रीगंगानगर की जनता के लिए यह एक एतिहासिक पल होगा। स्वीकृत राशि 446 करोड से बढकऱ 750 करोड़ रुपए तक हो गई। एमबीबीएस के प्रथम वर्ष में 150 छात्रों का प्रवेश होगा।
शिलान्यास हुआ,कॉलेज का निर्माण कार्य सिरे नहीं चढ़ा
श्रीगंगानगर जिले में मेडिकल कॉलेज स्वीकृति को लेकर राजस्थान पत्रिका ने अभियान शुरू किया। शहर की जनता मेडिकल कॉलेज को लेकर अंदोलन करने लगी। इस बीच उद्योगपति बीडी अग्रवाल ने मेडिकल कॉलेज के लिए 100 करोड़ रुपए दान का चैक लेकर खूब सुर्खियां बटोरी थीं। सेठ बीडी अग्रवाल राजकीय मेडिकल कॉलेज के भवन का 12 सितंबर 2013 में मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने शिलान्यास भी किया लेकिन बाद में राज्य में सरकार बदली और निर्माण अटक गया।

.मेडिकल कॉलेज
कॉलेज के लिए पर्याप्त भूमि, नौ बीघा अतिरिक्त ली
चिकित्सा एवं स्वास्थ्य विभाग ने सूरतगढ़ रोड स्थित जिला चिकित्सालय परिसर में 9.043 हैक्टेयर जमीन का सरकारी मेडिकल कॉलेज के नाम से यूआइटी से पट्टा जारी कुछ माह पहले करवा लिया था। यूआटी से जमीन का कब्जा भी ले लिया।मेडिकल कॉलेज के लिए चिन्हित 9.046 हैक्टेयर भूमि का आकार एक लाख 9 हजार 201 वर्ग गज है। स्टाफ क्वार्टर के लिए जिला प्रशासन ने यूआईटी से मेडिकल कॉलेज के नाम से नौ बीघा भूमि सद्भावना नगर स्थित सांई मंदिर के सामने ली है। वहां पर स्टाफ के क्वार्टरों का निर्माण कार्य प्रस्तावित है।

मेडिकल कॉलेज बनने पर 350 बैड अस्पताल भी बनेगा
जिला चिकित्सालय में 350 बैड की क्षमता है। इसके लिए पर्याप्त जमीन भी उपलब्ध है। सरकारी मेडिकल कॉलेज नहीं होने से श्रीगंगानगर में मेडिकल कॉलेज बनाने की आवश्यकता है तथा मेडिकल कॉलेज के सभी मापदंडों को पूरा कर रहा है। मेडिकल कॉलेज के साथ वर्तमान में चिकित्ससालय में 350 बैड और 350 बैड का अस्पताल और बन जाएगा। इसके बाद 700 बैड का अस्पताल हो जाएगा।

फैक्ट फाइल-

मेडिकल कॉलेज पर राशि खर्च होगी-325 करोड़
-केंद्र सरकार का हिस्सा-60 प्रतिशत

-राज्य सरकार का हिस्सा-40 प्रतिशत
-केंद्र सरकार का हिस्सा-195 करोड़

-राज्य सरकार का हिस्सा-130 करोड़

Krishan chauhan Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned