सोशल डिस्टेसिंग का नियम केवल प्रवासियों के लिए, अधिकारी व कर्मचारियों पर नहीं

ट्रेन जाने के बाद उड़ गई प्लेटफॉर्म पर डिस्टेसिंग के नियमों की धज्जियां

By: Raj Singh

Published: 24 May 2020, 11:26 PM IST

श्रीगंगानगर. रेलवे स्टेशन पर रविवार दोपहर को बारह बजे बिहार के प्रवासी श्रमिकों को एक स्पेशल ट्रेन में रवाना किया गया, जहां सभी को सोशल डिस्टेसिंग की पालना कराई गई लेकिन ट्रेन रवाना होने के बाद प्लेटफॉर्म पर तमाम अधिकारियों व शहर विधायक की मौजूदगी में सोशल डिस्टेसिंग की पालना नहीं हो पाई। ट्रेन जाने के बाद भीड़ जमा हो गई।


कोरोना संक्रमण को रोकने के लिए लॉक डाउन में मास्क लगाना व सोशल डिस्टेसिंग रखना अतिआवश्यक है। इसके लिए केन्द्र व राज्य सरकार, पुलिस व प्रशासनिक अधिकारियों की ओर से बार-बार लोगों को यह अवगत कराया जा रहा है और उनसे सोशल डिस्टेसिंग की पालना कराई जा रही है।

रविवार को बिहार के प्रवासियों को ट्रेन में चढ़ाने के दौरान भी सभी नियमों की पूर्णतया पालना कराई गई। उनको यहां सोशल डिस्टेसिंग में लगाया गया। एक डिस्टेंस बनाते हुए स्टेशन के अंदर प्रवेश दिया गया। प्लेटफॉर्म पर भी उनको एक मीटर दूरी पर बनाए गए गोलों में बैठाया गया या खड़ा किया गया।

इस दौरान वहां काफी संख्या में मौजूद सभी अधिकारी व कर्मचारी, मीडियाकर्मियों ने भी सोशल डिस्टेसिंग की पालना की। शहर विधायक भी यहां पहुंचे थे। लेकिन जैसे ही ट्रेन रवाना होना शुरू हुई तो सोशल डिस्टेसिंग बिगड़ती गई और ट्रेन के जाने के बाद तो किसी को सोशल डिस्टेसिंग का ध्यान ही नहीं रहा। प्लेटफॉर्म नंबर एक पर काफी संख्या में मौजूद अधिकारी व कर्मचारी सोशल डिस्टेसिंग ही भूल गए।

इस दौरान स्टेशन पर मेले जैसा नजारा देखने को मिला। सभी लोग अपने-अपने कार्यों से फ्री होकर एक जगह जमा हो गए। जबकि यहां सभी विभागों के अधिकारियों व कर्मचारियों तथा मीडियाकर्मियों के अलावा अन्य कोई व्यक्ति मौजूद नहीं था।

Raj Singh Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned