मोबाइल में ‘घंटी’ बजेगी तभी खुलेगा स्कूल का ताला

सीमावर्ती गांव दस एच सुंदरपुरा का मामला, दूसरे दिन नहीं खुला स्कूल, अधिकारियों की ग्रामीणों से वार्ता विफल

By: Ajay bhahdur

Updated: 03 Dec 2019, 07:09 PM IST

श्रीकरणपुर (श्रीगंगानगर). मोबाइल नेटवर्क व लैंडलाइन संचार सुविधा सुचारू करने की मांग पर सीमावर्ती गांव दस एच सुंदरपुरा में लगातार दूसरे दिन मंगलवार को भी राजकीय उच्च प्राथमिक स्कूल पर तालाबंदी की गई। प्रशासन व शिक्षा अधिकारियों ने मौके पर जाकर ग्रामीणों से समझाइश कर ताला खोलने का आग्रह किया लेकिन प्रयास विफल रहे। ग्रामीणों का कहना है कि मांग पूरी होने तक आंदोलन जारी रहेगा।

जानकारी अनुसार गांव दस एच सुंदरपुरा के ग्रामीणों नवजोत सिंह, देवेन्द्र सिंह, आशीष सिद्धू, कुलजीत सिंह, गुरजंट सिंह, काला सिंह, जितेन्द्र सिंह, गगन सिंह, स्माइलदीप सिंह व गुरभेज सिंह आदि ने मंगलवार सुबह भी तालाबंदी कर धरने पर बैठे। इस दौरान केसरीसिंहपुर के नायब तहसीलदार जगदीशचंद्र बिश्नोई व सीबीइओ सुरेन्द्र अरोड़ा मौके पर पहुंचे और स्कूल खोलने का आग्रह किया। लेकिन ग्रामीण अपनी बात पर अड़े रहे। ग्रामीणों ने उन्हें बताया कि करीब ढाई सौ लोगों की आबादी वाले गांव में पिछले दस माह से किसी मोबाइल कंपनी का नेटवर्क उपलब्ध नहीं है। इससे उनके मोबाइल खिलौना बनकर रह गए हैं। ग्रामीणों को राशन लेने के लिए भी गांव से करीब दो किमी बाहर आना पड़ता है। उन्होंने बताया कि गांव में १५-२० बेसिक फोन (लैंडलाइन कनेक्शन) हैं लेकिन वे भी मृत पड़े हैं। इस संबंध में बीएसएनएल अधिकारियों व उपखंड प्रशासन को कई बार ज्ञापन सौंपे जा चुके हैं लेकिन कोई कार्रवाई नहीं हो रही।

अनुमति पर मिलेगा नेटवर्क...
ग्रामीणों से वार्ता विफल होने पर शाम करीब चार बजे नायब तहसीलदार बिश्नोई, सीबीइओ अरोड़ा व आरपी परमवीरसिंह बराड़ ने एसडीएम मूलचंद लूणिया को मामले की जानकारी दी। मौके पर पहुंचे कांग्रेस ब्लॉक अध्यक्ष गुरचरणसिंह बराड़ व कुलविंद्र सिंह मलकानाकलां ने ग्रामीणों की मांग जायज बताते हुए कार्रवाई की मांग की। इस पर एसडीएम ने बीएसएनएल लैंड लाइन सुविधा दो दिन में सुचारू होने का भरोसा दिलाया। वहीं, दो अलग-अलग निजी कंपनियों के अधिकारियों से बात कर वहां नेटवर्क सुविधा देने की बात कही। लेकिन उन्होंने इसे राष्ट्रीय सुरक्षा से जुड़ा मामला बताते हुए प्रशासन के साथ आर्मी व बीएसएफ से अनुमति दिलाने की बात कही।

Ajay bhahdur
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned