स्कूल हाईवे रोड पर होने के बावजूद नहीं है जेब्रा लाइन व सांकेतिक बोर्ड

https://www.patrika.com/sri-ganganagar-news/

-डर के साए में बच्चों का भविष्य सवारने की कवायद

-अभिभावकों व अध्यापकों की अटकी रहती हैं सांसे

राजियासर.नेशनल हाईवे 62 पर स्थित राजकीय उच्च प्राथमिक विद्यालय बिरधवाल स्टेशन के सरकारी स्कूल में डर के साए में बच्चों का भविष्य संवारने की कवायद हो रही है। खतरे का अंदाजा इस बात से लगाया जा सकता है कि स्कूल के ऊपर से 33000 वोल्टेज की तथा स्कूल के आगे से 11000 वोल्टेज की बिजली की लाइन गुजर रही है। स्कूल का मुख्य गेट हाईवे के सामने से खुलता है।

स्कूल के पास में स्थित होटल पर ट्रकों की भारी भीड़ व स्कूल पास में पानी की खाली पड़ी डिग्गी बच्चों के लिए खतरा बनी हुई है। स्कूल के दोनों और आबादी होने के कारण बच्चों को सड़क पार करनी पड़ती है । इतना होने के बावजूद भी प्रशासन व एमबीएल टोल कंपनी ने न तो यहां कोई जेब्रा लाइन बनाई है और ना ही कोई सांकेतिक बोर्ड लगा है। नेशनल हाईवे , थर्मल व श्री सीमेंट फैक्ट्री होने के कारण दिन में हजारों की संख्या में वाहनों की आवाजाही रहती है। कुछ वर्ष पहले रोड पार करते समय एक बच्चे की ट्रक के चपेट में आने से मौत हो चुकी है।

-सबसे बड़ी परेशानी नहीं कोई सुनवाई

ग्रामीण मोहम्मद सिराज ,दलीप व अनवर आदि ने बताया कि बच्चों, अभिभावकों व अध्यापकों के लिए सबसे बड़ी परेशानी यह है कि स्कूल का मुख्य गेट हाईवे पर खुलता है।साथ ही स्कूल के ऊपर वाले आगे से हाई वोल्टेज की बिजली तारे गुजर रही है साथ ही स्कूल के उत्तर साइड के हाईवे पर ढलान बहुत अधिक है इससे वाहन चालक चाह कर भी वाहन शीघ्र रोक नहीं सकता।

ग्रामीणों ने बताया कि प्रशासन व एमबीएल टोल कंपनी की ओर से कोई जेब्रा लाइन व हाईवे रोड पर कोई सांकेतिक बोर्ड नहीं लगाए गए हैं। जिसे खतरे की आशंका और बढ़ जाती है उन्होंने बताया कि इसको लेकर ग्रामीण कई बार धरने प्रदर्शन कर मांग कर चुके हैं लेकिन उनकी कोई सुनवाई नहीं की गई।

-प्रार्थना में दी जाती है की हिदायत

स्कूल का मुख्य गेट हाईवे की ओर होने कारण बड़ी परेशानी झेलनी पड़ती है। स्कूल के शुरू होने से लेकर पूरी छुट्टी तक स्कूल बच्चों को एक प्रतिदिन एक अध्यापक की निगरानी में सड़क पर करवानी पड़ती है। प्रार्थना सभा में भी बच्चों को सड़क पार करते समय विशेष ध्यान रखने की हिदायत दी जाती है। समस्या के बारे में कई बार स्कूल प्रशासन की ओर से लिखित में अवगत कराया जा चुका है।..............-चंद्रकला शर्मा प्रधानाध्यापिका, राजकीय उच्च प्राथमिक विद्यालय बिरधवाल स्टेशन

-पीडब्ल्यूडी ने दी स्कूल की लोकेशन

सड़क निर्माण के समय पीडब्ल्यूडी विभाग की ओर से स्कूल की लोकेशन नहीं दी गई। कंपनी की ओर से अभी भी निर्माण कार्य जारी है। पीडब्ल्यूडी से स्कूल की लोकेशन लेकर विद्यालय के पास सांकेतिक बोर्ड या जेब्रा लाइन का निर्माण करवाया दिया जाएगा।-......................-प्रदीप राठी, कॉरिडोर मैनेजर एमबीएल टोल कंपनी

Rajaender pal nikka Photographer
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned