अवैध शराब निर्माण की सूचना देने वाले को अब मिल सकेंगे एक लाख रुपए

- आबकारी विभाग की ओर से चलाई जा रही मुखबिर प्रोत्साहन योजना

By: Raj Singh

Published: 05 Feb 2021, 11:43 PM IST

श्रीगंगानगर. अवैध शराब निर्माण को रोकने के लिए राज्य सरकार ने नई पहल की है। अवैध शराब निर्माण की सूचना देने वाले को आबकारी विभाग की ओर से अब एक लाख रुपए की प्रोत्साहन राशि दी जा सकेगी। यही नहीं, सूचना देने वाले व्यक्ति का नाम गोपनीय रखा जाएगा।


श्रीगंगानगर जिले में अवैध शराब के कारोबार को जड़ से खत्म करने के लिए प्रभावी ढंग से कार्य किया जा रहा है। मुखबिर प्रोत्साहन योजना के तहत अवैध शराब के सम्बन्ध में सूचना देने पर प्रोत्साहन का प्रावधान किया गया है। इसके अतिरिक्त अभियान की अवधि में अवैध मदिरा के संग्रहण, भंडारण, परिवहन और बिक्री के सूचना देने पर सही पाए जाने पर एक लाख रुपए दिए जा रहे हैं। इस राशि का वितरण जिला कलक्टर की ओर से लैब की जांच से प्रमाणीकरण करने के बाद किए जाने का प्रावधान रखा गया है।


अवैध शराब के खिलाफ कई जगह हुई कार्रवाई
भरतपुर व भीलवाड़ा जिले में हुई शराब दु:खांतिका को मध्यनजर महावीर प्रसाद वर्मा जिला कलक्टर के निर्देशन में जिला प्रशासन, पुलिस व आबकारी विभाग की ओर से विशेष निरोधात्मक अभियान चलाया गया है।


जिला आबकारी अधिकारी प्रतिष्ठा पिलानिया के निर्देशन में श्रीगंगानगर शहर के आबकारी निरीक्षक सुरेश मय जाब्ता की ओर से रेड, गश्त के दौरान आरोपी पक्की हिन्दुमलकोट निवासी मखन सिंह पुत्र जोगेन्द्र सिंह के कब्जे से चार लीटर हथकढ़ शराब बरामद कर मामला दर्ज किया।

श्रीगंगानगर ग्रामीण के आबकारी थानाप्रभारी मय जाब्ता की ओर से चुनावढ़ तहसील क्षेत्र के गांव 24 एमएल में कार्रवाई के दौरान 200 लीटर लाहण नष्ट किया। रायसिंहनगर के आबकारी निरीक्षक व थानाप्रभारी व मुकलावा पुलिस थानाप्रभारी की ओर से गांव 8 एनपी, 15 एनपी, 22 एनपी, डाबला, उड़सर में संयुक्त कार्रवाई के दौरान अवैध शराब के उपकरण व 300 लीटर लाहण नष्ट की गई।

अनूपगढ़ क्षेत्र के आबकारी थानाप्रभारी मय जाब्ता की ओर से गांव बाण्डा, बाण्डा कॉलोनी, सलेमपुरा में रेड, गश्त के दौरान 600 लीटर लाहण नष्ट तथा सलेमपुरा निवासी गुरनाम सिंह उर्फ ज्ञानी पुत्र अमर सिंह रायसिक्ख व ऋषी कुमार पुत्र मदनलाल रायसिक्ख से 9 लीटर हथकढ़ शराब बरामद कर आबकारी अधिनियम के तहत दो अभियोग दर्ज किए।

Raj Singh Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned