सूरतगढ़ व हनुमानगढ़ स्टेशन पर लावारिस मिली बालिकाएं जुड़वा बहनें निकली, परिजनों को सौंपा

Raj Singh Shekhawat | Updated: 28 Apr 2019, 11:32:52 PM (IST) Sri Ganganagar, Sri Ganganagar, Rajasthan, India

सौतेली मां ही छोड़ गई थी दो बहनों को लावारिस
श्रीगंगानगर. सूरतगढ़ व हनुमानगढ़ रेलवे स्टेशन पर 18 एवं 19 अप्रेल को लावारिस हालत में मिली दो बालिकाओं का मिलन आश्रम में हुआ। वे दोनों जुड़वा बहनें निकली। चाइल्ड लाइन ने इनके परिजनों पता लगाकर रविवार को उनके सुपुर्द कर दिया। इनकी सौतेली मां ही झगड़े के बाद दोनों को अलग-अलग रेलवे स्टेशनों पर छोडकऱ चली गई थी।
चाइल्ड लाइन जिला समनवयक त्रिलोक वर्मा ने बताया कि सूरतगढ़ स्टेशन पर लावारिस मिली चार वर्षीया बालिका जसवीर को आरपीएफ ने चाइल्डलाइन के माध्यम से बाल कल्याण समिति के समक्ष प्रस्तुत किया था। जिसे आश्रय के लिए विवेक आश्रम भेजा था। दूसरी बालिका को जीआरपी पुलिस हनुमानगढ़ ने बाल कल्याण समिति हनुमानगढ़ के समक्ष पेश किया था। हनुमानगढ़ में आश्रय गृह नहीं होने के कारण बालिका को विवेक आश्रम भेज दिया। जब दोनों बालिकाएं आपस में मिली तो दोनों गले लग गई। आश्रम एवं बाल कल्याण समिति के सदस्यों ने बालिकाओं जानकारी ली तो दोनों सगी बहनें निकली। बालिकाओं ने काउंसलिग में बताया की मां स्टेशन पर छोड़ चली गई थी। इन बच्चियों की तपोवन चाइल्डलाइन एवं बाल कल्याण समिति ने प्रोफाइल तैयार कर आस-पास के चाइल्डलाइन एवं बाल कल्याण समितियों को भेजी थी। चाइल्डलाइन फाजिल्का ने दोनों बालिकाओं की जैविक मा को खोज निकाला।
इसलिए छोड़ गई सौतेली मां बालिकाओं को लावारिस
जलालाबाद फाजिल्का निवासी बालिका जसवीर एवं जशन दोनों जुड़वा बहनें है। इनकी सौतेली मां छिंदरपाल कौर व असली मां अमन कौर ने बलविन्द्र सिंह से शादी कर रखी है। दोनों महिलाओं ने अपने पतियों से तलाक ले रखा है। बलविन्द्र सिंह भी तलाक शुदा है। दो बालिकाएं अमन कौर के पहले पति की हैं। बलविंद्र व अमन कौर मजदूरी करते हैं और छिंदरपाल कौर घर संभालती है। पिछले दिनों दोनों महिलाओं में घर में किसी बात को लेकर मारपीट हो गई। इससे नाराज छिंदरपाल दोनों बालिकाओं को कपड़े दिलाने के बहाने ले गई। इसके बाद बालिकाओं व उसका कहीं पता नहीं चल पाया। इस पर बलविंद्र सिंह ने फाजिल्का सदर थाने में उनकी गुमशुदगी की रिपोर्ट दर्ज कराई। सूचना मिलने के बाद रविवार को बालिकाओं की मां व अन्य परिजन यहां पहुंचे। चाइल्ड लाइन व बाल कल्याण समिति ने उनका वैरिफिकेशन करने के बाद बालिकाओं के सुपुर्द कर दिया। इस दौरान बाल कल्याण समिति अध्यक्ष अधिवक्ता लक्ष्मीकांत सैनी, प्रदीप धेरड आदि थे।
दो बच्चे लावारिस हालत में मिले, परिजनों की तलाश
-रविवार को पौने नौ बजे दो बच्चे हाउसिंग बोर्ड हनुमान मंदिर के पास लावारिस मिले है। चाइल्ड लाइन को सूचना मिलने पर टीम वहां पहुंची और बच्चों को अपने संरक्षण में ले लिया है। दोनों बच्चे अपना नाम व पता बताने में असमर्थ हैं। चाइल्ड लाइन ने दोनों बच्चों को बाल कल्याण समिति अध्यक्ष के समक्ष पेश किया। जिनको विवेक आश्रम में भिजवाया गया है। बच्चों के परिजनों की तलाश की जा रही है। कुछ घन्टो बाद परिजन मिल गए। जिनको बच्चो को सौंप दिया गया।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned