Video: बिना निर्माण हजम कर गए सवा करोड़, बीडीओ सहित कई जनों की कारस्तानी

अधिकारियों ने मिलीभगत कर पांच ग्राम पंचायतों में एक करोड़ 17 लाख 48 हजार 459 रुपए का गबन कर लिया

By: सोनाक्षी जैन

Published: 09 Feb 2018, 01:14 PM IST

श्रीगंगानगर. पंचायत चुनाव 2015 की आचार संहिता लगी होने के बावजूद पंचायत समिति घड़साना के तत्कालीन विकास अधिकारी अमित कुमार जैन, तत्कालीन ग्राम सचिव, तत्कालीन सरपंच और अन्य तकनीकी अधिकारियों ने मिलीभगत कर पांच ग्राम पंचायतों में एक करोड़ 17 लाख 48 हजार 459 रुपए का गबन कर लिया। घड़साना की ग्राम पंचायत 9 एमडी, 10 डीओएल, 13 डीओएल, एक एलएके सी और सात केएनडी में 55 निर्माण कार्यों में 42 निर्माण कार्यों को वसूली की पुष्टि हुई है।

 

एक करोड़ 17 लाख 45 हजार 459 रुपए के गबन की पुष्टि हुई है। इसमें चार ग्राम पंचायतों की जांच रिपोर्ट जिला परिषद के अधिशासी अभियंता महानरेगा तक को सौंप दी गई है। चार अन्य ग्राम पंचायतों की विभागीय जांच चल रही है। इसमें लाखों रुपए के गबन की आशंका है। गबन की गई राशि में से 37 लाख 27 हजार 962 रुपए जमा करवाए गए हैं। जिला परिषद की बैठक में उठा मुद्दा उल्लेखनीय है कि 15 नवंबर 2016 को जिला परिषद की साधारण सभा की बैठक में जिला परिषद सदस्य विष्णु भांभू ने इस मुद्दे को उठाया था।

 

इस पर जिला कलक्टर ने जिला परिषद सीईओ विश्राम मीणा को इस प्रकरण की विस्तृत जांच करवाने के लिए कमेटी गठित करने के आदेश दिए थे। सीईओ ने इस प्रकरण की जांच के लिए जिला परिषद एक्सईएन प्रेम अग्रवाल, सहायक लेखाधिकारी और जिला परिषद सदस्य भांभू की तीन सदस्यीय जांच कमेटी गठित की गई। पांच ग्राम पंचायतों की जांच रिपोर्ट 1-ग्राम पंचायत नौ एमडी में 26 निर्माण कार्यों में 10 लाख 78 हजार 29 रुपए की वसूली निकाली गई है।

 

उत्तरदायी

तत्कालीन बीडीओ अमित जैन,कनिष्ठ लिपिक मोहन लाल व तत्कालीन ग्राम सचिव। 2-10 डीओएल में तीन निर्माण कार्यों में 5 लाख 42 हजार 990 रुपए की वसूली निकाली गई। बीडीओ अमित कुमार जैन व तत्कालीन ग्राम सचिव गणपतराम। 3-तेरह डीओएल में 12 निर्माण कार्यों में 39 हजार 410 रुपए की वसूली निकाली।

 

 

वसूली के लिए उत्तरदायी

तत्कालीन बीडीओ अमित कुमार जैन, तत्कालीन ग्राम सचिव और संबंधित सरपंच व संबंधित तकनीकी अधिकारी। 5-सात केएनडी में 89 लाख 85 हजार 857 रुपए गबन की वसूली निकाली गई। तत्कालीन बीडीओ अमित कुमार जैन, तत्कालीन ग्राम सचिव महेंद्र शर्मा व सरपंच व संबंधित तकनीकी अधिकारी व अन्य।

 

सीईओ व जिला परिषद डायरेक्टर आमने-सामने पंचायत समिति घड़साना में 2015 में हुई पंचायत चुनाव में तत्कालीन बीडीओ जैन सहित अन्य ने मिलीभगत कर नौ ग्राम पंचायतों में करोड़ों रुपए की राशि का गबन किया। जांच में इसकी पुष्टि भी हो चुकी है। सीईओ ने जांच प्रभावित करने के लिए जेटीओ विजयपाल बिश्नोई को हटाकर पदमपुर लगवा दिया है। दोषियों को बचाने का प्रयास किया जा रहा है। -विष्णु भांभू, जिला परिषद सदस्य रावला।

 

पंचायत समिति घड़साना प्रकरण की जांच एक्सईएन प्रेम अग्रवाल के नेतृत्व में चल रही है। इस प्रकरण की जांच 12 फरवरी तक करने के लिए एक्सईएन को पाबंद किया गया है। जांच रिपोर्ट मिलते ही दोषियों के खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएंगी। जेटीओ बिश्नोई को विधायक की शिकायत पर हटाया गया है। जिला परिषद डायरेक्टर विष्णु भांभू के आरोप निराधार हैं। -विश्राम मीणा, सीईओ, जिला परिषद, श्रीगंगानगर।

Show More
सोनाक्षी जैन
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned