सर्दी का मौसम: कोरोना संक्रमण के बीच डेंगू के बढऩे लगे रोगी

-मौसमी बीमारियों से बचाव के लिए जागरूकता जरूरी

By: Krishan chauhan

Published: 20 Nov 2020, 10:22 AM IST

सर्दी का मौसम: कोरोना संक्रमण के बीच डेंगू के बढऩे लगे रोगी

-मौसमी बीमारियों से बचाव के लिए जागरूकता जरूरी
श्रीगंगानगर. देश में करोनो संक्रमण का प्रकोप तेजी के साथ बढ़ता जा रहा है। वहीं सर्दी के इस मौसम में मौसमी बीमारियां बढऩे लगी है। इन दिनों मलेरिया व डेंगू का प्रकोप काफी बढ़ चुका है। खांसी, जुखाम, बुखार, निमोनिया के रोगी भी आ रहे हैं। इसको लेकर चिकित्सा एवं स्वास्थ्य सेवाएं ने सर्दी के मौसम में फैलने वाली मौसमी बीमारियों के बचाव एवं उपचार के संबंध में आवश्यक गाइडलाइन जारी की है। जिला कलक्टर महावीर प्रसाद वर्मा ने चिकित्सा अधिकारियों को निर्देश दिए है कि सर्दी के दौरान फैलने वाली बीमारियों को लेकर आमजन को जागरूक किया जाए। जिससे नागरिक मौसमी बीमारियों से अपना बचाव कर सके।

यह हो सकती है बीमारियां
जिला चिकित्सालय के वरिष्ठ फिजिशियन डॉ.पवन सैनी ने बताया कि सर्दी का मौसम शुरू हो चुका है और इस मौसम में मलेरिया व डेंगू लेरिगोब्रोन्काईटिस, ब्रोन्क्योलाईटिस, निमोनिया, टोन्सलाईटिस तथा अस्थमा जैसे रोग हो सकते हैं। इसके बचाव एवं उपचार के लिए रोगों के लक्षण पहचान कर नजदीकी चिकित्सक से परामर्श एवं इलाज लिया जाना चाहिए।

यह है लक्षण
इस मौसम में सर्दी जनित रोगों के सामान्य लक्षण नाक बहना, नाक बंद होना, हल्का बुखार, जी मिचलाना, खाने की इच्छा न होना तथा बैचेनी होना शामिल है। राजकीय जिला चिकित्सालय के शिुश रोग विशेषज्ञ डॉ.जितिन नागल ने बताया कि बच्चों में निमोनिया की बीमारी होने पर फेफड़ों के वायु कोषों में संक्रमण से सांस की तकलीफ व तेज बुखार हो जाता है। ज्यादा छोटे बच्चों में सांस की तकलीफ होने पर तुरन्त डॉक्टर से परामर्श कर उपचार करवाया जाए। गले में तकलीफ होने पर ठंडी चीजें खाने से गले में तेज दर्द, निगलने में परेशानी और तेज बुखार हो सकता है।

यह रखें सावधानी
सर्दी जनित बीमारियों से बचने के लिए गर्म कपड़े पहनने व ओढऩे का ध्यान रखा जाए। तेज सर्दी हो तो कानों और सिर को विशेष रूप से ढककऱ रखें। बच्चों को नंगे पैर व नंगे सिर नही घुमने दें, आईसक्रीम, टमाटर का सॉस और अन्य ठंडी व खट्टी चीजों से परहेज रखा जाए। गर्म व गर्म तासीर की चीजें खाए व पानी खूब पीएं। निमोनिया,अस्थमा और सांस की तकलीफ वाले बच्चों को रात में टाइट कपड़े नहीं पहनाएं। गर्म एवं मुलायम कपड़े पहनाकर सुलाएं तथा उबला हुआ पानी ठंडा कर पिलाएं।

कोरोना संक्रमण से किया जाए बचाव

रोगों की पहचान एवं बचाव की जानकारी के साथ-साथ कोविड-19 से बचाव के लिए भी आमजन को साबुन से हाथ धोने, मास्क लगाने तथा सामाजिक दूरी की पालना करने के साथ-साथ सरकार की ओर से जारी गाइडलाइन की पालना के लिए भी सर्तक किया जाए।

Krishan chauhan Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned