scriptआखिर खुला एसएमएस का बंद कमरा, अब अस्पताल अपने स्तर पर करेगा जांच | Finally the closed room of SMS opened, now the hospital will investiga | Patrika News
जयपुर

आखिर खुला एसएमएस का बंद कमरा, अब अस्पताल अपने स्तर पर करेगा जांच

– अस्पताल कमेटी बनाकर करवाएगा दस्तावेज की जांच

जयपुरApr 13, 2024 / 01:18 pm

Vikas Jain

sms_jaipur.jpg
अंग प्रत्यारोपण में भ्रष्टाचार सामने आने के बाद सील किए एसएमएस के रिकॉर्ड रूम की चाबी एसीबी ने अस्पताल प्रशासन को सौंप दी है। अब अस्पताल प्रशासन एक नई कमेटी बनाकर यहां मौजूद दस्तावेज और अन्य कागजों की जांच करवाएगा। राजस्थान पत्रिका ने गुरुवार के अंक में पूरा तंत्र किया हाईजैक…फिर अंग प्रत्यारोपण में चले जैक और चेक शीर्षक से समाचार प्रकाशित किया गया था। जिसमें बताया गया था कि अंग प्रत्यारोपण एनओसी जारी करने के लिए बनी मौजूदा कमेटी ही नियमों को दरकिनार कर बनाई गई है और इसे भंग करने के आदेश भी गायब हैं।
भारत सरकार के मानव अंग एवं ऊतक प्रत्यारोपण अधिनियम के अनुसार सलाहकार और प्राधिकरण होने चाहिए। लेकिन तीन वर्ष पहले दोनों को भंग कर एक ही पॉवरफुल कमेटी बना दी गई। इसके बाद कमेटी की कोई बैठक नहीं हुई और सीधे ही एनओसी जारी होने लगी। अब रिकॉर्ड रूम खुलने के बाद वर्ष 2021 में दो के बजाय एक कमेटी बनाने के आदेश और उसे भंग किए जाने के आदेशों की भी खोजबीन की जाएगी।

एसीबी ने कमरे की चाबी हमें सौंप दी है। दस्तावेज की जांच व्यक्तिगत कराने की बजाय कमेटी बनाकर करवाएंगे। इसमें सभी कागजों की खोजबीन और जांच की जाएगी।डॉ.अचल शर्मा, अधीक्षक, सवाईमानसिंह अस्पताल

Hindi News/ Jaipur / आखिर खुला एसएमएस का बंद कमरा, अब अस्पताल अपने स्तर पर करेगा जांच

loksabha entry point

ट्रेंडिंग वीडियो