PM मोदी की स्कीम में 'दान' देकर 1.25 करोड़ कमाएगा यह मंदिर

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की गोल्ड मॉनीटाइजेशन स्कीम में शिरडी़ के साई मंदिर ने 200 करोड़ का सोना देने का फैसला किया है। केयर टेकर चाहते हैं कि मंदिर का 200 किलो सोना सरकार के पास जमा करा दिया जाए।

By:

Published: 13 Dec 2015, 01:09 PM IST

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की गोल्ड मॉनीटाइजेशन स्कीम में शिरडी़ के साई मंदिर ने 200 करोड़ का सोना देने का फैसला किया है। बता दें कि इससे पहले मुंबई के प्रसिद्ध सिद्धिविनायक मंदिर ने अपना 40 किलो सोना इस सरकारी योजना में देने का फैसला किया था।

मंदिर के केयर टेकर चाहते हैं कि मंदिर का 200 किलो सोना सरकार के पास जमा करा दिया जाए। एक अंग्रेजी अखबार में छपी रिपोर्ट के मुताबिक अगर मंदिर अपना 200 किलो सोना गोल्ड मॉनीटाइजेशन स्कीम के तहत जमा करवाता है, तो उसे 1.25 करोड़ रुपए का ब्याज मिलेगा।

हाईकोर्ट के फैसले की वजह से पेंच

रिपोर्ट में बताया गया है कि बॉम्बे हाईकोर्ट के फैसले की वजह से इस मामले में पेंच फंसा है। हाईकोर्ट के आदेश के मुताबिक मंदिर का ट्रस्ट भक्तों से मिलने वाले सोने को पिघला नहीं सकता है। जानकारी के मुताबिक अभी इस मंदिर की सलाना कमाई 350 करोड़ रुपए हैं।

सिद्धिविनायक मंदिर  ने दिया 40 किलो सोना
हाल ही में देश के सबसे अमीर मंदिरों में से एक महाराष्ट्र के सिद्धिविनायक मंदिर ने गोल्ड मॉनेटाइजेशन स्कीम के लिए 40 किलो सोना देने का वादा किया। हालांकि इस सोने पर मंदिर की सालाना 69 लाख रुपए की कमाई बतौर ब्याज होगी।

क्या है गोल्ड मॉनीटाइजेशन स्कीम?

- देश में करीब 20,000 टन सोना यूं ही घरों में और मंदिरों में पड़ा है, जिसका मूल्य करीब 60 लाख करोड़ रुपए है।

- केंद्र सरकार की तरफ से यह कदम देश के नागरिकों के पास घर में पड़े सोने को बाजार में सर्कुलेट कर उसकी वैल्यू को अनलॉक करना है।

- जमा कराने वाले सोने का वजन कम से कम 30 ग्राम होना चाहिए।

- स्वर्ण बांड पर ब्याज की दरें तय करने का अधिकार बैंकों को ही दिया जाएगा।

- सोना जमा कराने वाले व्यक्ति को सोने के बदले एक स्वर्ण बांड दे दिया जाएगा, जिस पर ब्याज भी मिलेगा।



pm modi
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned