scriptअमेरिकी कंपनियाँ बेच रही ताइवान को हथियार, चीन ने लगाए प्रतिबंध | China imposes sanctions on Boeing and two US defense companies for Taiwan arms sales | Patrika News
विदेश

अमेरिकी कंपनियाँ बेच रही ताइवान को हथियार, चीन ने लगाए प्रतिबंध

चीन ने हाल ही में कुछ अमेरिकी कंपनियों पर प्रतिबंध लगाए हैं। क्यों लिया गया यह फैसला? आइए जानते हैं।

नई दिल्लीMay 21, 2024 / 06:15 pm

Tanay Mishra

biden_takes_dig_at_jinping.jpg

Joe Biden and Xi Jinping (from left to right)

चीन और अमेरिका के बीच कई वजहों से तनाव की स्थिति बनी हुई है। इन वजहों में से एक अमेरिका का ताइवान के प्रति समर्थन भी है। चीन और ताइवान के बीच चल रहे विवाद में अमेरिका ने हमेशा से ही ताइवान का समर्थन किया है और यह बात चीन को पसंद नहीं है। लेकिन इसके बावजूद अमेरिका ने ताइवान का समर्थन करना जारी रखा है। इतना ही नहीं, अमेरिका तो ताइवान को हथियार भी बेचता है। इसी वजह से चीन ने कुछ अमेरिकी कंपनियों के खिलाफ एक बड़ा फैसला लिया है।

अमेरिकी कंपनियों पर लगाए प्रतिबंध

चीन के वाणिज्य मंत्रालय ने हाल ही में बोइंग और दो अन्य अमेरिकी रक्षा कंपनियों पर प्रतिबंध लगाए हैं। इन कंपनियों पर ताइवान को हथियार बेचने के लिए प्रतिबंध लगाए गए हैं। चीन के वाणिज्य मंत्रालय ने इन कंपनियों के वरिष्ठ प्रबंधन पर यात्रा प्रतिबंधों के अलावा, बोइंग की रक्षा, अंतरिक्ष और सुरक्षा इकाई जनरल एटॉमिक्स एयरोनॉटिकल सिस्टम्स और जनरल डायनेमिक्स लैंड सिस्टम्स को अविश्वसनीय संस्थाओं की सूची में डाल दिया है। इससे ये कंपनियाँ आगे जाकर चीन में निवेश नहीं कर सकेंगी।

क्या है चीन और ताइवान के बीच विवाद की वजह?

दरअसल चीन और ताइवान 1949 में एक-दूसरे से अलग हो गए थे। तभी से ताइवान अपना स्वतंत्र अस्तित्व मानता है और खुद को एक स्वतंत्र देश बताता है। दूसरे कई देश भी ताइवान को एक स्वतंत्र देश मानते हैं। वहीं चीन इसका विरोध करता है और ताइवान को अपना हिस्सा मानता है। दोनों देशों के बीच विवाद की यही वजह है।

यह भी पढ़ें

भारत के एक और दुश्मन का खात्मा! मारा गया अंडरवर्ल्ड डॉन दाऊद इब्राहिम का खास साथी छोटा शकील

Hindi News/ world / अमेरिकी कंपनियाँ बेच रही ताइवान को हथियार, चीन ने लगाए प्रतिबंध

ट्रेंडिंग वीडियो