भिवाड़ी में नगरीय विकास कर नहीं चुकाने पर निर्माणाधीन साइट को किया सीज

Shailesh pandey

Publish: Apr, 21 2017 07:05:00 (IST)

Alwar, Rajasthan, India
भिवाड़ी में नगरीय विकास कर नहीं चुकाने पर निर्माणाधीन साइट को किया सीज

भिवाड़ी. नगर परिषद की ओर से शुक्रवार को आरटेक ग्रीन निर्माणाधीन इमारत को सीज की बड़ी कार्रवाई की है। नगर परिषद अधिकारियों ने नगरीय विकास कर जमा न करने पर यह कार्रवाई की है।

भिवाड़ी. नगर परिषद की ओर से शुक्रवार को आरटेक ग्रीन निर्माणाधीन इमारत को सीज की बड़ी कार्रवाई की है। नगर परिषद अधिकारियों ने नगरीय विकास कर जमा न करने पर यह कार्रवाई की है। संबंधित फर्म को कई बार नोटिस दिए गए। नोटिस का जवाब न मिलने पर इमारत को सीज किया गया। 



नगर परिषद अधिकारियों ने बताया कि आरटेक ग्रीन की खोली रोड स्थित साइट पर निर्माण कार्य हो रहा है। आरटेक ग्रीन पर 2009 से अब तक का करीब 50 लाख रुपए का नगरीय विकास कर बकाया  है। नगरीय विकास कर को जमा कराने के लिए 2009 से लेकर अब तक कई बार नोटिस दिए जा चुके हैं।



 लेकिन आरटेक ग्रीन की ओर से न तो नोटिस का जवाब दिया गया और न ही टैक्स जमा किया गया। नगर परिषद अधिकारियों ने शुक्रवार को भी निर्माणाधीन साइट पर जाकर कंपनी कर्मचारियों से टैक्स जमा कराने के लिए समझाइश की। 



लेकिन संतुष्टि पूर्ण जवाब नहीं मिलने पर दोपहर बाद सीज की कार्रवाई की गई। नगर परिषद अधिकारियों ने बताया कि करीब सौ आवासीय, होटल, रेस्टोरेंट को नगरीय विकास कर जमा कराने के लिए नोटिस दिए गए हैं। कर जमा कराने के लिए कई बार रिमाइंडर भी भेजे गए हैं। 



यदि एक सप्ताह में नगरीय विकास कर जमा नहीं होता है तो नियमानुसार कानूनी कार्रवाई की जाएगी। कार्रवाई में आरआई लोकेश, जेईएन राजकुमार, कनिष्ठ लिपिक हरीश शर्मा, कनिष्ठ लिपिक नरेश सैनी, सैनेट्री इंस्पेक्टर नन्नू राम और फूलबाग थाने का जाप्ता शामिल रहा। 



टैक्स जमा न करने पर कार्रवाई


नगर परिषद आयुक्त पुरुषोत्तम अवस्थी ने कहा कि जिन संस्थानों पर कई सालों से नगरीय कर बकाया है, उनको नोटिस दिए जा चुके हैं। नोटिस का जवाब नहीं मिलने पर अंतिम नोटिस भी दिए गए। आरटेक ग्रीन ने भी टैक्स जमा नहीं कराया है, नोटिस का भी जवाब नहीं दिया, इसलिए सीज किया गया। टैक्स जमा न करने वालों पर सख्त कार्रवाई की जाएगी। इसके लिए टीम गठित कर दी गई है। जो कि प्रतिदिन कार्रवाई करेगी।


Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned