हर व्यक्ति को दिया है ईश्वर ने यह तोहफा, लेकिन कुछ भाग्यशाली ही समझ पाते हैं

Astrology and Spirituality
हर व्यक्ति को दिया है ईश्वर ने यह तोहफा, लेकिन कुछ भाग्यशाली ही समझ पाते हैं

उसे लगा कि किसी ने सिर्फ कागज का टुकड़ा उसके हाथ में थमा दिया है। यह सोचते हुए उसने नोट को खिन्न मन से कागज समझकर जमीन पर फेंक दिया।

एक दिव्यांग (आंख से) व्यक्ति रोज शाम को सड़क के किनारे खड़े होकर भीख मांगा करता था। एक शाम वहां से एक धनी व्यक्ति गुजर रहे थे। उन्होंने उस व्यक्ति को देखा। 




उसके फटेहाल हालत देख उन्हें बहुत दया आई। उन्होंने सहृदयता दिखाते हुए और उसे पांच सौ रुपए का नोट उसके हाथ में रखते हुए आगे बढ़ गए। 



 दुर्लभ एवं सिद्धिदायक योग में आ रही है हनुमान जयंती, बजरंगबली पूर्ण करेंगे आपकी मनोकामना



उस दिव्यांग व्यक्ति ने नोट को टटोलकर देखा और समझा कि किसी आदमी ने उसके साथ ठिठोली भरा मजाक किया है। उसे लगा कि किसी ने सिर्फ कागज का टुकड़ा उसके हाथ में थमा दिया है। यह सोचते हुए उसने नोट को खिन्न मन से कागज समझकर जमीन पर फेंक दिया। 




एक सज्जन पुरुष जो वहीं खड़े यह दृश्य देख रहे थे, उन्होंने नोट को उठाया और दिव्यांग व्यक्ति को देते हुए कहा, यह पांच सौ रुपए का नोट है।



 कहते हैं शास्त्र, ये 8 काम करने वाले मनुष्य की कम उम्र में ही हो जाती है मृत्यु



ऐसा जीवन में अक्सर होता है। आंतरिक ज्ञानचक्षुओं के अभाव में हम भगवान के अपार दान को समझ नहीं पाते और हमेशा यही सोचते हैं कि हमारे पास कुछ नहीं है, हम साधनहीन हैं, पर यदि हमें जो नहीं मिला उन सबकी शिकायत करना छोड़कर, जो मिला है उसकी महत्ता को समझें तो हमें मालूम पड़ेगा कि जो हम सबको मिला है वो कम नहीं अद्भुत है।




Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned