अब 'प्रभु' ट्रेन से भेजेंगे बद्रीनाथ, केदारनाथ, गंगोत्री और यमुनोत्री की यात्रा पर!

santosh trivedi

Publish: May, 12 2017 10:13:00 (IST)

Astrology and Spirituality
अब 'प्रभु' ट्रेन से भेजेंगे बद्रीनाथ, केदारनाथ, गंगोत्री और यमुनोत्री की यात्रा पर!

बद्रीनाथ, केदारनाथ, गंगोत्री और यमुनोत्री को आपस में जोडऩे के लिए सरकार रेल सर्किट विकसित करेगी। रेल मंत्री सुरेश प्रभु 13 मई को बद्रीनाथ में इस सर्किट का शिलान्यास करेंगे।

बद्रीनाथ, केदारनाथ, गंगोत्री और यमुनोत्री को आपस में जोडऩे के लिए सरकार रेल सर्किट विकसित करेगी। चारों धाम देहरादून और कर्णप्रयाग से रेल नेटवर्क के माध्यम से जुड़ जाएंगे। इसकी अनुमानित लागत 43 हजार करोड़ होगी। 



महाभारत के बाद श्रीकृष्ण और पांडवों का क्या हुआ, जानिए रोचक रहस्य



रेलवे के सार्वजनिक उपक्रम रेल विकास निगम लिमिटेड (आरवीएनएल) ने इसके अंतिम सर्वे का काम शुरू कर दिया है। रेल मंत्री सुरेश प्रभु 13 मई को बद्रीनाथ में इस सर्किट का शिलान्यास करेंगे। वर्तमान में चार धाम के निकटतम स्टेशन हैं डोईवाला, ऋषिकेश व कर्णप्रयाग।



घर में इन चीजों को रखने से होता है भारी नुकसान



21 नए स्टेशन, 61 सुरंगें बनेंगी

सर्वे के अनुसार सर्किट में 21 नए स्टेशन, 59 पुल बनेंगे। साथ ही 61 सुरंगें बनेंगी जिनकी कुल लंबाई 279 किलोमीटर होगी। लेकिन इसके लिए रेलवे को हिमालय की ऊबड़-खाबड़ मजबूत पत्थरों, चट्टानों पर ट्रैक बिछाने की चुनौती का सामना करना होगा। चारों धाम अपनी अलग-अलग और विशिष्ट ऊंचाई पर अपने खास आध्यात्मिक महत्व रखते हैं। पत्थरों को काटकर ट्रैक बनाना चुनौती होगी। 



जब शिव की आंखों में आ गए आंसू और बन गई यह दिव्य वस्तु



केदारनाथ शिव का, बद्रीनाथ विष्णु का आवास है

केदारनाथ धाम भगवान शिव का आवास है। यह 12 ज्योर्तिलिंगों में से एक है, जो समुद्र तल से 3583 मीटर ऊंची है जबकि बद्रीनाथ भगवान विष्णु का आवास है जिसकी समुद्र तल से ऊंचाई 3133 मीटर है। यहां बड़ी संख्या में देशी, विदेशी पर्यटक आते हैं। यमुनोत्री की समुद्र तल से ऊंचाई 3293 मीटर है। गंगोत्री, जहां से गंगा निकलती है उसकी समुद्र तल से ऊंचाई 3408 मीटर है। 



मृत्यु से पहले भीष्म ने दिया था ज्ञान- इन 5 प्रकार के मित्रों से रहो हमेशा सावधान



-43,292 करोड़ रुपए होगी कुल लागत



-327 किमी होगी सर्किट ट्रैक की लंबाई

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned