अत्यंत शुभ संयोग में आ रही है रामनवमी, श्रीराम के पूजन से दूर होंगे सब कष्ट

Astrology and Spirituality
अत्यंत शुभ संयोग में आ रही है रामनवमी, श्रीराम के पूजन से दूर होंगे सब कष्ट

ज्योतिषियों के अनुसार, 4 अप्रेल 2017 को सूर्योदय से अष्टमी तिथि होगी लेकिन 11:20 बजे के बाद नवमी तिथि का शुभारंभ हो जाएगा।

भगवान श्रीराम का प्राकट्य दिवस रामनवमी के रूप में मनाया जाता है। मंगलवार (4 अप्रेल 2017) को रामनवमी है। इस साल भगवान का जन्मोत्सव उनके महान भक्त हनुमानजी के प्रिय दिन आ रहा है। इस शुभ संयोग में भगवान राम का पूजन शीघ्र सिद्धि प्रदान करेगा।



ज्योतिषियों के अनुसार, 4 अप्रेल 2017 को सूर्योदय से अष्टमी तिथि होगी लेकिन 11:20 बजे के बाद नवमी तिथि का शुभारंभ हो जाएगा। 




 नवरात्र के बाद बची हुई पूजन सामग्री का ऐसे करें उपयोग, चमकेगा आपका भाग्य




चूंकि भगवान पुनर्वसु नक्षत्र में प्रकट हुए थे और इस रोज रात्रि 11:12 बजे तक पुनर्वसु नक्षत्र है। अत: ज्योतिषियों के अनुसार, 4 अप्रेल ही भगवान श्रीराम का जन्मोत्सव मनाने के लिए उपयुक्त तिथि है। 




इस दिन भगवान श्रीराम का पूजन करना चाहिए। साथ ही रामचरितमानस के पाठ से पुण्य प्राप्त करना चाहिए। इन शब्दों से आप भी प्राप्त कर सकते हैं भगवान श्रीराम की कृपा।



-- श्रीराम स्तुति --

भए प्रगट कृपाला दीनदयाला कौसल्या हितकारी।

हरषित महतारी मुनि मन हारी अद्भुत रूप बिचारी।।




लोचन अभिरामा तनु घनश्याम निज आयुध भुज चारी।

भूषन बनमाला नयम बिसाला सोभासिंधु खरारी।।




कह दुइ कर जोरी अस्तुति तोरी केहि बिधि करौं अनंता।

माया गुन ग्यानातीत अमाना बेद पुरान भनंता।।




करुना सुख सागर सब गुन आगर जेहि गावहिं श्रुति संता।

सो मम हित लागी जन अनुरागी भयउ प्रगट श्रीकंता।।




ब्रह्मांड निकाया निर्मित माया रोम रोम प्रति बेद कहै।

मम उर सो बासी यह उपहासी सुनत धीर मति थिर न रहै।।




उपजा जब ग्याना प्रभु मुसुकाना चरित बहुत बिधि कीन्ह चहै।

कहि कथा सुहाई मातु बुझाई जेहि प्रकार सुत प्रेम लहै।।




माता पुनि बोली सो मति डोली तजहु तात यह रूपा।

कीजै सिसुलीला अति प्रियशीला यह सुख परम अनूपा।।




सुनि बचन सुजाना रोदन ठाना होइ बालक सुरभूपा।

यह चरित जे गावहिं हरि पद पावहिं ते न परहिं भवकूपा।।




 बेडरूम में कभी न रखें ये चीजें, अन्यथा पति-पत्नी के रिश्तों में आ जाएगी दरार




Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned