लंदन में स्ट्रीट लैम्प से चार्ज होंगी हाइब्रिड और इलेक्ट्रिक कारें

Automobile
लंदन में स्ट्रीट लैम्प से चार्ज होंगी हाइब्रिड और इलेक्ट्रिक कारें

लंदन दुनिया के सबसे प्रदूषित शहरों में से एक है। इसके मद्देनजर वहां की आबोहवा बेहतर बनाने और ऊर्जा संरक्षण के लिए नए-नए उपाय ढूंढ़े जा रहे हैं। इसी कड़ी में अब वहां ऐसे स्ट्रीट लैम्प लगाए जा रहे हैं।

लंदन दुनिया के सबसे प्रदूषित शहरों में से एक है। इसके मद्देनजर वहां की आबोहवा बेहतर बनाने और ऊर्जा संरक्षण के लिए नए-नए उपाय ढूंढ़े जा रहे हैं। इसी कड़ी में  अब वहां ऐसे स्ट्रीट लैम्प लगाए जा रहे हैं, जो इलेक्ट्रिक गाडिय़ों  को चार्ज करने में सक्षम हैं। लंदन  की कई सड़कों पर स्ट्रीट लैम्प को इस तरह से तैयार किया जा रहा है कि वह इलेक्ट्रिक कारों को भी चार्ज करने में सक्षम हो जाएं। 



जर्मन फर्म यूबिट्रिसिटी ने इस तरह के नए लैम्प बनाए हैं। इस लैम्प की मदद से हाइब्रिड और इलेक्ट्रिक कारों के मालिक एक चार्ज केबल को इनबिल्ट बिजली मीटर से जोड़कर लैम्प पोस्ट्स का उपयोग अपने वाहनों को चार्ज करने में कर सकेंगे। लंदन में ट्रांसपोर्ट प्लानर ग्राग एडवर्ड्स ने बताया कि  इस तकनीक को मौजूदा स्ट्रीट लाइट्स में लगाया जा सकता है, इसलिए हम आवासीय सड़कों पर अनावश्यक स्ट्रीट फर्नीचर जोडऩे से भी बच सकते हैं। यही वजह है कि हम पहले से लगे स्ट्रीट लैम्प्स में इन लाइटों को लगा रहे हैं। इस  वजह से इसकी लागत भी काफी कम आएगी।



सोते ड्राइवर को जगाएगा

हांगकांग के बैपटिस्ट यूनिवर्सिटी के शोधार्थियों ने एक ऐसा स्मार्टफोन एप बनाया है, जो सोते ड्राइवर को जगा देगा। यह एप रियल टाइम वीडियो के जरिए ड्राइवर्स के चेहरे के एक्सप्रेशन को कैप्चर कर उनकी आंखों और सिर के पोजिशन में बदलाव को महसूस कर उन्हें तत्काल सूचित करता है। 



ड्राइवर को बस इतना करना होगा कि इसे वह अपने स्टेयरिंग व्हील के पास ऐसे रखे कि ड्राइवर के चेहरे को एप देख सके। इसके बाद ड्राइवर को सोता देख इसका अलार्म तब तक बजता रहता है, जब तक कि ड्राइवर जगकर इसे ऑफ न कर दे। यह एप स्मार्टफोन के कैमरे की मदद से काम करता है। साथ में इसे आम ड्राइविंग रिकॉर्डिंग सिस्टम की तरह भी इस्तेमाल किया जा सकता है।

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned