बांसवाड़ा : मौताणे के लिए नौ घंटे बारिश में घटनास्थल पर पड़ा रखा शव, ढाई लाख की राशि पर हुआ समझौता

Banswara, Rajasthan, India
बांसवाड़ा : मौताणे के लिए नौ घंटे बारिश में घटनास्थल पर पड़ा रखा शव, ढाई लाख की राशि पर हुआ समझौता

हादसे में युवक की मौत का मामला

जिले के आनंदपुरी थाना क्षेत्र में शेरगढ़-टाडी नानी मार्ग पर आमरियापाड़ा गांव में बुधवार रात दो मोटरसाइकिलों की भिड़ंत में घायल एक युवक की गुरुवार को मौत के बाद आक्रोशित परिजनों और ग्रामीणों नेे मौताणे की मांग को लेकर नौ घंटे तक शव घटनास्थल पर पड़ा रखा। बारिश में भी ग्रामीण वहां से नहीं हटे और न ही शव हटाया। ग्रामीणों ने शव को दूसरे बाइक सवार के घर रखने का प्रयास भी किया, लेकिन दूसर थाने की पुलिस के आ जाने से वे सफल नहीं हो पाए। तब उन्होंने शव को दुबारा घटनास्थल पर लाकर रख दिया। लंबी वार्ताओं और समझाइश के बाद आखिरकार ढाई लाख रुपए मौताणा तय हुआ और तब शव उठाया गया।


यह हुआ हादसा



पुलिस के अनुसार बुधवार की रात करीब नौ बजे आमरियापाड़ा गांव के पास दो बाइकों की भिड़ंत में सल्लोपाट थाना क्षेत्र के नवागांव निवासी बदिया पुत्र धनजी गंभीर रूप से घायल हो गया। इस पर बदिया को 108 एम्बुलेंस की मदद से चिकित्सालय ले जाया गया, लेकिन बाद में परिजन उसे अपने घर ले आए। इसके बाद गुरुवार की सुबह बदिया की मौत हो गई।


सुबह घटनास्थल पर लाए शव



तब आक्रोशित परिजनों ने सुबह करीब ग्यारह बजे शव घटनास्थल पर लाकर रख दिया और मौताणे की मांग पर अड़ गए। इसकी सूचना पर कुछ पुलिसकर्मी मौके पर पहुंचे और शव को हटवाने के प्रयास किए, लेकिन ग्रामीण नहीं माने। दोपहर करीब दो बजे तक मौताणे को लेकर बात नहीं बनी तो ग्रामीण शव दूसरे बाइक सवार के घर रखने के लिए निकले। इसी बीच दूसरे थाने की पुलिस पहुंच गई और ग्रामीणों से समझाइश की, लेकिन ग्रामीण नहीं माने और शव को फिर हादसा स्थल पर ले जाकर रख दिया। इसके बाद वार्ताओं और समझाइश के कई दौर चले। इस दौरान दो तीन बार विवाद की स्थितियां बनीं।


नकद राशि देने पर निपटा मामला



शाम करीब सात बजे करीब ढाई लाख में मौताणा तय हुआ तब ग्रामीण शव हटाने के लिए राजी हुए। इसमें भी शर्त यह रखी गई कि राशि का भुगतान नकद किया जाएगा। इस पर नकद राशि पीडि़त परिवार को सौंपी गई। इसके बाद ही शव को सड़क से हटाया।


आए दिन हो रहे हैं मौताणे



गौरतलब है कि इलाके में हादसे में मौत के मामले में आए दिन मौताणे हो रहे हैं। इससे पहले सल्लोपाट थाना क्षेत्र के एक गांव में ही युवक की मौत के बाद मौताणा तय होने के बाद पूरा मामला शांत हुआ था। इस प्रथा को लेकर पुलिस प्रशासन भी कोई समाधान नहीं निकाल पाया है।

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned