एक नया आंदोलन शुरू होने की राह पर

Baran, Rajasthan, India
एक नया आंदोलन शुरू होने की राह पर

छबड़ा में विभिन्न मांगों को लेकर 14 जून से तहसीलदार, कानूनगो, पटवारी एवं 15 जून से ग्रामसेवक हड़ताल पर चल रहे है। सोमवार को धरने पर बैठ गए। प्रतिनिधियों ने चेतावनी दी कि मांगें पूरी नहीं होने तक हड़ताल व धरना प्रदर्शन जारी रहेगा।

तहसीलदार, कानूनगो, पटवारियों एवं ग्रामसेवकों की हड़ताल तो पहले से जारी है। सोमवार से राजस्थान पंचायती राज सेवा परिषद जयपुर के आह्वान पर विकास अधिकारी, पंचायत प्रसार अधिकारी एवं लिपिक भी हड़ताल पर चले जाने से पंचायत राज एवं राजस्व से संबंधित समस्त सरकारी कार्य ठप हो गए है। 


सोमवार को पंचायत राज कर्मियों ने कस्बे में रैली निकाल कर सरकार विरोधी प्रदर्शन किया। विभिन्न मांगों को लेकर 14 जून से तहसीलदार, कानूनगो, पटवारी एवं 15 जून से ग्रामसेवक हड़ताल पर चल रहे है। जिससे पहले से ही राजस्व व पंचायत राज कार्य बुरी तरह प्रभावित हो रहे थे। 


सोमवार से पंचायती राज परिषद से जुड़े मंत्रालयिक कर्मचारी संघ के आह्वान पर पंचायत समिति के विकास अधिकारी सहित पंचायत प्रसार अधिकारी व एलडीसी ग्राम सेवकों के समर्थन में सोमवार से हड़ताल पर उतर आए एवं पंचायत समिति परिसर में धरना पर बैठ गए। 


Read More: क्या हुआ उमा भारती का हाल, जब बच्चे ने पूछा आरक्षण पर सवाल



पंचायत प्रसार अधिकारी संघ के प्रदेश प्रतिनिधि सुखपाल गुर्जर, ग्राम सेवक संघ के अध्यक्ष बने सिंह, मंत्रालयिक कर्मचारी संघ के अध्यक्ष मान सिंह मीणा के अनुसार 11 सूत्रीय मांगों को लेकर सोमवार से ग्राम सेवकों के समर्थन में विकास अधिकारी, पंचायत प्रसार अधिकारी व बाबूओं ने भी कलम बंद हड़ताल शुरू कर पंचायत समिति परिसर में धरना पर बैठ गए। 


सोमवार को  अधिकारियों व कर्मचारियों द्वारा पंचायत समिति परिसर से सरकार के विरुद्ध जोरदार नारेबाजी करते हुए जुलूस निकाला। एसडीएम कार्यालय पर भी प्रदर्शन कर सरकार पर वादा खिलाफी का आरोप लगाते हुए सरकार को कर्मचारी विरोधी करार दिया। प्रतिनिधियों ने चेतावनी दी कि मांगें पूरी नहीं होने तक हड़ताल व धरना प्रदर्शन जारी रहेगा। हड़ताल के चलते सभी राजस्व व पंचायत राज कार्य ठप हो गए। हालत यह है कि जाति, मूल निवासी व आय प्रमाण पत्र तक नहीं बनने से छात्रों को स्कूल व कॉलेजों में प्रवेश प्रक्रिया में समस्या हो रही है। 


(पत्रिका संवाददाता)

नगर पालिका में आयोजित मुख्यमंत्री जन कल्याण शिविर व ग्राम पंचायत मुख्यालयों पर राजस्व लोक अदालत शिविरों में किसानों व आम जन के आवश्यक व महत्पूर्ण कार्य नहीं होने से यह निराश वापस लौट रहे हैं। 


Read More: दिव्यांगों को मिलेगा यूनिक आईडी कार्ड, जानिए इसके फायदे



जल्द व्यवस्था नहीं हुई तो आंदोलन

तहसीलदार, पटवारी व ग्राम सेवकों की हड़ताल के चलते आय, जाति व मूल निवासी प्रमाण पत्र नहीं बनने सहित छात्रों की अन्य समस्याओं को लेकर सोमवार को राजकीय व स्वपोषित कॉलेज सहित स्कूलों के छात्रों द्वारा यहां बाइक रैली निकाल कर प्रदर्शन किया। स्वपोषित कॉलेज छात्र संघ अध्यक्ष मोर सिंह गुर्जर एवं राजकीय कॉलेज छात्र संघ अध्यक्ष अरविंद मीणा के अनुसार बड़ी संख्या में कॉलेज व स्कूलों के छात्र अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद के बैनर तले गायत्री मंदिर पर एकत्रित हुए। यहां सभा कर छात्र प्रतिनिधियों ने आरोप लगाया कि छात्र-छात्राओं के मूल निवासी, आय व जाति प्रमाण पत्र नहीं बनने से स्कूल व कॉलेजों में प्रवेश प्रक्रिया में दिक्कत आ रही है, लेकिन प्रशासन गंभीर नहीं है। 


छात्रों के प्रमाण पत्र बनवाने की जल्दी व्यवस्था नहीं करवाई गई तो छात्र आंदोलन करेंगे। सभा के बाद छात्रों द्वारा मुख्य बाजारों में बाइक रैली निकाली जो एसडीएम कार्यालय पर धरने में बदल गई। यहां करीब एक घंटे तक प्रदर्शन कर छात्रों द्वारा एसडीएम को ज्ञापन सौंपा गया। ज्ञापन देने वालों में ओम प्रकाश मालव, लाखन गुर्जर, विनोद साहू, अरविंद नागर, हेमराज मालव, ललित रावल, रघुवीर नागर, विक्रम गुर्जर, सुरेश गुर्जर, मनीष शर्मा, प्रदीप मालव, रविंद्र मालव सहित बड़ी संख्या में छात्र शामिल थे। 


Read More: भारत-पाकिस्तान के मैच पर चला रहे थे सट्टे का करोबार, 13 गिरफ्तार



अन्ता. 

पंचायत समिति अन्ता सहित इसके अधीनस्थ ग्राम पंचायतों में कार्यरत सभी मंत्रालयिक कर्मचारी सोमवार को राजस्थान पंचायती राज सेवा परिषद के बेनर तले अनिश्चितकालीन कलमबन्द असहयोग आन्दोलन में शामिल हो गए। जिनमें विकास अधिकारी एवं पंचायत प्रसार अधिकारी भी शामिल हैं। इस दौरान कर्मचारियों ने उपखण्ड अधिकारी मनोज कुमार मीणा को ज्ञापन देकर उनकी समस्याएं हल करने की मांग की। 

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned