आखिर एेसा क्या हुआ कि सांसद और विधायक को बैठक छोड़ जाना पड़ा

Barmer, Rajasthan, India
आखिर एेसा क्या हुआ कि सांसद और विधायक को बैठक छोड़ जाना पड़ा

पत्रिका लाइव - - नगरपरिषद की साधारण बैठक में विधायक और सांसद आमने-सामने

नगरपरिषद की सोमवार को आयोजित साधारण सभा की बैठक में सांसद कर्नल सोनाराम चौधरी और विधायक मेवाराम जैन आमने-सामने हो गए। पट्टा प्रकरण को लेकर दोनों में नोंक झोंक हुई। विधायक ने आरोप लगाया कि भाजपा केवल जांच करवा रही है। जनता को पट्टे नहीं मिल रहे हैं इससे इनको कोई सरोकार नहीं है। इस पर जवाब देते सांसद ने कहा कि जिसने गलत किया है, वह जेल जाएगा। बैठक में सांसद ने कांग्रेसी बोर्ड पर विकास नहीं करवाने का आरोप जड़ा तो सभापति लूणकरण बोथरा ने कहा कि आपकी सरकार बजट ही नहीं दे रही है तो फिर काम कैसे करवाएंगे? पट्टा जारी नहीं होने, शहर में बढ़ रहे अतिक्रमण को लेकर बैठक में जोरदार हंगामा हुआ। कई पार्षद वेल में आ गए। उन्होंने इस तरह की बैठक को महज औपचारिकता बताते हुए जिम्मदारों को खरी-खरी सुनाई।

बीच बैठक हुए रवाना

2009 से 2013 तक में जारी पट्टे की पत्रावलियां को लेकर हंगामा हुआ। पार्षदों ने मुद्दा उठाते हुए कहा कि पट्टे क्यों नहीं जारी किए जा रहे हैं, इस पर विधायक मेवाराम जैन ने बिना नाम लिए सांसद पर आरोप लगाया कि बीजेपी का काम जांच करवाने तक रह गया है। जनता ने वोट दिए हंै, लेकिन यह सिर्फ जांच करवा रहे हैं। उन्होंने कहा कि मेरी जांच करवा दो। इस पर सांसद ने कहा कि जिसने भी गलत किया है, वो जेल जाएगा। इस दौरान बहस के दौरान हल्की नोक-झोंक हुई। सांसद बीच बैठक रवाना हो गए। उन्होंने कहा कि इनको काम करना नहीं है। मनोनीत पार्षद जगदीश खत्री ने पिछली बैठक में हुए निर्णय भूमि नियमन को लेकर बैठक नहीं बुलाने को लेकर सवाल किया।

एलईडी खरीद में गड़बड़ का आरोप

पार्षद मदन चण्डक ने कांग्रेसी पार्षद पर गंभीर आरोप लगाए। उन्होंने कहा कि बिना अनुमति क्षेत्र में बिल्डिंग का निर्माण कर दिया है। पार्षद सुरतानसिंह ने कहा कि एलईडी लाइट में घड़बड़झाला हो रहा है, लेकिन कोई सुनने वाला नहीं है।

भेदभाव का लगाया आरोप

बीजेपी पार्षद जगदीश खत्री ने वार्डों में हुए विकास कार्यों को लेकर सभापति पर भेदभाव का आरोप लगाते हुए हंगामा खड़ा कर दिया। इस दौरान कांग्रेसी व बीजेपी पार्षद आमने-सामने हो गए। काफी देर तक बहस चलती रही। इस पर सांसद ने कहा कि इस तरह की राजनीति करना गलत है।

पार्षद ने कहा ठेकेदार मंत्री का भाई

पार्षद किशोर शर्मा ने सभापति व आयुक्त पर गंभीर आरोप लगाए । उन्होंने कहा कि ऐसे ठेकेदार को विकास कार्यों के टेंडर दे दिए हैं। अब नगर परिषद स्टाफ यह बोल रहा है कि ठेकेदार मंत्री का भाई है, हम क्या करें। इस दौरान पार्षद रेणु दर्जी ने रॉय कॉलोनी की मुख्य सड़क व डिस्कॉम के आगे नाले की बदहाली को लेकर नाराजगी जताई।

विधायक का प्रश्न, गोलमाल जबाव

मनोनीत पार्षद जगदीश खत्री ने मुद्दा उठाते हुए आयुक्त से सवाल किया विधानसभा में विधायक मेवाराम जैन ने प्रश्न किया था कि शहर में 300 करोड़ की जमीन पर अतिक्रमण की संभावना है, इस सवाल का जबाव क्या दिया। इस पर विधायक बोले- मेरे प्रश्न का गोलमाल जबाव दे दिया है। उन्होंने कहा कि शहर की आबादी 50 प्रतिशत सरकारी जमीन पर आबाद है, लेकिन उसे बेदखल नहीं कर सकते हंै। इस पर आयुक्त ने कहा कि नगर परिषद की जमीन पर अतिक्रमण को लेकर कई मामले न्यायालय में विचारधीन है, उनकी समय-समय पर पैरवी कर कब्जा प्राप्त किया जा रहा है।

सड़कों की गुणवत्ता की नहीं जांच

पार्षद मदन चण्डक व बादलसिंह दईया ने सड़क निर्माण में गुणवत्ता को लेकर अधिशासी अभियंता पर गंभीर आरोप लगाए। उन्होंने कहा कि सड़क निर्माण को लेकर कोई जांच नहीं हो रही है। इस पर सभापति ने आयुक्त व अधिशासी अभियंता को कड़ी नसीहत देते हुए लताड़ लगाई और कहा कि सड़कों की गुणवत्ता को लेकर जांच करवाई जाए। अन्यथा आपके खिलाफ कार्रवाई होगी।

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned