66 वस्तुओं की जीएसटी दरों में हुई कटौती, यहां जानें कौन-कौनसे उत्पाद होंगे सस्ते

kamlesh sharma

Publish: Jun, 11 2017 04:30:00 (IST)

Business
66 वस्तुओं की जीएसटी दरों में हुई कटौती, यहां जानें कौन-कौनसे उत्पाद होंगे सस्ते

वस्तु एवं सेवा कर (जीएसटी) परिषद ने विभिन्न वस्तुओं के तय जीएसटी दरों का हो रहे विरोध के मद्देनजर 66 वस्तुओं की दर में कमी कर दी है। जिससे अब ये उत्पाद सस्ते हो जाएंगे। वित्त मंत्री अरुण जेटली की अध्यक्षता में रविवार को हुई परिषद की 16वीं बैठक में ये निर्णय लिए गए।

 वस्तु एवं सेवा कर (जीएसटी) परिषद ने विभिन्न वस्तुओं के तय जीएसटी दरों का हो रहे विरोध के मद्देनजर 66 वस्तुओं की दर में कमी कर दी है। जिससे अब ये उत्पाद सस्ते हो जाएंगे। वित्त मंत्री अरुण जेटली की अध्यक्षता में रविवार को हुई परिषद की 16वीं बैठक में ये निर्णय लिए गए। पिछली दो बैठकों में वस्तुओं एवं सेवाओं के लिए जीएसटी दरें तय की गई थी। इसके बाद उद्योग एवं कारोबारी संगठनों ने कुछ वस्तुओं की जीएसटी दर का विरोध करते हुए ज्ञापन सौंपे थे। 



बैठक के बाद जेटली ने मीडिया से कहा कि 133 वस्तुओं की जीएसटी दर को लेकर ज्ञापन मिले थे। जीएसटी परिषद ने 66 वस्तुओं की जीएसटी दर में कमी कर दी है। सेनेटरी नैपकिन पर जीएसटी दर में कोई बदलाव नहीं किया गया है। अब एक सौ रुपए तक के सिनेमा टिकट पर 18 फीसदी कर लगेगा, जबकि पहले सभी सिनेमा टिकट पर 28 फीसदी कर निर्धारित किया गया था। अब 100 रुपए से अधिक के टिकट पर ही 28 फीसदी कर लगेगा। 



उन्होंने कहा कि इसी तरह से काजू, इंसुलिन और अगरबत्ती पर पहले 12 फीसदी जीएसटी दर तय की गई थी जिसे अब कम कर पांच फीसदी कर दिया गया है। कंप्यूटर प्रिंटर, डेंटल वैक्स, स्कूल बैग, प्लास्टिक तारपोलिन, प्लास्टिक बीड्स ,कंक्रीट पाइप और ट्रैक्टर के कलपुर्जे की जीएसटी दर को 28 से कम कर 18 प्रतिशत कर दिया गया है। 



उन्होंने बताया कि कॉपियां, बर्तन और डिब्बा बंद फल, सब्जियां, अचार, टॉपिंग्स, इंस्टेंट फूड और सॉस पर जीएसटी को 18 से कम कर 12 प्रतिशत कर दिया गया है। कलरिंग बुक पर जीएसटी को 12 से घटाकर शून्य कर दिया गया है। 



जेटली ने कहा कि अब 75 लाख रुपए तक के कारोबारी, विनिर्माता और रेंस्त्रां वाले कंपोजिशन स्कीम का लाभ उठा सकेंगे जबकि पहले यह सीमा 50 लाख रुपए थी। उन्होंने कहा कि जिन वस्तुओं पर जीएसटी दर कम की गई है उससे वे उत्पाद सस्ते हो जाएंगे लेकिन इससे सरकारी राजस्व पर असर पड़ेगा। 



उन्होंने बताया कि जीएसटी परिषद की अब अगली बैठक 18 जून को दिल्ली में आयोजित की जाएगी जिसमें लॉटरी और ई-वे बिल पर जीएसटी दर को लेकर चर्चा की जाएगी। उल्लेखनीय है कि सरकार एक जुलाई से जीएसटी को लागू करने की तैयारियां कर रही है और इसी के मद्देनजर सभी वस्तुओं और सेवाओं के लिए जीएसटी दरें तय की जा रही हैं।

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned