नौकरियों की रफ्तार 3.5 वर्ष में सबसे तेज, टेलीकॉम टॉप पर

Business
नौकरियों की रफ्तार 3.5 वर्ष में सबसे तेज, टेलीकॉम टॉप पर

इन दोनों सेक्टर से न सिर्फ सबसे अधिक संख्या में जॉब निकल रही है, बल्कि आने वाले महीनों में स्थिति और बेहतर रहने जा रही है।

रोजगार की तलाश में जुटे युवाओं के लिए खुशखबरी है। अधिकांश सेक्टर के अच्छे नतीजों से जॉब मार्केट की तस्वीर भी सुनहरी होती जा रही है। टीमलीज इम्पलॉयमेंट आउटलुक रिपोर्ट के अनुसार इस वक्त जॉब मार्केट साढ़े तीन साल की ऊंचाई पर है। 




2016 के अक्टूबर और 2017 के मार्च के बीच जॉब मिलने की संभावना साढ़े तीन साल में सबसे अधिक है। रोजगार की संभावनाओं को सबसे अधिक बल टेलीकॉम और फाइनेंशियल सेक्टर से मिल रहा है। 




इन दोनों सेक्टर से न सिर्फ सबसे अधिक संख्या में जॉब निकल रही है, बल्कि आने वाले महीनों में स्थिति और बेहतर रहने जा रही है। 2016 के पहले 6 महीनों के दौरान मार्केट में पॉजिटिव सेंटिमेंट रहा और अगले 6 महीनों के दौरान इसके और मजबूत होने की संभावना है। हालांकि कई सेक्टर में 2014 की पहली छमाही से तेज चल रही जॉब ग्रोथ थोड़ी नरमी के साथ एक तरह की स्टैबिलिटी भी आ रही है।





बिजनेस आउटलुक भी हुआ बेहतर

टीमलीज इम्पलॉयमेंट आउटलुक रिपोर्ट के तहत इम्पलॉयमेंट आउटलुक के साथ ही बिजनेस आउटलुक भी बेहतर हुआ है। अध्ययन में दोनों पर विचार किया गया। इम्पलॉयमेंट आउटलुक जहां 2 फीसदी बढ़कर 95 हो गया, वहीं बिजनेस आउटलुक 2 फीसदी बढ़कर 97 हो गया। इससे आने वाले दिनों में बिजनेस माहौल और बेहतर होने की संभावना बन रही है।





हेल्थकेयर-फार्मा में तेज वृद्धि की उम्मीद

हेल्थकेयर और फार्मास्युटिकल्स जैसे सेक्टर में आने वाले महीनों में तेज ग्रोथ की उम्मीद है। दोनों ही 4 प्वाइंट ऊपर चढ़कर 94 पर पहुंच गए और टेलीकॉम सेक्टर भी 4 अंकों के इजाफा के साथ 87 पर आ गया। इसी तरह नए जमाने के सेक्टर जैसे आईटी तथा ई-कॉमर्स और इंटरनेट स्टार्टअप्स एक-एक प्वाइंट बढ़कर क्रमश: 99 और 87 पर पहुंच गए।





इन सेक्टर में आई कमी

कुछ सेक्टर में जॉब ग्रोथ की संभावनाओं में कमी भी आई है। टीमलीज के सीनियर वीपी कुनाल सेन के मुताबिक भले ही इम्पलॉयमेंट आउटलुक बेहतर हुआ हो, लेकिन एफएमसीजी और कंज्यूमर ड्यूरेबल्स, आईटी, ई-कॉमर्स और इंटरनेट स्टार्टअप्स, रिटेल और मैन्युफैक्चरिंग व इंजीनियरिंग और इन्फ्रास्ट्रक्चर सेक्टर की जॉब ग्रोथ की रफ्तार थोड़ी सुस्त हुई है। 




Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned