रेल बजट से निराश बाजार, सेंसेक्स 23 हजार से नीचे 

Business
रेल बजट से निराश बाजार, सेंसेक्स 23 हजार से नीचे 

रेल बजट से निराश निवेशकों की बिकवाली के दबाव में गुरुवार को घेरलू शेयर बाजार लगातार तीसरे दिन टूट गए। 

रेल बजट से निराश निवेशकों की बिकवाली के दबाव में गुरुवार को घेरलू शेयर बाजार लगातार तीसरे दिन टूट गए। बीएसई का सेंसेक्स 112.93 अंक फिसलकर दो सप्ताह के निचले स्तर 22976 अंक पर और नेशनल स्टॉक एक्सचेंज का निफ्टी 48.10 अंक लुढ़ककर 21 महीने से ज्यादा के निचले स्तर 6970.60 अंक पर आ गया। 

रेल बजट में निर्माण और विनिर्माण गतिविधियों पर सरकार का फोकस कम रहने से बाजार को निराशा हुई। उम्मीद थी कि इसके जरिए सरकार सार्वजनिक निवेश बढ़ाकर औद्योगिक और निर्माण गतिविधियों को बढ़ावा देगी। दोपहर से पहले तक हरे निशान में रहने वाला बाजार बजट पेश होते ही लाल निशान में चला गया। 

दिग्गज कंपनियों के साथ रेल तथा इससे जुड़े क्षेत्रों में काम करने वाली अधिकतर बड़ी कंपनियों के शेयरों में भी गिरावट देखी गई। टेक्समैको रेल एंड इंजीनियङ्क्षरग के शेयर 8.78 फीसदी टूटे। टीटागढ़ वैगंस के 8.40, स्टोन इंडिया के 5.74, ङ्क्षहद रेक्टीफायर्स के 7.69 तथा बीईएमएल के 4.06 प्रतिशत लुढ़क गए। इसके अलावा मासिक सौदा निपटान के कारण भी बाजार पर दबाव देखा गया। बाजार की गिरावट चौतरफा रही। 

बीएसई में कुल 2623 कंपनियों के शेयरों में कारोबार हुआ। इनमें 1553 में गिरावट तथा 913 में बढ़त रही जबकि 157 में कोई बदलाव नहीं हुआ। सेंसेक्स की कंपनियों में 30 में से 21 को नुकसान हुआ जबकि नौ मुनाफे में रहीं। 

भारतीय स्टेट बैंक को सर्वाधिक 3.06 प्रतिशत का नुकसान उठाना पड़ा। गेल तथा टाटा मोटर्स के शेयर भी लगभग तीन फीसदी टूटे। वहीं, ओएनजीसी के शेयर सर्वाधिक 2.88 फीसदी चढ़े। मझौली तथा छोटी कंपनियों में बिकवाली ज्यादा हुई। बीएसई का मिडकैप 1.14 प्रतिशत गिरकर 9544.37 अंक पर तथा स्मॉलकैप 0.91 प्रतिशत गिरकर 9598.11 अंक पर आ गया। 

सेंसेक्स 16.23 अंक चढ़कर 23105.16 अंक पर खुला। थोड़ी के लिए लाल निशान में जाने के बाद दोपहर से पहले तक यह मामूली तेजी में रहा। इस दौरान इसने 23105.16 अंक के दिवस के उच्चतम स्तर को भी छुआ। लेकिन, संसद में रेल बजट पेश होने के बाद निराश निवेशकों ने बाजार में बिकवाली शुरू कर दी। 

मासिक सौदा निपटान का असर भी दिखा और दोहरे दबाव में 22948.10 अंक के दिवस के उच्चतम स्तर को छूने के बाद यह गत दिवस की तुलना में 0.49 प्रतिशत अर्थात 112.93 अंक लुढ़ककर 22976 अंक पर बंद हुआ जो 11 फरवरी के बाद का इसका निचला स्तर है। 

निफ्टी की गिरावट ज्यादा रही। यह 0.69 फीसदी यानी 48.10 अंक फिसलकर 09 मई 2014 के बाद के निचले स्तर 6970.60 अंक पर बंद हुआ। हालाँकि, शुरुआत इसकी भी 11.15 अंक की बढ़त के साथ हुई थी। कारोबार के दौरान इसने 7029.85 अंक के दिवस के उच्चतम तथा 6961.40 अंक के न्यूनतम स्तर को छुआ।

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned