अब कैसे होंगे कार्य ? बीडीओ, मंत्रालयिक कर्मचारी भी ग्रामसेवकों के साथ कलमबंद हड़ताल पर

Rakesh gotam

Publish: Jun, 20 2017 11:52:00 (IST)

Churu, Rajasthan, India
अब कैसे होंगे कार्य ? बीडीओ, मंत्रालयिक कर्मचारी भी ग्रामसेवकों के साथ कलमबंद हड़ताल पर

राजस्थान ग्राम सेवक संघ के बैनर तले अपनी मांगें मनवाने को लेकर लामबंद ग्रामसेवकों की कलमबंद हड़ताल सोमवार को पांचवें दिन भी जारी रही।

राजस्थान ग्राम सेवक संघ के बैनर तले अपनी मांगें मनवाने को लेकर लामबंद ग्रामसेवकों की कलमबंद हड़ताल सोमवार को पांचवें दिन भी जारी रही। पांचवे दिन ग्रामसेवकों की हड़ताल में बीडीओ, पीओ व मंत्रालयिक कर्मचारियों ने भी शामिल होकर मांगों का समर्थन किया। आंदोलनरत ग्रामसेवकों व कर्मचारियों ने कलक्ट्रेट परिसर में सरकार विरोधी नारेबाजी कर मांगों को बुलंद किया।




संघ के पदाधिकारियों के मुताबिक मांगों को लेकर हुई वार्ता में सरकार ने 45 दिन में आदेश जारी करने का आश्वासन दिया था। मगर अब तक एक भी मांग को लेकर आदेश जारी नहीं किए जाने से ग्रामसेवकों में सरकार के प्रति रोष व्याप्त है। बाद में कलक्टर ललित गुप्ता को सीएम के नामज्ञापन सौंपकर समझौते के मुताबिक मांगों को लेकर आदेश जारी करने की मांग की गई। प्रदर्शन करने वालों में पंचायत प्रसार अधिकारी संघ जिला शाखा चूरू के मंत्री आनंद कुमार शर्मा, राजस्थान ग्राम सेवक संघ के जिलाध्यक्ष रामनिवास पूनिया, राजस्थान पंचायती राज मंत्रालयिक कर्मचारी संगठन के जिलाध्यक्ष रणजीत सिंह सहारण आदि शामिल थे।




तारानगर. राजस्थान पंचायतीराज सेवा परिषद के कर्मचारियों ने कलमबंद असहयोग आंदोलन के तहत मांगों को लेकर  पंचायत समिति में अनिश्चितकालीन धरना शुरू कर दिया है। पंचायत प्रसार अधिकारी त्रिभुवन सिंह, छगनलाल छींपा, सुरेन्द्र वर्मा, ग्रामसेवक संघ अध्यक्ष ओंकारसिंह राजवी, टीकुराम मीणा, राजमल कासनिया, मोहनलाल स्वामी आदि धरने पर बैठे।



सुजानगढ़. राजस्थान पंचायती राज सेवा परिषद के आह्वान पर सोमवार को भी ग्रामसेवक संघ, पंचायत प्रसार अधिकारी संघ, पंचायत राज मंत्रालयिक कर्मचारी संगठन के सदस्य हड़ताल पर रहे। हड़ताल में शामिल कार्मिक पंचायत समिति के सामने लगे धरनास्थल से  जुलूस के रूप में एसडीएम कार्यालय पहुंचे। पीईओ संघ के तहसील अध्यक्ष ठाकुरमल कताला, ग्राम सेवक संघ के जिला मंत्री जीवनराम नेहरा व तहसील अध्यक्ष रामानंद फलवाडिय़ा के नेतृत्व में एसडीएम कार्यालय के आगे प्रदर्शन कर राज्य सरकार व सीएम के खिलाफ नारे लगाए।बाद में 11 सूत्री मांगों को लेकर सीएम व पंचायती राज मंत्री के नाम एसडीएम को ज्ञापन सौंपा। जिलामंत्री नेहरा ने बताया कलम बंद हड़ताल में छह पीईओ, 19 ग्रामसेवक व 25 एलडीसी व एक बीडीओ शामिल है। ज्ञापन देने वालों में तहसील मंत्री जुगलकिशोर, मंत्रालयिक कर्मचारी संघ अध्यक्ष भंवरलाल सिहाग, पीईओ घनश्याम भाटी, मनफूलसिंह व बजरंगलाल आदि शामिल थे।



सरदारशहर. 11 सूत्री मांगों को लेकर पंचायत समिति के आगे ग्रामसेवकों की ओर से शुरू किया गया धरना सोमवार को भी जारी रहा। धरने पर बैठे ग्रामसेवकों ने सरकार के खिलाफ प्रदर्शन कर एसडीएम को ज्ञापन सौंपा। ज्ञापन में लिखा गया कि मांगों पर विचार नहीं किए जाने तक आंदोलन जारी रहेगा। ग्रामसेवकों के हड़ताल पर चले जाने से ग्राम पंचायतों के काम ठप हो गए हंै। प्रदर्शन करने वालों में संघ के अध्यक्ष हनुमान ओला, मंत्री रूपसिंह राजवी, लूणाराम सैनी, प्रदीपसिंह शेखावत, मनोज चिराणिया व रूपचंद आदि बैठे।




बीदासर.
पंचायत समिति मुख्यालय पर राजस्थान पंचायती राज सेवा परिषद उपशाखा बीदासर के बैनर तले सोमवार को  विकास अधिकारी, पंचायत प्रगति प्रसार अधिकारी व मंत्रालयिक कर्मचारियों व ग्रामसेवकों की हड़ताल भी जारी रही। विकास अधिकारी विनोद कुमार रैगर, पंचायत प्रगति प्रसार अधिकारी हंसराज मीना, ग्रामसेवक संघ के अध्यक्ष रूपाराम मेघवाल आदि धरने पर बैठे। इधर राजस्थान राजस्व सेवा परिषद की हड़ताल भी जारी रही। तहसीलदार भू अभिलेख निरिक्षक एवं पटवारी सामुहिक अवकाश पर रहे।



लाडनूं.
राजस्थान ग्रामसेवक संघ जयपुर के आह्वान पर 11 सूत्री मांगों को लेकर उपशाखा लाडनूं का पंचायत समिति के सामने किया जा रहा अनिश्चितकालीन कलम बंद असहयोग आन्दोलन  जारी रहा।  अध्यक्ष राधेश्याम सांखला ने कहा कि  मांगें नहीं माने जाने तक आन्दोलन जारी रहेगा। उन्होंने  ग्राम सेवक पदेन सचिव तथा लिपिक ग्रेड द्वितीय का ग्रेड पे 3600, पंचायत प्रसार अधिकारी एवं लिपिक ग्रेड प्रथम का ग्रेड पे 4200, सहायक सचिव व सहायक कार्यालय अधीक्षक का ग्रेड पे 4800 करने की स्वीकृति प्रदान करने की मांग की। धरने पर अर्जुन लाल जाट, राजकुमार अरोड़ा, रामचन्द्र, राजकुमार जैन, रामनिवास रलिया, रघुवीर सिंह, नन्दाराम, पीईओ संघ अध्यक्ष सांवरमल, राजूराम, यूडीसी सुखाराम, एलडीसी अध्यक्ष राधेश्याम आदि बैठे।


Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned