पानी की टंकी पर चढ़े अभ्यर्थी, साढ़े नौ घंटे बाद नीचे उतरे

gaurav khandelwal

Publish: Apr, 21 2017 08:57:00 (IST)

Dausa, Rajasthan, India
पानी की टंकी पर चढ़े अभ्यर्थी, साढ़े नौ घंटे बाद नीचे उतरे

सिकंदरा में पुलिस-प्रशासन के हाथ-पांव फूले, एसबीसी अभ्यर्थियों ने की नियुक्ति देने व नोटिस वापस लेने की मांग।

सिकंदरा. विभिन्न परीक्षाओं में चयनित अभ्यर्थियों की नियुक्ति की मांग को लेकर 67 दिन से सिकंदरा गुर्जर स्मारक पर आयोजित धरने में शामिल पांच अभ्यर्थी शुक्रवार को पुलिस द्वारा पाबंदी का नोटिस जारी करने के विरोध में सिकंदरा गांव में जलदाय विभाग की टंकी पर चढ़ गए। समझाइश व वार्ता के कई दौर बाद रात साढ़े आठ बजे अभ्यर्थी टंकी से नीचे उतरे। इस पर पुलिस-प्रशासन ने राहत की सांस ली।


इससे पूर्व अभ्यर्थियों के टंकी पर चढऩे के मामले को लेकर पुलिस-प्रशासन में हड़कम्प मचा रहा। मौके पर अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक, बांदीकुुई व सिकराय उपखण्ड अधिकारी सहित वृत्ताधिकारी, सिकंदरा, मानपुर, बसवा व मेहंदीपुर बालाजी सहित अन्य थाना प्रभारी मय जाप्ते के मौके पर तैनात रहे। 


 सुबह करीब 11 बजे अभ्यर्थी लेखराम छावड़ी, सुरेश गुर्जर, शैलेन्द्र कुमार, रुपसिंह व सुभाष मरियाड़ा सिकंदरा गांव स्थित उच्च जलाशय टंकी पर चढ़ गए। बांदीकुई एसडीओ हिम्मत ङ्क्षसह, वृत्ताधिकारी नवाब खान, सिकंदरा थाना प्रभारी रामेश्वर बगडिय़ा आदि ने चयनित व्याख्याता भर्ती संघ के प्रदेशाध्यक्ष देवराज चाड़ से वार्ता कर समझाइश का प्रयास किया। 


देवराज ने बताया कि अभ्यर्थी पिछले 67 दिनों से सिकंदरा में अहिंसात्मक तरीके से धरना-प्रदर्शन कर सरकार से नियुक्ति देने की मांग कर रहे हैं। इसके बावजूद भी प्रशासन ने धरने में शामिल अभ्यर्थियों को अंादोलनकारियों की तरह पाबंदी के नोटिस जारी कर कानूनी मामले में फंसाने का षडय़ंत्र किया है। 


उन्होंने कहा कि अभ्यर्थी गांधीवादी तरीके से धरना-प्रदर्शन करेंगे। प्रशासनिक अधिकारी उन्हें आंदोलन की आड़ में कानूनी मामलों में फंसाने का षडय़ंत्र रच रहे हैं। इससे आहत होकर अभ्यर्थी पानी की टंकी पर चढ़े हंै। 


दोपहर को राजस्थान गुर्जर आरक्षण संघर्ष समिति के प्रदेश प्रवक्ता हिम्मतङ्क्षसह पाड़ली, देव सेना जिलाध्यक्ष जलसिंह कसाना ने मौके पर पहुंचकर अभ्यर्थियों से समझाइश कर प्रशासनिक अधिकारियों से वार्ता की। 


इस दौरान उन्होंने अधिकारियों से अभ्यर्थियों को आगामी दिनों में आंदोलन के दौरान दर्ज होने वाले मुकदमों में नहीं फंसाने व जारी किए नोटिस को निरस्त करने की मांग की। इस पर अधिकारियों व गुर्जर नेताओं में सहमति नहीं बन सकी। 


शाम छह बजे तक अभ्यर्थी पानी की टंकी पर चढे हुए थे। शाम को अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक प्रकाशकुमार शर्मा व सिकराय एसडीओ शैफाली कुशवाह ने भी मौके पर पहुंचकर समझाइश की, लेकिन सफलता नहीं मिली तथा वार्ताओं का दौर जारी रहा।


इसके बाद अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक की मौजूदगी में गुर्जर समाज जिलाध्यक्ष रामचन्द्र खूंटला, युवा गुर्जर महासभा के कार्यकारी प्रदेशाध्यक्ष मानङ्क्षसह बुर्जा, देवराज चाड़ सहित अन्य लोगों की सिकंदरा अस्पताल में वार्ता हुई। इसमें अभ्यर्थियों ने नोटिस पर कोई कार्रवाई नहीं होने का लिखित आश्वासन देने की मांग की। 


पुलिस-प्रशासन लिखित में देने को तैयार नहीं हुआ। बाद में गुर्जर समाज के लोगों ने अभ्यर्थियों को भरोसा दिया कि उनकी अधिकारियों से वार्ता हो गई तथा पुलिस-प्रशासन अभ्यर्थियों का कुछ नहीं करेगा। इस भरोसे पर अभ्यर्थी रात करीब साढ़े आठ बजे टंकी से नीचे उतर गए।  


थाना प्रभारी से तकरार


अभ्यर्थियों के पानी के टंकी पर चढ़ते ही सबसे पहले सिकंदरा थाना प्रभारी मौके पर पहुंचे। उन्होंने टंकी के नीचे खड़े देवराज चाड़ सहित अन्य से टंकी पर चढ़े अभ्यर्थियों को नीचे उतारने की बात कही। 


इस पर अभ्यर्थियों ने पुलिस पर बेवजह फंसाने का आरोप लगाया। इस पर थाना प्रभारी व अभ्यर्थी देवराज चाड़ में तकरार हो गई। बाद में अन्य लोगों के पहुंचने पर मामला शांत हुआ।  


महापंचायत को लेकर विरोधाभास


गुर्जर समाज के नेताओं में महापंचायत को लेकर आपसी विरोधाभास सामने आया है। गुरुवार को राजस्थान गुर्जर आरक्षण संघर्ष समिति के प्रदेशाध्यक्ष मनफूलङ्क्षसह तूंगड़ की अध्यक्षता में आयोजित बैठक में एक गुट के लोगों ने कर्नल बैंसला के नेतृत्व में 14 मई को निहालपुरा देवनारायण मंदिर पर महांपचायत का ऐलान किया। 


वहीं राजस्थान गुर्जर आरक्षण संघर्ष समिति के प्रदेश प्रवक्ता हिम्मतसिंह ने 22 अप्रेल को सिकंदरा गुर्जर स्मारक पर महापंचायत की घोषणा की। हिम्मतसिंह ने बताया कि शनिवार को सिकंदरा में महापंचायत होगी। 


वहीं गुर्जर महासभा जिलाध्यक्ष रामचंद्र खूंटला व युवा गुर्जर महासभा के कार्यकारी प्रदेशाध्यक्ष मानङ्क्षसह बुर्जा ने कहा कि शनिवार को जनसमर्थन न्याय यात्रा का समापन कार्यक्रम है। महापंचायत 14 मई को देवनारायण मंदिर निहालपुरा में होगी।  

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned