कोचिंग सेंटर्स में मिली अनियमितताएं, डीईओ ने कहा होगी कार्रवाई

gaurav khandelwal

Publish: Jul, 15 2017 09:18:00 (IST)

Dausa, Rajasthan, India
कोचिंग सेंटर्स में मिली अनियमितताएं,  डीईओ ने कहा होगी कार्रवाई

अब तक हुई जांच में सामने आया है कि कक्षाएं विद्यालय समय में संचालित मिली, स्कूली विद्यार्थियों को अध्ययन कराया जा रहा है, जो अन्य किसी स्कूलों में नामांकित हैं।

दौसा. जिला मुख्यालय पर कोचिंग सेंटर्स की जांच में दल को कई अनियमितताएं मिली हैं। डीईओ डॉ. प्रेमवती शर्मा ने बताया कि फाउण्डेशन के नाम पर दुकानों व असुरक्षित भवनों में संचालित 15 कोचिंग संस्थानों की तीन दलों से जांच कराई गई। अब तक हुई जांच में सामने आया हैकि कक्षाएं विद्यालय समय में संचालित मिली, जो गलत है। स्कूली विद्यार्थियों को अध्ययन कराया जा रहा है, जो अन्य किसी स्कूलों में नामांकित हैं। इनकी फर्जी उपस्थितियां संधारित की जा रही है। अधिकतर कोचिंग संस्थान अपंजीकृत व गैर मान्यता प्राप्त हैं। भवन असुरक्षित व मापदण्डों के अनुसार नहीं हैं। ऐसे में हादसे की आशंका रहती है। 



उन्होंने बताया कि संस्थानों में अग्निशमन, वाहन पार्किंग व बाहर निकलने के लिए दरवाजों की भी कमी है। अधिकतर कोचिंग संस्थान मुख्य सड़कों पर हैं, जहां ध्वनि प्रदूषण व दुर्घटनाओं का खतरा बना हुआ है। विद्यार्थियों के लिए वेंटिलेशन व शौचालयों आदि का भी अभाव मिला। डीईओ ने बताया कि अवैध संस्थानों को बंद कराकर दोषी संचालकों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाएगी।



सीज करने की कार्रवाई होगी


डीईओ ने बताया कि जांच अभी जारी है। फाइनल रिपोर्ट आते ही असुरक्षित भवनों को सीज कराने व दोषी संचालकों पर कार्रवाई का प्रस्ताव उच्चाधिकारियों को भेजा जाएगा। कोचिंग सेंटर्स व अटैचमेंट वाली स्कूलों के छात्र व शिक्षकों के रिकॉर्ड जब्त कर दोषी स्कूल व कोचिंग सेंटर संचालकों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कराया जाएगा। स्कूल में न जाकर कोचिंग में पढऩे वाले विद्यार्थियों को परीक्षा से वंचित कर दिया जाएगा। उन्होंने अभिभावकों से भी बच्चों को सरकारी एवं मान्यता प्राप्त विद्यालयों में ही प्रवेश दिलवाने का आह्वान किया है। 



अटैचमेंट तो कहीं बिना मान्यता के मिले विद्यालय



बांदीकुई. क्षेत्र में किसी विद्यालय की मान्यता आठवीं तक है तो उसे दूसरी विद्यालय से अटैचमेेंट कर कक्षा 12 तक संचालित किया जा रहा है तो कहीं बिना मान्यता के ही विद्यालय संचालित कर बच्चों के भविष्य के साथ खिलवाड़ किया जा रहा है। 



जानकारी के अनुसार जिला शिक्षा अधिकारी माध्यमिक डॉ. प्रेमवती शर्मा की ओर से गठित जांच कमेटी में शामिल ब्लॉक प्रारंभिक शिक्षा अधिकारी सम्पतराम मीणा, प्रधानाचार्य पीचूपाड़ा कलां अरविंद अवस्थी एवं अतिरिक्त ब्लॉक प्रारंभिक शिक्षा अधिकारी बाबूलाल शर्मा ने शनिवार को ढिगारियाभीम गांव में संचालित विद्यालयों का निरीक्षण किया। 


जहां एक विद्यालय की मान्यता पांचवीं तक होना पाया गया, जबकि मौके पर 10वीं तक कक्षाएं संचालित होना पाया गया। वहीं ढिगारियाभीम गांव में ही दूसरी विद्यालय का अवलोकन किया तो वहां मान्यता आठवीं तक एवं कक्षाएं 12वीं तक संचालित होना पाया गया। 


इसके अलावा झूंथाहेड़ा कलां में संचालित विद्यालय बिना मान्यता एवं दसवीं तक कक्षाएं संचालित होना पाया गया। बीईईओ ने बताया कि जांच रिपोर्ट भेज दी गई है। जांच अभियान नियमित रूप से संचालित किया जाएगा। 

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned