सीबीएसई ने सत्र 2017-18 के लिए जारी किए निर्देश,10वीं में वोकेशनल सब्जेक्ट लेना अनिवार्य नहीं, लेकिन ...

rajesh walia

Publish: Mar, 17 2017 12:00:00 (IST)

Education
सीबीएसई ने सत्र 2017-18 के लिए जारी किए निर्देश,10वीं में वोकेशनल सब्जेक्ट लेना अनिवार्य नहीं, लेकिन ...

केन्द्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड (सीबीएसई) 10वीं कक्षा में नए सत्र 2017-18 से स्टूडेंट्स को छह विषयों की पढ़ाई कराएगा। बोर्ड ने गत 9 मार्च को इस बाबत दिशा-निर्देश एवं स्कीम जारी कर दी है।

केन्द्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड (सीबीएसई) 10वीं कक्षा में नए सत्र 2017-18 से स्टूडेंट्स को छह विषयों की पढ़ाई कराएगा। बोर्ड ने गत 9 मार्च को इस बाबत दिशा-निर्देश एवं स्कीम जारी कर दी है।







इसके तहत पहले की तरह पांच सब्जेक्ट्स अनिवार्य होंगे, जबकि अतिरिक्त सब्जेक्ट्स के तौर पर वोकेशनल सब्जेक्ट्स रखे गए है। नेशनल स्किल क्वालिफिकेशन फ्रेमवर्क (एनएसक्यूएफ) की सिफारिश पर अतिरिक्त विषयों में बदलाव किया गया है। 




पहले पांच पेपर्स लैंग्वेज-1, लैंग्वेज-2, मैथ्स, साइंस और सोशल साइंस की पढ़ाई करनी होती थी। बोर्ड ने पहले भी व्यावसायिक विषय रखे थे, लेकिन वह छात्रों की इच्छा पर निर्भर था।




सरकार का जवाब : नौ वर्ष होने पर प्रबोधक होंगे पदोन्नत,तबादलों को लेकर नहीं की स्थिति स्पष्ट




थ्योरी एवं प्रेक्टिकल 50-50 फीसदी अंक 

वोकेशनल विषय में पचास-पचास प्रतिशत अंक थ्योरी एवं प्रेक्टिकल में रहेगा। प्रेक्टिकल स्कूल द्वारा ही लिए जाएंगे। प्रायोगिक परीक्षा की मूल्यांकन पद्धति में पीरियड टेस्ट, नोटबुक सबमिशन एवं सब्जेक्ट एक्टीविटीज रहेगी। सैद्धांतिक एवं प्रायोगिक दोनों परीक्षा में 33 प्रतिशत अंक लाने पर ही उत्तीर्ण समझा जाएगा।






13 वोकेशनल विषय तय

डायनामिक्स ऑफ रिटेलिंग, इन्र्फोमेशन टेक्नोलॉजी, सिक्योरिटी, ऑटोमोबाइल टेक्नोलॉजी, इंट्रोडक्शन टू फायनेंसियल मैनेजमेंट, इंट्रोडक्शन टू टूरिज्म, ब्यूटी एंड वेलनेस, बेसिक एग्रीकल्चर, फूड प्रोडक्शन, फ्रंट ऑफिस ऑपरेशंस, बैंकिंग एंड इंश्योरेंस, मार्केटिंग एंड सेल्स एवं हेल्थ केयर सर्विसेस है।






अब जेएनवीयू में मिलेगा उद्यमिता प्रशिक्षण, केन्द्र के लिए स्वीकृत हुए 1 करोड़ रुपए

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned