स्वस्थ अंगों को भी बीमार कर रही है लूपस बीमारी

Health
स्वस्थ अंगों को भी बीमार कर रही है लूपस बीमारी

लूपस बीमारी ऐसी है, जिसमें शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता अत्यधिक सक्रिय हो जाती है और वह स्वस्थ व्यक्ति के टिश्यूज को भी नुकसान पहुंचाने लगती है।

आमतौर पर रोग प्रतिरोधक क्षमता कम होने से व्यक्ति बीमार होने लगता है और उसकी बीमारियों से लडऩे की क्षमता कम हो जाती है। लेकिन लूपस बीमारी ऐसी है, जिसमें शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता अत्यधिक सक्रिय हो जाती है और वह स्वस्थ व्यक्ति के टिश्यूज को भी नुकसान पहुंचाने लगती है। इसे देखते हुए इस समय लूपस जागरूकता माह मनाया जा रहा है। माह के दौरान ऐसी गतिविधियां की जा रही हैं, जिनसे लोगों को इस गम्भीर और रहस्यमयी बीमारी के बारे में बताया जा सके।



इस बीमारी में जलन, सूजन, जोडों को नुकसान, त्वचा, किडनी, रक्त, फेफडों व हृदय तक को नुकसान पहुंच सकता है। रूमेटोलोजिस्ट कंसल्टेंट डॉ.राहुल जैन के अनुसार सामान्य प्रक्रिया के तहत प्रतिरोधक व्यवस्था के तहत ऐसे प्रोटीन बनते हैं, जो एंटीबॉडीज कहलाते हैं। ये एंटीबॉडीज कई तरह के वायरस और बैक्टीरिया से लडऩे का काम करते हैं।



लूपस से शरीर का कोई भी हिस्सा जैसे जोड़, मस्तिष्क, फेफड़े, किडनी, रक्त नलिकाएं और अन्य अंदरूनी अंग प्रभावित हो सकते हैं। उन्होंने बताया कि  रूमेटोलॉजी रिसर्च फाउंडेशन रूमेटाइड ऑर्थराइटिस और लूपस के बारे में बेहतर समझ विकसित करने के लिए विभिन्न स्तर पर काम कर रहा है।

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned