एक क्लिक में यहां पढ़ें बड़ी और चर्चित खबरें

National News
एक क्लिक में यहां पढ़ें बड़ी और चर्चित खबरें

भागदौड़ भरी जिंदगी में हम आपके लिए लाए हैं फ़टाफ़ट फॉर्मेट में बड़ी और दिलचस्प खबरें।

भागदौड़ भरी जिंदगी में हम आपके लिए लाए हैं फ़टाफ़ट फॉर्मेट में बड़ी और दिलचस्प खबरें। अगर आप तमाम बड़ी खबरें नहीं पढ़ पाए हैं या फिर आपके पास समय की कमी है तो एक ही खबर में पढ़िए अब तक की बड़ी व महत्वपूर्ण खबरें...



राजस्थान के 'धरतीपुत्रों' की लगभग सभी मांगों को मानने पर राज़ी हुई सरकार

राजस्थान में भारतीय किसान संघ के आह्वान पर चल रहा किसानों का आंदोलन पांचवें दिन सोमवार रात को खत्म हो गया। किसान संघ व सरकार के बीच जयपुर के विद्युत भवन में करीब 11 घंटे तक चली वार्ता के बाद सभी मुद्दों पर चर्चा हुई और सहमति बनी। इसके बाद संघ ने प्रदेश भर में रात साढ़े दस बजे आंदोलन वापस लेने का निर्णय किया। 


सरकार की ओर से गृह मंत्री गुलाबचंद कटारिया, ऊर्जा मंत्री पुष्पेन्द्रसिंह राणावत, कृषि मंत्री प्रभुलाल सैनी, सिंचाई मंत्री रामप्रताप, सहकारिता मंत्री अजय किलक और भाजपा प्रदेशाध्यक्ष अशोक परमानी वार्ता में मौजूद थे। किसान संघ प्रदेश महामंत्री कैलाश गंदोलिया व आंदोलन सह संयोजक जोधपुर के तुलछाराम सिंवर के अनुसार सुबह 11 बजे किसान संघ प्रतिनिधियों को सरकार ने वार्ता के लिए फिर से बुलाया। सभी मंत्रियों से अपने-अपने विभाग के मुद्दों पर विस्तार से चर्चा हुई। इसके बाद इन मुद्दों पर सहमति बन गई। 



'रामनाथ कोविंद को दलित क्यों माना जाए, दलित को राष्ट्रपति बनाने से अत्याचार नहीं भूलेंगे'

देश को आज ही पता चला होगा कि दलित समाज से हैं कोविंद। भाजपा रामनाथ कोविंद को दलित चेहरे के तौर पर पेश कर रही है तो मैं यहां स्पष्ट करना चाहता हूं कि उनका दलित आंदोलन से लेना-देना ही नहीं है। आज तक उन्होंने न कोई दलित चिंतन किया है, न ही कोई कोई किताब ही लिखी है। उन्हें दलित क्यों माना जाए? यह कहना है दलित फूड डॉट कॉम के संस्थापक  चंद्रभान प्रसाद का। 


देश में दलित समाज को आज ही पता चला होगा कि रामनाथ कोविंद दलित समाज से हैं। दरअसल, कोविंद के बहाने भाजपा दलित समाज के बीच खुद को पेश करना चाहती है। भाजपा दलित समाज की चेतना में डालना चाहती है कि वह उनकी हितैषी है। लेकिन ये भाजपा का असली चरित्र नहीं है। हाल ही में देश में तीन बड़ी घटनाएं हुई हैं, रोहित वेमुला, ऊना और सहारनपुर। 


तीनों ही जगहों पर दलितों पर अत्याचार किए गए और तीनों ही स्थानों पर भाजपा अत्याचार करने वालों के साथ खड़ी रही। अब एक दलित व्यक्ति को राष्ट्रपति का चेहरा बना देने से दलित समाज अपने ऊपर हुए जुल्मों को भूल नहीं जाएगा। भाजपा को समझना चाहिए कि दलित समाज अब पहले वाला नहीं रहा। वह लिख-पढ़ चुका है। वह भी अब घोड़े पर घूमने लगा है। वह भाजपा का यह ढकोसला स्वीकार नहीं करेगा। 



दुष्कर्म के प्रयास में काटा गला, पीड़िता की हालत नाजुक

बीकानेर जिले के खाजूवाला थाना क्षेत्र में रविवार की रात एक युवक ने अनाधिकृत रूप से एक घर में घुस गया और युवती के साथ दुष्कर्म का प्रयास किया जब वह सफल नहीं हुआ तो उसने धारदार हथियार से युवती के गले पर वार कर दिया, जिससे वह गंभीर घायल हो गई। उसे परिजन पहले खाजूवाला के सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र ले गए, जहां से प्राथमिक उपचार के बाद उसे बीकानेर के पीबीएम हॉस्पीटल रैफर कर दिया गया। इस संबंध में पीडि़ता के पिता की ओर से एक युवक के खिलाफ नामजद मामला दर्ज कराया गया है।


पीडि़ता के पिता ने आठ बीडी निवासी मुकेश पुत्र जगदीश धारणिया पर दुष्कर्म का प्रयास करने एवं धारदार हथियार से जानलेवा हमला करने का आरोप लगाया है। उसने बताया कि रविवार की रात को वह किसी काम से बाहर गया हुआ था। घर में उसकी पत्नी व बेटी अकेली थी।  इस दरम्यिान रात को मुकेश अनाधिकृत रूप से घर में घुस गया।उसने घर का फ्यूज निकाल कर लाइट गुल कर दी और अंधेरे का फायदा उठाकर कमरे में सो रही उसकी बेटी को दबोच लिया। 


उसकी बेटी ने शोर मचाया तो उसने धारदार हथियार से गला काट दिया। शोर सुनकर उसकी पत्नी कमरे में आई लेकिन वह धक्का देकर भाग गया।मसिंह ने बताया कि युवती के साथ दुष्कर्म के प्रयास की घटना संबंधी उसके पिता ने रिपोर्ट दी है। युवती के गले पर धारदार हथियार से चोट लगी है, जिससे वह बयान देने की स्थिति में नहीं है। पुलिस ने मामला दर्ज कर लिया है लेकिन युवती के बयान के बाद ही स्थिति स्पष्ट हो पाएगी। 



Bollywood film shooting- पोकरण फोर्ट के दरवाजे बंद करने पर लोगों ने किया विरोध

स्थानीय बालागढ फोर्ट के मुख्य दरवाजे सोमवार को सुबह बंद कर दिए गए, जिससे गुस्साए लोग बाहर नारेबाजी करने लगते है। भीड़ को रोकने के लिए बड़ी संख्या में पुलिसकर्मी आगे बढ़ते है और फिर शुरू हो जाती है पुलिस और भीड़ के बीच धक्का-मुक्की। इस बीच एक व्यक्ति आता है और  वहां बैठी एक महिला से बातचीत कर फोर्ट के अंदर चला जाता है। 


व्यक्ति व महिला के फोर्ट में घुसते ही कट की आवाज आती है और सब सामान्य हो जाता है। तब वहां मौजूद अन्य लोगों को माजरा समझ में आता है और वे लोग तालियां बजाने लगते है। पोरकण में सोमवार को भी फिल्म की शूटिंग के कई दृश्य फिल्माए गए। गौरतलब है कि कस्बे में परमाणु : द स्टोरी ऑफ पोकरण की शूटिंग चल रही है। गत 15 जून से चल रही शूटिंग को लेकर स्थानीय लोग खासे उत्साहित है।



लालू परिवार पर आयकर विभाग की बड़ी कार्रवाई, मीसा भारती की बेनामी संपत्ति अटैच

राजद सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव के परिवार की मुश्किलें बढ़ती जा रही हैं। आयकर विभाग ने सोमवार को बेनामी संपत्ति के अंतर्गत राज्यसभा सांसद मीसा भारती की संपत्ति को जब्त कर ली है। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, आयकर विभाग ने मीसा की 4 संपत्तियों को अटैच किया है। मीसा पर यह कार्रवाई 'वित्तीय अनिमयमितताओं ' के आरोपों को लेकर की गई है। लालू यादव की बेटी मीसा भारती के साथ ही उनके  दामाद शैलेश कुमार और मंत्री बेटे तेजस्वी यादव पर भी इस कार्रवाई के लपेटे में आ गए हैं। इससे पहले लालू यादव के दिल्ली, गुडगांव समेत 22 जगहों पर भी आयकर विभाग ने छापा मारा था। 


मीसा भारती और उनके पति शैलेश को आयकर विभाग ने दो बार नोटिस जारी कर पूछताछ के लिए बुलाया था। दोनों की बार पति-पत्नी आयकर विभाग के सामने पेश नहीं हुए थे। इसके बाद विभाग ने दोनों पर 10-10 हजार रुपए का जुर्माना लगाया था। मीसा भारती ने आरोप लगाया था कि आयकर विभाग मीडिया को खबरें लीक कर देता है जिससे उनकी सुरक्षा को खतरा हो जाता है। इसी के चलते वे पेश नहीं हो रहे है। मीसा भारती और शैलेश कुमार जब आयकर विभाग की दूसरा नोटिस पर भी पेश नहीं हुए तब जाकर आयकर विभाग ने नए कानून के तहत उनकी संपत्तियों को औपबंधित तौर जब्त करने का आदेश सोमवार को जारी कर दिया गया।


Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned